किसानों की आड में, अपने राजनैतिक स्वार्थ और नेतागिरी चमकाने में लगे हुये हैं लोग : धीरेन्द्र सिंह

ग्रेटर नोएडा : आजादी से लेकर आज तक विकास की बाट जोह रहे जेवर के विकास को बाधित करना चाहती हैं विपक्षी राजनैतिक पार्टियां और किसानों की आड में, अपने राजनैतिक स्वार्थ और नेतागिरी चमकाने में लगे हुये हैं लोग. उक्त बातें जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने कहै है . आज प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए उन्होंने कहा —
जैसा कि विदित ही है कि आजादी के बाद से आज तक जेवर विधानसभा, विकास के लिए तरसती रही। यहां कोई उद्योग धंधा न होने के कारण नौजवान व गरीब तबका अपने जीवन यापन के साधनों का इंतेजार करता रहा और आज जब जेवर एयरपोर्ट के रूप में एक सौगात इस क्षेत्र को मिली तो क्षेत्रीय व विपक्षी राजनैतिक पार्टियों के लोगों में बैचेनी का आलम देखने में आ रहा है तथा किसानों की आड में अपनी राजनीति चमकाते हुए, जेवर के विकास को बाधित करने की योजना पर काम कर रहे, उन लोगों को शायद यह पता नही है कि सन् 2015 में उत्तर प्रदेश की तत्कालीन सरकार ने तकरीबन 80 ग्रामों को शहरी क्षेत्र घोषित कर, उन्हें मिलने वाले 04 गुने मुआवजे पर डांका डाला और निरंतर 30 सालों से लोग नोएडा व ग्रेटर नोएडा में सरकारी तंत्र की लूट का शिकार रहे, तब इन्हें किसानों की याद नही आयी थी। आज जेवर क्षेत्र के लिए वर्तमान प्रदेश सरकार ने राजकीय कन्या महाविद्यालय, ग्रामीण क्षेत्र के संपर्क मार्गों के लिए 05 करोड रूपये की धनराशि, 220केवी का विद्युत केन्द्र तथा प्रस्तावित 33/11 केवी के 06 बिजली घर, प्रस्तावित टर्मिनल मंडी व ऐतिहासिक जेवर एयरपोर्ट बनाये जाने की घोषणा की तो विपक्षी राजनैतिक पार्टी के नेता की व्याकुलता सडकों पर नजर आने लगी। जबकि प्राधिकरण व शासन स्तर पर यह तय हो चुका है कि ’’किसानों से कोई जोर जबरदस्ती नही होगी, दुनिया की बेहतरीन विस्थापन नीति के साथ आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित रहन-सहन उपलब्ध कराया जायेगा, प्रभावित परिवारों को नौकरी दी जायेगी और तो और प्रत्येक परिवार के बालिग सदस्य के लिए अलग आवास की व्यवस्था, इस अधिग्रहण के माध्यम से की जायेगी।’’ आज तकरीबन 74 प्रतिशत प्रभावित लोग एयरपोर्ट बनाये जाने की सहमति दे चुके हैं और मा0 मुख्यमंत्री जी, किसानों से गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में मिलने के पश्चात 500 रूपये प्रति वर्ग मीटर मुआवजा बढाये जाने की घोषणा कर चुके हैं तथा आगे भी और अधिक किसानों को लाभ मिले, इसके प्रयास जारी हैं। मैं समझता हूॅ कि भगवान ऐसे लोगों को सद्बुद्धि दे, जो इस जेवर क्षेत्र को विकसित होते नही देखना चाहते हैं और हर हाल में किसानों को बरगलाकर अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने का काम कर रहे हैं और मुझे यह भी हैरत है कि सुविधाओं के हिसाब से जेवर एयरपोर्ट हिन्दुस्तान का पहला ऐसा एयरपोर्ट होगा जहां नवीन तकनीक से इसे दुनिया के तीसरे नम्बर का दर्जा प्राप्त होगा।

आज उत्तर प्रदेश में निवेश करने का एक माहौल बना है। एयरपोर्ट की स्थापना होने से 60 हजार करोड का निवेश इस जनपद में होने जा रहा है, जिससे यहां के किसान, मजदूर और नौजवानों का भविष्य सुरक्षित होगा। आम आदमी का जीवन स्तर उन्नत होगा तथा दुनिया के नक्शे पर जेवर की पहचान एक विकसित क्षेत्र के रूप में की जायेगी।

यह भी देखे:-

उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा का ग्रेटर नोएडा का कार्यक्रम रद्द
स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर जिला प्रशासन गम्भीर, डीएम ने की नोएडा के स्कूलों के  संचालकों व प्र...
ग्रेटर नोएडा वेस्ट की समस्याओं को लेकर नेफोमा टीम ने की प्राधिकरण के सीईओ से मुलाकात
श्री रामलीला कमेटी साईट - 4 रामलीला: सीता हरण के बाद 50 फीट की ऊंचाई पर हुआ रावण-जटायु का युद्ध, द...
NCC गर्ल्स कैडेट्स सीख रही हैं आत्मरक्षा के गुर
विश्व सड़क सम्मेलन 14 नवंबर से इंडिया एक्सपो मार्ट में , सुरक्षित सड़क व मोबिलिटी पर होगी चर्चा
यमुना एक्सप्रेसवे पर बड़ा सड़क हादसा , सात की मौत
सनसनीखेज खबर, सहपाठी युवती को गोली मारने के बाद युवक ने की ख़ुदकुशी
केंद्र सरकार का वादा झूठ का पुलिंदा : वीरेंद्र डाढा
गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय बना बॉलीवुड निर्माताओं की पहली पसंद
पुलिस ने किया बिजली घर में हुई डकैती का खुलासा
एक्सप्रेस-वे पर हुए सड़क हादसे में दो की मौत
एनजीटी ने 12 लोगो को दिया जुर्माने का नोटिस
एमिटी यूनिवर्सिटी ग्रेनो में अंतर्राष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस , साईबर सिक्यूरिटी पर होगा शोध
लोहिया ऑटो ने ऑटो एक्सपो 2018 में ‘कम्फर्ट ई-ऑटो’ को लॉन्च किया
मोबाईल लूट कर भाग रहे बदमाश कैब से टकराए, पहुंचे अस्पताल , एक नाजुक