जम्मू-कश्मीर विधानसभा क्यों हुई भंग ?

ग्रेटर नोएडा: राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सबसे प्रमुख वजह सरकार बनाने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त की आशंका जताई है| दूसरा प्रमुख कारण परस्पर विरोधी राजनीतिक विचारधारा वाले दलों के गठबंधन से स्थाई सरकार बनने में आशंका रही| राज्यपाल को लगता है कि दो विरोधी दलों के एक साथ आने राज्य में स्थिर सरकार नहीं बन सकती| गठबंधन में शामिल कुछ दल विधानसभा भंग करने की मांग करते थे| इसके अलावा पिछले कुछ वर्षों का का अनुभव यह बताता है कि खंडित जनादेश से स्थाई सरकार बनाना संभव नहीं है| ऐसी पार्टियों का साथ आना जिम्मेदार सरकार बनाने की बजाए सत्ता हासिल करने का प्रयास है| बयान में आगे कहा गया, ‘‘व्यापक खरीद फरोख्त होने और सरकार बनाने के लिए बेहद अलग राजनीतिक विचारधाराओं के विधायकों का समर्थन हासिल करने के लिए धन के लेन देन होने की आशंका की रिपोर्टें हैं| ऐसी गतिविधियां लोकतंत्र के लिए हानिकारक हैं और राजनीतिक प्रक्रिया को दूषित करती हैं|इसमें चौथा कारण बताया गया है कि बहुमत के लिए अलग अलग दावें हैं वहां ऐसी व्यवस्था की उम्र कितनी लंबी होगी इस पर भी संदेह है| इसमें कहा गया, ‘‘जम्मू कश्मीर की नाजुक सुरक्षा व्यवस्था जहां सुरक्षा बलों के लिए स्थाई और सहयोगात्मक माहौल की जरूरत है| ये बल आतंकवाद विरोधी अभियानों में लगे हुए हैं और अंतत: सुरक्षा स्थिति पर नियंत्रण पा रहे हैं|

यह भी देखे:-

अनुच्छेद 370 का अंत होने के बाद लद्दाख में अपने पहले दौरे पर पहुंचे राजनाथ सिंह
Auto Expo 2020: Batrixx ई-बाइक सिंगल चार्ज पर चलती है 300 km
पाकिस्तानी हैकर्स ने किया साइबर अटैक, 100 से ज्यादा वेबसाइट हैक
बिहार चुनाव:LJP का NDA से अलग होने का ऐलान, लेकिन मोदी प्रेम बरकरार
'एक राष्ट्र एक चुनाव' के मुद्दे पर नीतीश कुमार का बड़ा बयान
इन मेट्रो स्‍टेशन से मिलेंगे ऑटो एक्सपो के टिकट
YES BANK के ग्राहकों के लिए वित्त मंत्री का एलान , मिलेगी ये बड़ी राहत, पढ़ें पूरी खबर
अखिलेश ने साधा निशाना 'भाजपा सांसद-विधायक जी के जूते के आचरण पर शर्मिंदा'
"संकल्प से सिद्धि" होगा राष्ट्रीय युवा उत्सव का उद्धेश्य
ग्रेटर नोएडा में हिमाचल के कलाकारों ने दी नाटा की बेहतरीन प्रस्तुति
अयोध्या केस : देश की सर्वोच्च अदालत ने सुनाया फैसला , पढ़ें
'भारतीय पायलट अभिनंदन को कल रिहा करेंगे' - इमरान खान
बिहार:लड़कियों ने रोजाना 1 रुपया दान कर खोला सैनिटरी पैड बैंक
नहीं रहे भारत के मशहूर वैज्ञानिक प्रो. यशपाल
अब सवर्णों को भी मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण, मोदी सरकार का बड़ा फैसला
अदालत ने माना , बलात्कारी हा आसाराम