अधिवक्ता धर्मेंद्र जयंत को सूरजपुर न्यायालय में बनाया गया एडीजीसी

ग्रेटर नोएडा। शासन के निर्देश पर गौतमबुद्ध नगर सूरजपुर न्यायालय में 14 अधिवक्ताओं को एडीजीसी और डीजीसी बनाया गया है। वहीं साकीपुर के रहने वाले अधिवक्ता धर्मेंद्र जयंत को सूरजपुर न्यायालय में एडीजीसी बनाया गया है। धर्मेंद्र जयंत लगभग 12 वर्षों से न्यायालय में प्रैक्टिस कर रहे है। वह साकीपुर के रहने वाले हैं। इनके पिता प्रेमराज सिंह एक समाजसेवी हैं। वही शासन ने तीन डीजीसी और 11 एडीजीसी अधिवक्ताओं की नियुक्ति की है। ब्रहम जीत भाटी को डीजीसी फौजदार, नीरज शर्मा को डीजे सी सिविल, चरणजीत नागर को डीजीसी अधिवक्ता बनाया गया है। वहीं धर्मेंद्र जयंत एडीजीसी, हरीश सिसोदिया एडीजीसी, सुखबीर सिंह एडीजीसी, रोहताश शर्मा एडीजीसी,मूलचंद शर्मा एडीजीसी,पंकज शर्मा एडीजीसी,कमलेश सिंह एडीजीसी, राजेंद्र सिंह एडीजीसी, दिनेश भाटी एडीजीसी, प्रताप रावल एडीजीसी, श्याम सिंह एडीजीसी इन सभी को शासकीय अधिवक्ता बनाया गया है। इनकी नियुक्ति होने वाले शासकीय अधिवक्ताओं को साथी अधिवक्ताओं ने फूलों की माला पहनाकर व मिठाई खिलाकर बधाई दी।

यह भी देखे:-

किसान एकता संघ ने बिजली दरों की वृद्धि का विरोध किया
Mission 2022: बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, किसानों की दुर्दशा और बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर यूपी कां...
घरेलू नौकरानी जेवरात लेकर फुर्र
10वें एवेन्यू में हुआ सैकड़ों लोगों का निःशुल्क टीकाकरण
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने एसबीआई के साथ किया एमओयू साईन, ऑनलाइन बोली के माध्यम से ...
ग्रेटर नोएडा: जैक लगाकर उठा रहे थे इमारत, भरभरा कर गिरी, बाल-बाल बचे 6 मजदूर
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण :  आईआईटीजीएनएल की टाउनशिप को पीएम ने दी अलग पहचान
बिस्किट कंपनी में उपद्रव करने के आरोप में 17 कर्मचारी गिरफ्तार, 300 पर एफआईआर
शातिर चोर गिरोह का भंडाफोड़, तीन बदमाश गिरफ्तार 
शराब तस्करों के खिलाफ गौतमबुद्धनगर पुलिस का हल्ला बोल अभियान , कई तस्कर गिरफ्तार
30 मिनट नॉन स्टॉप स्केटिंग कर इन बच्चों ने बनाया रिकॉर्ड, पढ़ें पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण सीईओ ने लगाई फटकार, परियोजनाओं मे लाएं तेजी, नहीं तो होगी कार्रवाई
एनजीटी ने 12 लोगो को दिया जुर्माने का नोटिस
कार में बंधक बनाकर इंजीनीयर से लूट
देशभर के पर्यटकों को लेकर अयोध्या पहुंची रामायण एक्सप्रेस, भक्त हुए भाव विभोर
सम्पूर्ण समाधान दिवस पर डीएम बी.एन. सिंह ने सुनी जनता की शिकायत