महिला उत्थान संस्था ने लोगों को मिट्टी के दिप बाटे

ग्रेटर नोएडा। सामाजिक संगठन महिला उन्नति संस्था ( भारत ) के सदस्यों ने ग्रेटर नोएडा शहर के सभी मुख्य बाज़ारों में मिट्टी के बने दिये बांटकर लोगों से दीपावली को उसका खोया स्वरूप लौटाने का आह्वान किया। इस अवसर पर संस्था के संस्थापक डा राहुल वर्मा ने कहा कि दीपावली हिन्दुओं का सबसे प्रसिद्ध त्योहार है। जिसमे पूरा देश रौशनी की जगमगाहट से प्रकाशमान रहता है। मगर आज लोगों में पाश्चात्य सभ्यता के बढ़ते प्रभाव और इलेक्ट्रिक वस्तुओं के जयादा प्रचलन के कारण हम अपनी सभ्यता और संस्कृति से दूर होते जा रहे है। जिस कारण मिट्टी के बरतनों से जुड़े लोगों का व्यापार बन्दी की कगार पर आ गया है। संस्था के सदस्यों द्वारा मिट्टी के दिये बांटकर लोगों को अपनी सभ्यता से रूबरू कराकर स्वदेशी उत्पादों को अपनाने की अपील की तथा दीपावली के शुभ अवसर पर हमारी सीमाओं पर तैनात सैनिकों के सम्मान में एक दीप जलाने का आह्वान किया। इस अवसर पर महासचिव अनिल भाटी , प्रदेश सचिव देवेंद्र चंदेला , अरुण भाटी , सुभाष गौतम , हरिओम प्रजापति और लौकेश शर्मा आदि लोग उपस्थित रहे ।

यह भी देखे:-

प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सपा ने दिया धरना
नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो (एक्वा लाइन) का जल्द होगा शुभारम्भ, तारीख तय : सूत्र , पढ़ें पूरी खबर
डग्गेमार वाहनों को जल्द बंद करे प्रशासन : प्रिंस भारद्वाज
बारिश से मकान का छत गिरा, भाई -बहन घायल
निष्पक्ष -शांतिपूर्वक निकाय चुनाव कराने के लिए डीएम एसएसपी का सघन दौरा
ऋग्वेद पारायण महायज्ञ 8 सितम्बर से , पूरे कार्यक्रम में होगा 10 हज़ार 5 सौ ऋग्वेद मन्त्र जाप
दादरी विधायक तेजपाल के नेतृत्व में किसानों ने लखनऊ में उठाई समस्या
करप्शन फ्री इण्डिया की पांचवीं वर्षगांठ, मनु नागर बनी चित्रकला प्रतियोगिता की विजेता
सांसद और विधायक की गुमशुदगी के लगाए पोस्टर
विभिन्न संगठनों ने किया एनपीसीएल के बिजली मूल्य वृद्धि प्रस्ताव का विरोध
अब "पद्मावत" को लेकर राजपूत करणी सेना ने दी धमकी
अधिकारीगण अपने अपने कार्यों को जिम्मेदारी के साथ करें - डीएम बी. एन. सिंह
निकाय चुनाव : प्रचार के लिए मीडिया प्रमाणन समिति से लेनी होगी अनुमति
सड़क हादसे में घायल हुआ दिव्यांग की मौत
लोकसभा चुनाव 2019: जानिए तिथि , गौतमबुधनगर समेत समूचे उत्तर प्रदेश के लोकसभा सीट का चुनाव कार्यक्रम
गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट: बसपा सुप्रीमो की गृह जनपद तो भाजपा को अपनी सीट बचाने की चुनौती