अधिवक्ता धर्मेंद्र जयंत को सूरजपुर न्यायालय में बनाया गया एडीजीसी

ग्रेटर नोएडा। शासन के निर्देश पर गौतमबुद्ध नगर सूरजपुर न्यायालय में 14 अधिवक्ताओं को एडीजीसी और डीजीसी बनाया गया है। वहीं साकीपुर के रहने वाले अधिवक्ता धर्मेंद्र जयंत को सूरजपुर न्यायालय में एडीजीसी बनाया गया है। धर्मेंद्र जयंत लगभग 12 वर्षों से न्यायालय में प्रैक्टिस कर रहे है। वह साकीपुर के रहने वाले हैं। इनके पिता प्रेमराज सिंह एक समाजसेवी हैं। वही शासन ने तीन डीजीसी और 11 एडीजीसी अधिवक्ताओं की नियुक्ति की है। ब्रहम जीत भाटी को डीजीसी फौजदार, नीरज शर्मा को डीजे सी सिविल, चरणजीत नागर को डीजीसी अधिवक्ता बनाया गया है। वहीं धर्मेंद्र जयंत एडीजीसी, हरीश सिसोदिया एडीजीसी, सुखबीर सिंह एडीजीसी, रोहताश शर्मा एडीजीसी,मूलचंद शर्मा एडीजीसी,पंकज शर्मा एडीजीसी,कमलेश सिंह एडीजीसी, राजेंद्र सिंह एडीजीसी, दिनेश भाटी एडीजीसी, प्रताप रावल एडीजीसी, श्याम सिंह एडीजीसी इन सभी को शासकीय अधिवक्ता बनाया गया है। इनकी नियुक्ति होने वाले शासकीय अधिवक्ताओं को साथी अधिवक्ताओं ने फूलों की माला पहनाकर व मिठाई खिलाकर बधाई दी।

यह भी देखे:-

देखें VIDEO, डॉ. अरुणवीर सिंह सीईओ यमुना प्राधिकरण ने दी नए साल की शुभकामनाएं, जानिए नए साल में YEID...
मामूली कहासुनी में युवक को गोली मारी
भारतीय नववर्ष स्वागत उत्सव, कवि सम्मेलन का लोगो ने उठाया लुफ्त
सुंदर भाटी गैंग के पांच सदस्य गिरफ्तार
गश्त के दौरान पुलिस ने शराब की बड़ी खेप पकड़ी, शातिर तस्कर गिरफ्तार
कोहरे ने कराया ठंड का अहसास,कोहरे की वजह से  विजिबिलिटी कम
25 हज़ार का ईनामी लूटेरा गिरफ्तार
रेरा कॉन्क्लेव को लेकर बायर्स के साथ हुई चर्चा
शारदा विश्विद्यालय में कार्यशाला: गूगल के प्रयोग से जांची जा सकती है खबरों की सत्यता
जिला प्रभारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने की विकास की समीक्षा, शराब के अंकित मूल्य से ज्यादा वसूलने पर ...
सड़ी गली हालत में मिला शव , शिनाख्त में जुटी पुलिस
लापरवाही बरतने पर विद्युत ठेकेदार के खिलाफ ग्रेनो प्राधिकरण की बड़ी कार्यवाही
भारतीय किसान यूनियन को मिला सीईओ यमुना से आश्वासन
COVID-19:गलगोटिया विश्वविद्यालय के उदासीन रवैए से छात्र परेशान
इस बिल्डर के खिलाफ दिल्ली में दर्ज हुआ मुकदमा, पढ़ें पूरी खबर
शराब पीने से रोकने पर ले ली जान