अपने आपको कविता में ढालना स्वयं का मंथन

नोएडा। दिल्ली एनसीआर। किसी विषय पर कविता लिखना आसान है पर अपनी रोज़मर्रा की बातों को कविता में ढालना बड़ा ही मुश्किल है, क्योकि अपने आपको कविता में ढालना स्वयं का मंथन है। मेरी कल्पना है की असली और संवेदनशील कविता लोगो तक पहुंचे। किसी बहुत बड़ी बात को कविता के रूप में तीन चार पंक्तियों में कह जाना बस वही कवि है, यह कहना था कवि और लेखक लक्ष्मी शंकर वाजपेयी का जो मारवाह स्टूडियो में चल रहे ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल के अंतिम दिन पंहुचे। इस अवसर पर लेखिका और फिल्म डायरेक्टर डॉ. लवलीन थडानी, कथक नृत्यांगना शोवना नारायण, डॉ. मृदुला टंडन और लेखक अनूप बोस उपस्थित हुए। इस अवसर पर लवलीन थडानी की पुस्तक ‘माय सोल फ्लॉवर’ का विमोचन किया गया, उन्होंने कहा की मेरी पुस्तक मेरे ह्रदय को छूती हुई है इसमें आम भाषा की कविता आपको मिलेंगी, जहाँ तक हमारे साहित्य की बात है तो साहित्य समाज का दपर्ण ही नहीं बल्कि सबसे अच्छा साथी है क्योंकि साहित्य का अपना कोई स्वार्थ नहीं होता और भारत का साहित्य, ज्ञान, वेद व पुराण महान है और विश्व ने जो तरक्की की है वह हमारे वेद पुराणों की ही देन है। 
इस अवसर पर संदीप मारवाह ने कहा की जब आप लेखक  कवियों के बीच बैठते हो की वहां का पूरा माहौल सूफियाना हो जाता है। और जहाँ तक लक्ष्मी शंकर की बात है उनका एक एक शब्द न जाने कितनी कविता कहानी कह जाता है। आज समारोह के अंतिम दिन में कह सकता हूँ की हमने इन तीन दिनों में वो सब सुना है जो हम कभी भूल नहीं पाएंगे और यह हमारी पूरी ज़िन्दगी काम आएगा।
शोवना नारायण ने बताया की नृत्य की जो भाव भंगिमा होती है वह अपने आप में बहुत कुछ कह जाती है जो शब्द नहीं कह पाते और जो इसके संगीत और भाव को समझ सकता है वह कुछ भी कर सकता है। 
संदीप मारवाह ने अंत में कहा की आज की इस भागती दौड़ती जिंदगी में हम अपने साहित्य से दूर होते जा रहे हैं, इसलिए मैं अपने छात्रों से यही कहना चाहता हूं कि पढ़ो मेहनत करो कर्म करो लेकिन अपनी अच्छी सोच के साथ ताकि अपने आस पास एक अच्छे समाज का निर्माण कर सको और एक अच्छा समाज बेहतर देश का निर्माण करेगा। कार्यक्रम के अंत में कथक नृत्यांगना शोवना नारायण ने लवलीन थडानी की कविता पर नृत्य प्रस्तुत किया। 

यह भी देखे:-

महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का 2 दिवसीय काशी दौरा, प्रशासन अलर्ट, जानें रिपोर्ट
CORONA UPDATE : जानिए गौतम बुद्ध नगर का क्या है हाल
फादर एग्नेल स्कूल में मनाया गया पर्यावरण दिवस
क्या है पेगासस जासूसी मामला, जिसपर घिरी हुई है केंद्र सरकार, कौन हुआ हैकिंग का शिकार...जानें सबकुछ
भीषण गर्मी में पानी सप्लाई का प्रेशर घटा, सेक्टर वासी परेशान, प्राधिकरण बेपरवाह
भाजपा का मिशन 2022 : एक-एक विधानसभा क्षेत्र को मथेंगे प्रभारी और सह प्रभारी
एईसीएल टूर्नामेंट पर गिरी कोरोना काल और जिले में धारा-144 लागू होने गाज, पुलिस ने आयोजन के बीच पहुँच...
ग्रेटर नोएडा : घर में महिला की लाश, जांच में जुटी पुलिस
रोजगार ही रोज़गार : अगले 5 साल मे 20 लाख नए रोज़गार, जानें कहाँ?
दिनदहाड़े गांव भुन्ना जाटान में गोली मारकर हत्या
वर्चुअल संवाद: मुख्यमंत्री योगी बोले- खुद को कोरोना से बचाते हुए जनता को बचाने में जुटें मंत्री
ग्रेटर नोएडा : भारत का सबसे बड़ा हस्तशिल्प मेला 14 अक्टूबर से एक्सपो मार्ट में
जानिए गौतमबुद्ध नगर में आज क्या है कोरोना का हाल , 24  घंटे में एक और मौत 
दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण: हर पांच में से चार परिवार स्वास्थ्य संबंधी समस्या से प्रभावित
ग्रेटर नॉएडा में "हम उत्तराखंडी छौं" की अदभुत प्रस्तुति के साथ संपन्न हुआ रंगारंग कार्यक्रम
रात्रि कर्फ्यू में सख्ती : मुख्यमंत्री योगी ने कहा- 10 बजे के बाद न खुलीं हों दुकानें, दुकानें बंद क...