सोसाइटी की लिफ्ट गिरने से महिला को लगी गंभीर चोट

ग्रेटर नोएडा । सोसाइटी में लिफ्ट का गिरना आम बात हो गयी है . आज एक बार फिर शहर में लिफ्ट गिरने का हादसा हुआ है . मामला ओमीक्रॉन तीन प्लूमेरिया गार्डन एस्टेट का है . यहाँ आज सुबह लिफ्ट गिरने से मैला और उसकी बछि घायल हो गए . हाडा तब हुआ जब महिला अपनी बच्ची के साथ लिफ्ट में थी तभी लिफ्ट ग्राउंड फ्लोर से बेसमेंट में तेजी से गिरी । इस कारन महिला के कंधे एवं गर्दन में गंभीर चोट आई है।गनीमत ये रही बच्ची सही सलामत हैलेकिन भयभीत है . इधर घटना के बाद बाद से सोसायटी में रहने वालों में काफी आक्रोश है।

जानकारी के मुताबिक आज करीब साढ़े 12 बजे सोसायटी निवासी ज्योति सिंह (36) अपनी चार साल की बच्ची को स्कूल से लेकर लौटी। बेसमेंट में गाड़ी पार्क करने के बाद वह बच्ची के साथ लिफ्ट में सवार हुई। जैसे ही उन्होंने लिफ्ट का बटन दबाया। लिफ्ट ग्राउंड फ्लोर पर पहुंची और उसका दरवाजा खुल गया। जब तक महिला लिफ्ट से बाहर आ पातीं, लिफ्ट तेजी से बेसमेंट में आ गिरी। महिला की चीख सुनकर सोसायटी के लोग इकट्ठा हो गए। सोसायटी के लोगों ने महिला व बच्ची को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को छुट्टी मिल गई है। घटना से नाराज सोसायटी के लोगों ने मंगलवार को गेट पर प्रदर्शन किया। लोगों ने जमकर नारेबाजी करते हुए बिल्डर प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया। लोगों का कहना है कि सोसायटी में 13 टावर में करीब 704 फ्लैट बने हैं। सोसायटी में चार सौ से ज्यादा परिवार रहते हैं। ज्योति सिंह का परिवार एन टावर के 003 नंबर के फ्लैट में रहता है। पूर्व में सोसायटी में कई बार लिफ्ट खराब होने की घटना हो चुकी है। इसकी शिकायत सोसायटी के लोगों कई बार बिल्डर प्रबंधन से की। लेकिन बिल्डर ने कोई कदम नहीं उठाया। सोसायटीवासी मामले की शिकायत ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण व जिला प्रशासन से भी कर चुके हैं। आरोप है कि बिल्डर ने सोसायटीवासियों से जन सुविधा के नाम पर भारी भरकम रकम वसूल की है, लेकिन व्यवस्थाओं को पूरा नहीं किया। बिल्डर ने पिछले छह महीने से लिफ्ट का मेंटीनेंस तक नहीं कराया। एक महीने में लिफ्ट दो बार खराब हो चुकी है। सोसायटी के लोगों बताया कि पंद्रह दिन पहले एक टावर में तकनीकी कारणों के कारण लिफ्ट खराब हो गई थी। बिल्डर के कर्मचारियों ने मामूली कमी बताकर लिफ्ट को चालू कर दिया। भविष्य में लिफ्ट खराब न हो, इसके लिए बेहतर मेंटीनेंस नहीं किया गया। उनका कहना है कि सोसायटी के अंदर पावर बैकअप के भी

पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए हैं। लोगों ने कहा कि जब तक बिल्डर प्रबंधन द्वारा सोसायटी की सभी मूलभूत सुविधाओं को दुरुस्त नहीं किया जाता है, आंदोलन जारी रहेगा।
सोसायटी के लोगों ने आरोप लगाया है कि उन्होंने घटना घटित होने के बाद सूचना पुलिस को दी थी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने बिल्डर प्रबंधन के एक कर्मचारी को हिरासत में भी लिया। आरोप है कि एक महिला नेता ने पुलिस पर दबाव बनाकर कर्मचारी को पुलिस की हिरासत से छुड़ा लिया। इससे सोसायटीवासियों में आक्रोश है।

यह भी देखे:-

नोएडा बार्डर से ग्रेटर नोएडा तक तीसरी आँख से पुलिस रखेगी नजर
जेवर : काम के एवज में कोई सुविधा शुल्क मांगे तो हमसे सम्पर्क करें : प्रिंस भरद्वाज
गलगोटिया काॅलिज में "से नो टू प्लास्टिक एण्ड सेव अर्थ" कार्यक्रम
आॅपरेशन मुस्कान चलाकर ढूंढ़े 86 लापता बच्चे
ग्रेटर नोएडा: भारतीय नववर्ष स्वागत उत्सव का शुभारंभ
बाइक सवार बदमाशों ने ऑटो चालक से की लूटा
महिला उन्नति संस्था ने किया ध्वजारोहण
एसएसपी वैभव कृष्ण के समर्थन में एक्टिव सिटिज़न टीम, मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन
जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह से मिले गोल्डन फेडरेशन के पदाधिकारी, रखी ये मांग, पढ़ें पूरी खबर
गत्ता फैक्ट्री में लगी भीषण आग, सारा सामान जल कर ख़ाक
किसानों को मुआवजे मुद्दे पर जिला प्रशासन से मिला ये आश्वासन
गौतमबुद्ध नगर से चुनाव लड़ सकते हैं,रमा पायलट - सूत्र
दर्दनाक सड़क हादसे में माँ-बेटे की गई जान
एनसीसी बालिकाओं ने स्कूलों में किया वृक्षारोपण 
मिलक खंडेरा गाँव के नौजवानों ने उठाया साफ़ -सफाई का बीड़ा
जी. एल. बजाज में छात्रों को मेंटल फिटनेस के प्रति किया गया जागरूक