इनजीयारिंग के छात्र ने की ख़ुदकुशी, सुसाईड नोट में लिखा “मैं अच्छा बेटा…” पढ़ें पूरी खबर

ग्रेटर नोएडा। कासना कोतवाली क्षेत्र के अल्फा एक ई 116 स्थित पीजी में छात्र ने पंखे से लटक कर आत्महत्या कर ली है। मृतक छात्र ने एक सुसाइड नोट छोड़ा है। जिसमें लिखा है कि मैं एक अच्छा बेटा नहीं बन पाया आप लोग मुझे माफ कर देना। पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रही है।

ग्रेटर नोएडा स्थित नोएडा इंटरनेशनल विश्वविद्यालय का छात्र गौरव पुत्र रंजन निवासी बिहार अल्फा- 1 स्थित एक पीजी में रह रहा था। उसने पंखे से लटक कर आत्महत्या कर ली. मृतक छात्र काफी समय से पीजी में रह रहा था। और मरने से पहले उसने एक सुसाइड नोट लिखा – मैं एक अच्छा बेटा नहीं बन पाया. आप लोग मुझे माफ कर देना. मैं अपनी मौत का स्वयं जिम्मेदार हूं। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को फंदे से उतारकर पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अब पुलिस आत्महत्या के कारणों का पता कर रही है कि छात्र ने किस कारण से आत्महत्या की है। इसका कारण क्या है छात्र के दोस्त और परिजनों से भी बात की जा रही है। कासना कोतवाली प्रभारी रामपाल सिंह ने बताया कि छात्र ने पंखे से लटक कर आत्महत्या की है। उसने एक सुसाइड नोट भी लिख कर गया है।

यह भी देखे:-

ईकोटेक - 3 पुलिस के हत्थे चढ़े शातिर बाईक चोर, आधा दर्जन चोरी की बाइक बरामद
बादलपुर ने वाहन चोर गैंग का किया पर्दाफाश, चार बदमाश गिरफ्तार
जनता को मिला लाभ : ग्रेटर नोएडा -फरीदाबाद की दूरी अब और होगी कम
कासना पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ , दो बदमाशों को लगी लगी गोली
नोएडा थाना 20 पुलिस के हत्थे चढ़े शराब तस्कर
एसटीएफ के हत्थे चढ़े क्रेडिट कार्ड के फ्राडिए
अन्ना सत्याग्रह जन जागरूक साइकिल यात्रा: 19 जनपदों से होकर गुजरेगी
पांच जालसाज भू-माफियाओं पर लगा गैंग्स्टर GANGSTER
कोरोना से बचाव को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने उठाए ये बड़े कदम, हेल्प लाईन नंबर जारी
शारदा विश्वविद्लाया में संतोष ट्राफी का समापन
महिला स्वास्थ्य एवं स्वच्छता की और बढ़ते कदम
ग्रेटर नोएडा : ठेकेदार की गोली मारकर हत्या
स्थानीय लोगों को पहले मिले सैमसंग कम्पनी में रोजगार : एडवोकेट रविन्द्र भाटी
जमीनी विवाद में फायरिंग में घायल युवक की मौत
करप्शन फ्री इंडिया संगठन ने दादरी ब्लॉक कार्यकारिणी का किया विस्तार, अभिषेक टाइगर बने ब्लाक कार्यकार...
छत पर सो रहा था परिवार, चोर ले उड़े लाखों नगदी व ज्वेलरी