आगामी 5 वर्षों में उत्तर प्रदेश का निर्यात 100% से ज़्यादा की दर से बढ़ सकता हैः एक्ज़िम बैंक

नोएडा: एक्ज़िम बैंक के एक अध्यमयन के अनुसार उत्तर प्रदेश में 8 बिलियन यू एस डॉलर से अधिक की निर्यात संभाव्यषता है तथा इसे वर्ष 2017-18 के 13.8 अरब यू एस डॉलर से बढ़ाकर 2023 तक 30 अरब यू एस डॉलर तक किया जा सकता है। एक्ज़ि ‍म बैंक ने उत्तर प्रदेश में निर्यात प्रतिस्पअर्धा में सुधार लाने हेतु ‘उत्तर प्रदेश से निर्यातः रुझान, अवसर एवं नीतिगत परिदृश्यम’ विषय पर 31 अक्टूसबर, 2018 को नोएडा में आयोजित एक सेमिनार के दौरान अपनी अनुशंसाओं को साझा किया। इस सेमिनार में सरकार, उद्योग संगठन, डी जी एफ टी, ई सी जी सी तथा एक्ज़िअ‍म बैंक के वक्ताद शामिल थे।

उत्तर प्रदेश भारत का चौथा सबसे बड़ा राज्या है, जिसके पास कुल भूमि क्षेत्रफल का 7.3 प्रतिशत है तथा इस राज्य का देश के सकल राज्य घरेलू उत्पारद (जी एस डी पी) में तीसरा स्था्न है। इसके बावजूद भारत के निर्यातों में इसकी हिस्सेपदारी 5 प्रतिशत से भी कम है, जो अन्य प्रमुख माइक्रोइकोनॉमिक मानदंडों की तुलना में काफी कम है। यह उत्तर प्रदेश को अपने निर्यात को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता को दर्शाता है। बढ़ते निर्यात से न केवल आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा बल्कि राज्य के उद्यमों की प्रतिस्पर्धा में वृद्धि होगी और रोजगार सृजन भी होगा।

एक्ज़िम बैंक ने अनुशंसा की है कि निर्यात प्रतिस्पर्धा, नवाचार, निर्यात वित्त की उपलब्धता को बढ़ाने और निर्यात के लिए संस्थागत क्षमता को मजबूत बनाने हेतु उचित अल्पा्वधि और मध्यावधि उपायों को अपनाकर उत्तर प्रदेश से निर्यात बढ़ाया जा सकता है। अल्पाेवधि में राज्यप सरकार पशु एवं पशु उत्पापद; टेक्स्टाइल एवं कपड़े; निर्माण सामग्री; चमड़ा एवं चमड़ा उत्पााद; तथा रत्नि एवं आभूषण जैसे क्षेत्रों, जिनमें राज्य प्रतिस्पर्धी बढ़त रखता है और जिनकी वैश्विक स्तमर पर अधिक मांग ज्यादा है, में निर्यात बढ़ाने पर ध्यामन केन्द्रित कर सकती है। मध्या्वधि में, राज्यक सरकार मशीनरी तथा यांत्रि‍क उपकरणों; इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉ निक वस्तुाओं; ऑप्टी कल; मापतौल; औषधि एवं इससे संबंधि‍त उपकरण एवं पुर्जे; तथा औषधि उत्पांद जैसे क्षेत्रों में प्रतिस्पिर्धा बढ़ाने पर ध्या न दे सकती है। इन क्षेत्रों में व्यावहारिक और सक्रिय नीतिगत उपायों को कार्यान्वित कर निर्यात को बढ़ाया जा सकता है।

भारत की प्रमुख निर्यात वित्त संस्थार होने के नाते, एक्ज़िक‍म बैंक न केवल निर्यात वित्तपोषण के क्षेत्र में बल्कि मार्केटिंग, सूचना एवं सलाहकारी सेवाएं प्रदान कर वि‍भिन्न राज्यों के हितधारकों की सहायता करता है। एक्ज़िे‍म बैंक द्वारा आयोजित इस सेमिनार का उद्देश्य भी विभिन्न रणनीतियों पर चर्चा और विचार-विमर्श के जरिए उत्तर प्रदेश की निर्यात क्षमता को प्रदर्शित करना है।

यह भी देखे:-

GPL 4 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में रोजा और लडपुरा की होगी भीडंत
फिल्म "पीएम नरेंद्र मोदी" का प्रमोशन करने शारदा यूनिवर्सिटी पहुंचे अभिनेता विवेक ओबेरॉय
Auto Expo 2020 में मंदी की परछाई, चाइना से भरपाई की उम्मीद
अज्ञात वाहन ने बच्चे को कुचला, दर्दनाक मौत
ऑपरेशन क्लीन 10, हिरासत में लिए गए 40 विदेशी युवक-युवतियां
ग्रेनो प्राधिकरण के खिलाफ अखिल भारतीय किसान सभा का आन्दोलन, माकपा नेता वृंदा करात होंगी शामिल
वकील के एटीएम से निकाले 80 हजार
ग्रेटर नोएडा गणेश उत्सव के भजन संध्या में झूमे श्रद्धालु
सिटी हार्ट एकेडमी समूहगान प्रतियोगिता में रहा अव्वल
गौतम बुध नगर : थाना प्रभारियों में फेरबदल
अफ्रीकी एसोसियेशन ने कौशल्या वर्ल्ड स्कूल का घेराव किया
शराबी पिता से नाराज बेटे ने नहर में लगाई छलांग
दर्दनाक : बाइक पर सवार दम्पति को ट्रक ने मारी टक्कर, पत्नी की मौत पति घायल
हिन्दू -मुस्लिम एकता की मिसाल डॉक्यूमेंटरी "THE BROTHERHOOD" को मिली ट्रिब्यूनल की हरी झण्डी
इंजिनीयरिंग के छात्र ने की ख़ुदकुशी
रोटरी क्लब ग्रेटर नोएडा ने किया पौधारोपण