ग्रेटर नोएडा : भारतीय हस्तशिल्प मेले में पहुंचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, कहा हेंडीक्राफ्ट में बसती है भारत की आत्मा

ग्रेटर नोएडा :केंद्रीय राज्यमंत्री, एमएसएमई (स्वतंत्र प्रभार) गिरिराज सिंह ने पिक्चर फ्रेमिंग सेगमेंट में काम करने वाले 9 फ्रेमर को गिल्ड सर्टिफिकेट से सम्मानित किया है. आईएचजीएफ-दिल्ली मेला शरद 2018 के 46वें संस्करण के दूसरे दिन उन्होंने ये प्रमाण पत्र वितरित किए. इस मेले का आयोजन ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में किया जा रहा है जो 18 अक्टूबर तक चलेगा.
FASHION SHOW IHGF 2018
इस मौके पर हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) के चेयरमैन ओ पी प्रहलादका, मेले के मौजूदा संस्करण की प्रेसिडेंट सुश्री जेसमिना जिलियांग, वाइस प्रेसिडेंट श्री मोहन सिंह भाटी और श्री अहमदअलीसुंदरानी, ईपीसीएच के वाइस चेयरमैन श्री आर के पासी और श्री सागर मेहता और परिषद के कार्यकारी निदेशक श्री राकेश कुमार मौजूद रहे. Also present were Shri Santosh Ranjan Rai, Shri Rajesh Chaudhary and Shri Naveen Kumar.

Union Minister of State, MSME, गिरिराज सिंह ने कहा कि भारत की आत्मा हेंडीक्राफ्ट में बसती है। हमें तकनीकी से जोड़कर हस्तशिल्प को नई ऊंचाइयां देनी होंगी। हस्तशिल्प हमें हमारी संस्कृति से जोड़ता है।ईपीसीएच ने तकनीकी का सहारा ले कर हस्तशिल्प उत्पादों को नई ऊंचाई दी है। ईपीसीएच के प्रयासों की सराहना करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हस्तशिल्प को बढ़ावा देने के साथ-साथ ईपीसीएच ने लाखों लोगों को रोजगार भी दिया है।उन्होंने कहा कि हस्तशिल्प उद्योग सही मायनों में तभी फल फूल सकता है जब दस्तकारों को उनकी कला और परिश्रमका फल मिलता रहे। उन्होंने कहा कि आज जो यह चमक दमक हम देख रहे हैं वो दस्तकारों के कठिन परिश्रम और उनकी कला का ही नतीजा है।

इस दौरान, ईपीसीएच के कार्यकारी निदेशक श्री राकेश कुमार ने जानकारी दी कि मेसर्स लॉयन इंडिया के ज्वाइंट मैनेजिंग डायरेक्टर मनीष गौरीसरिया के साथ मिलकर ईपीसीएच ने भारतीय पिक्चर फ्रेमिंग उद्योग को बेहतर बनाने के लिए अद्वितीय प्रयास किया है, जिसके तहत फाइन आर्ट ट्रेड गिल्ड, लंदन, यूके, के सहयोग से भारतीय फ्रेमर्स के लिए जीसीएफ प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया. यह कार्यक्रम फ्रेमर्स को बेहतर कौशल और गुणवत्ता उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आयोजित किया गया ताकि वे अंतरराष्ट्रीय मानकों के अधीन बाजार के साथ फ्रेमिंग के विभिन्न स्तरों में खुद को समायोजित कर सकें.

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 12 से 17 मार्च 2018 के बीच कोलकाता में आयोजित हुआ. जहां दुनिया के जानेमाने मास्टर ट्रेनर, जर्मनी और यूके से स्टीफन फिनी जीसीएफ (एपीएफ) ने इस कोर्स का संचालन किया. इस कोर्स में देश-विदेश से 18 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया, जिनमें से 9 प्रतिभागियों ने गिल्ड सर्टिफाइड फ्रेमर्स परीक्षा को सफलतापूर्वक पास किया. इनमें मेघालय से श्री विवेक धर, तमिलनाडु से श्री जे एंटोअमलराज, कर्नाटक से श्री चंद्रशेखर और कृष्णामूर्ति मणिवन्नन, तेलंगाना से अवनिसारावगी, तमिलनाडु से श्री एस के आर रमेश, गोवा से निहाल सईद, कर्नाटक से श्री शैलेष उडुपी और यूएई से श्री रिची रॉबर्ट शामिल हैं.

यह भी देखे:-

नई आवाज बन रहा है ग्लोबल एसोसिएशन फॉर कॉरपोरेट सर्विसेज
एंटी रोमियो स्क्वायड का ‘जुलाई अभियान , शिक्षण संस्थानों की छात्राओं को किया गया जागरूक
लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के लिए मेरा आभार : डॉ. महेश शर्मा
Q1 FY'19 HCL revenue at rs 13,878 crores; up 5.3%
कार बैक करते हुए बच्ची कुचली , दर्दनाक मौत
ग्रामों के विकास से देश सम्पूर्णता की ओर तेजी से अग्रसर होगा : धीरेन्द्र सिंह
कामनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाडी ने लहराया परचम
डॉक्टरों के लिए मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म - धीरेन्द्र सिंह जेवर विधायक
विद्यार्थी परिषद ने किया विचार गोष्ठी का आयोजन
ग्रेटर नोएडा : ग्रांड वेनिस मॉल का आवंटन रद्द करने के निर्देश
जहांगीरपुर: हाईटेंशन लाइन के तार गिरने से दो ट्रैक्टर जल कर क्षतिग्रस्त
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन
नौकरी नहीं मिली तो पंखे से लटक कर दे दी जान
शारदा विश्वविद्यालय में सैकड़ो की सख्या में कर्मचारियों और विद्यार्थियों ने किया रक्तदान
20 साल बाद अमावस्या और नवरात्र एक दिन में , जानिए पूजा के श्रेष्ठ मुहूर्त
ह्युमन टच फाउंडेशन द्वारा एनीमिया रोग का नि:शुल्क शिविर का आयोजन