भाजपा नेता के हत्यारोपी पर लगाई गई रासुका को शासन की मुहर

ग्रेटर नोएडा। बीते 5 दिसम्बर को भाजपा नेता शिवकुमार के हत्या आरोपी अनिल भाटी निवासी घंघोला पर डीएम बी.एन. सिंह ने रासुका लगाई थी. आज इसका अनुमोदन शासन शासन स्तर पर कर दिया गया है. बता दें अनिल भाटी कुख्यात सुन्दर भाटी का भतीजा है.

बीते साल 2017 में बिसरख कोतवाली क्षेत्र के हैबतपुर गाँव के पास भाजपा नेता शिव कुमार समेत तीन लोगों की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में हत्या का आरोप कुख्यात सुन्दर भाटी के भतीजे अनिल भाटी पुत्र सहदेव भाटी निवासी घंघोला पर लगा था. बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया. फिलहाल अनिल भाटी कौशाम्बी के जेल में बंद है. 5 दिसम्बर को डीएम बी.एन. सिंह व एसएसपीडॉ. अजयपाल शर्मा ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर जानकारी दी थी कि अनिल भाटी को रासुका में निरुद्ध किया जा रहा है. अंदेशा है अगर अनिल भाटी जमानत पर बाहर आया तो अन्य अपराधिक घटनाओं को अंजाम दे सकता है.

डीएम बी.एन. सिंह ने बताया कि जनपद के अपराधियों पर शासन की मंशा के अनुरूप कार्रवाई करने के लिए जिला प्रशासन पूर्ण रूप से कटिबद्ध है और इसी कड़ी में जनपद के विभिन्न क्षेत्र में अपराध करने वाले अपराधियों पर जिला प्रशासन की ओर से अपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों पर गुंडा एक्ट, गैंगस्टर तथा रासुका की कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने यह भी जानकारी दी है कि अभी अन्य अपराधियों पर भी रासुका लगाने की तैयारी जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है ताकि जनपद में अपराधों पर अंकुश लगाया जा सके।

यह भी देखे:-

लालबत्ती की कार से घूम रहे थे युवक, पुलिस ने कार किया जब्त, युवक गिरफ्तार
कोर्ट ने बिल्डर के खिलाफ धोखाधड़ी का ममला दर्ज करने का दिया आदेश
एटीएम कार्ड बदल हज़ारों की ठगी
तेज आवाज में डीजे व बाईक स्टंट करने वालो पर दनकौर पुलिस सख्त
पोस्को एक्ट के तीन आरोपी गिरफ्तार
लिफ्ट देकर लूट करने वाले चार बदमाश गिरफ्तार
नाबालिग को छेड़ने के आरोप में इलेक्ट्रिशियन गिरफ्तार
निर्माणाधीनसाइट पर लूटपाट करने में विफल रहे बदमाश, गार्ड के लगे छर्रे
दो वाहनों की टक्कर में दो पक्षों के बीच हुई मारपीट
ग्रेटर नोएडा: धारदार हथियार से युवक की हत्या
अधिवक्ता धर्मेंद्र जयंत को सूरजपुर न्यायालय में बनाया गया एडीजीसी
बदमाशो ने किशोर से पैसे छीने,मारपीट की
कॉलेज की साईट हैक करने का मुकदमा दर्ज, जांच में जुटी पुलिस
अवैध वसूली करने से रोका तो टोल मैनेजर की कर दी पिटाई
ओला कैब ड्राइवर से कार लूट
मेडिकल कालेज में एडमिशन के नाम पर लाखों ठगे