श्री राम मित्र मंडल नोएडा रामलीला : आकाश मार्ग द्वारा लंका दहन द्वारा 150 फुट की उँचाई से सजीव चित्रण

नोएडा। श्रीराम मित्र मण्डल रामलीला समिति द्वारा आयोजित रामलीला मंचन के आठवें दिन मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह, सीओ दृतय राजीव कुमार सिंह, के के अग्रवाल निगम पार्षद दिल्ली नगर निगम, ओएसडी नोएडा प्राधिकरण एन के सिंह, भुवनेश कुमार सिंघल, भाजपा के पूर्व विधानसभा प्रत्याक्षी गोपाल झा, द्वारा दिप प्रज्वलित कर लीला का शुभारंभ किया गया। अध्यक्ष धर्मपाल गोयल एवं महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा द्वारा अंगवस्त्र ओढ़ाकर एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया ।
ASHOK VATIKA
बाली वध के उपरांत सुग्रीव का राजतिलक होता हैं। कुछ समय व्यतीत होने के बाद सीता की खोज के लिए सुग्रीव कोई प्रयास नहीं करते हैं। इससे श्रीराम व लक्ष्मण सुग्रीव पर क्रोधित होते हैं। सीता की खोज के लिए अंगद, नील, जाम्वन्त, हनुमान को दक्षिण दिशा में भेजा जाता है। खोजते खोजते उनकी भेंट सम्पाती से होती है जो कि जटायु का भाई है। उसने बताया कि सीता लंका में है और जो सौ योजन समुंद्र को लांघ सकता हो वहीं वहां जा सकता है। समुंद्र तट पर जाम्वान ने हनुमान जी को उनका बल याद दिलाया ‘‘कहइ रीछपति सुनु हनुमाना। का चुप साधि रहेहु बलवना’’। फिर वह कहते है ‘‘रामकाज लगि तव अवतारा। सुनतहि भयऊ पर्वताकारा’’। इसके बाद हनुमान जी भगवान श्रीराम का नाम सुमिरकर लंका की ओर प्रस्थान करते हैं। रास्ते में उन्हें सुरसा मिलती है। सुरसा अपना बदन सोलह योजन तक फैलाती है हनुमान जी 32 योजन तक अपना बदन फैलाते हैं। जब सुरसा समझ जाती है तो हनुमान सर नवाकर आगे चलते है। लंका में सूक्ष्म रूप धारण कर हनुमान जी प्रवेश करते है लेकिन लंकिनी नाम की राक्षसी उन्हें देख लेती है और रोकती है। तब हनुमान जी उसे एक मुष्टिका के प्रहार से उसे बेहोश कर देते है। इसके बाद विभीषण के गृह पहुंचते है जहां पर विभीषण सीता के बारे में बताते हैं। हनुमान जी अशोक वाटिका पहुंचकर जहां सीता बैठी हुई हैं उस पेड़ पर छुप जाते हैं और राम नाम की अंगूठी ऊपर से डालते हैं जिसे देखकर सीता के मन में विषमय होता है। हनुमान जी सीता के सामने प्रकट होते है ‘‘राम दूत मै मातु जानकी। सत्य सपथ करूना निधान की’’। इसके बाद सीता जी से आज्ञा पाकर हनुमान वाटिका से फल खाने लगते हैं और पेड़ तोडने लगते है। जब बाग के रखवालों ने रावण को बताया तो उसने अक्षय कुमार को भेजा जिसका हनुमान जी वध कर देते है।

रावण मेघनाद को भेजता है जो हनुमान जी को ब्रह्मपास में बांधकर ले जाता है। रावण दरबार में सभी कहते है कि हनुमान को मार दिया जाये लेकिन विभीषण के समझाने पर रावण ने कहा कि इसकी पूछ पर कपड़ा बांधकर आग लगा दो। आग लगाने के बाद हनुमान जी एक महल से दूसरे महल पर जाते है और इस तरह पूरी लंका को जला देते है। इससे राक्षस बहुत भयभीत हो जाते हैं। सीता से आज्ञा लेकर एवं चूड़ामणि लेकर रामजी के पास पहुंचते है। लंका दहन के दौरान हनुमान जी का आकाश मार्ग से जाते हुए लगभग 150 फुट की उँचाई से सजीव चित्रण देख दर्शक मंत्र मुग्ध हो गये लंका दहन आदि प्रसंगों के मंचन के साथ ही आठवें दिन की लीला का समापन होता है।

श्रीराम मित्र मंडल के मीडिया प्रभारी चंद्रप्रकाश गौड़ ने बताया 18 अक्टूबर को अंगद रावण संवाद, मेघनाथ लक्ष्मण युद्ध, लक्ष्मण मूर्छित , संजीवनी बूटी लाना, कुम्भकर्ण वध, मेघनाथ वध, आदि प्रसंगों का मंचन किया जायेगा। इस अवसर पर संस्थापक अध्यक्ष बी0पी0 अग्रवाल, मुख्य यजमान उमाशंकर गर्ग, मुख्य संरक्षक ओंकारनाथ अग्रवाल, अध्यक्ष धर्मपाल गोयल, महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा, उपमुख्य संरक्षक ओमबीर शर्मा, कोषाध्यक्ष राजेन्द्र गर्ग, सह – कोषाध्यक्ष अनिल गोयल, सत्यनरायण गोयल, तरुण राज, मनोज शर्मा, डॉ ए के त्यागी, मुकेश गोयल, मुकेश गुप्ता, संजय शर्मा, मंच संचालक कुमार पंकज, रविन्द्र चौधरी, आत्माराम अग्रवाल, मीडिया प्रभारी चंद्रप्रकाश गौड़, मुकेश सिंघल, चक्रपाणि गोयल, मुकेश गर्ग, एस एम गुप्ता, गौरव मेहरोत्रा, पवन गोयल,मुकेश अग्रवाल, राजकुमार गर्ग, यशवीर त्यागी, विजय भारद्वाज, अनुज गुप्ता, सुधीर पोरवाल, राकेश गुप्ता,अजय गुप्ता, रामनिवास बंसल, ओ पी गोयल,कुलदीप गुप्ता, चंद्रप्रकाश गौड़, अविनाश सिंह, सहित आयोजन समिति के पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित रहे।

यह भी देखे:-

नहीं रहे चिपको आंदोलन को धार देने वाले पर्यावरण प्रेमी सुंदरलाल बहुगुणा, पूरा जीवन किया लोगों को जाग...
रोड को डुबो रहा है खुले नाले का गंदा पानी , नोएडा प्राधिकरण बेपरवाह
जनेश्वर मिश्र की जयंती पर सरकार की नाकामियों के खिलाफ सपा की साईकिल रैली
Tokyo Olympics 2020 : PV Sindhu ने सेमीफाइनल में बनाई जगह, पदक के करीब पहुंचीं
देश में सिंगल डोज वाली कोरोना वैक्सीन लाने की तैयारी, स्पुतनिक लाइट के जल्द भारत आने की उम्मीद
आनंद गिरि को ऑस्ट्रेलिया में छेड़खानी के आरोप में जाना पड़ा था जेल, जानिए पूरा मामला
श्री धार्मिक रामलीला मंचन सेक्टर पाई : वानर सेना ने समुंद्र पर बनाया पुल, लंका पहुंचे अंगद
सुदीक्षा भाटी को न्याय दिलाने और श्रद्धांजलि देने के लिए निकाला गया कैंडल मार्च
Lockdown in Delhi: सीएम केजरीवाल ने कहा न छोड़ें दिल्ली फिर भी रेलवे स्टेशन व बस अड्डे की ओर चल दिए ...
राज्यसभा: सदन में गरजीं वित्त मंत्री, बोलीं- माल्या-मोदी और मेहुल.. ये सब स्वदेश लाए जा रहे
एमएसएमई ने राज्यमंत्री को समस्याओं से कराया अवगत
कांग्रेस की जड़ों में खामियां- पीके , लखीमपुर के बाद वापसी बड़ी गलतफहमी
BREKAING : किसानों का प्राधिकरण दफ्तर पर हल्ला बोल
यूपी : अल्पसंख्यकों से जुड़ी पांच संस्थाओं के सीएम ने नामित किए अध्यक्ष और सदस्य
वकील से मारपीट का मामला , सात पुलिसकर्मियों पर गिरी गाज
आसमान में उड़ान की विजय गाथा, भारत के प्रथम अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा की कहानी