वकील के एटीएम से निकाले 80 हजार

ग्रेटर नोएडा। कासना कोतवाली क्षेत्र के अल्फा कमर्शियल स्थित बैंक में एक वकील का खाता है। कुछ बदमाशों ने जालसाजी कर उनके खाते से दो बार में 80 हजार रुपये निकाल लिए गए। जबकि एटीएम पीड़ित वकील की जेब में ही रखा हुआ था। उसके बावजूद भी साइबर ठगों ने उनके एटीएम से 80 हजार की ठगी कर ली।

बीती रात वकील अनिल भाटी निवासी साकीपुर के एटीएम से रात तकरीबन 12:00 बजे दो बार में 40 हजार 40 हजार रुपए दिल्ली के एटीएम से निकाले गए। जबकि एटीएम पीड़ित अनिल भाटी की जेब में रखा हुआ था। इसकी सूचना उन्हें मोबाइल पर संदेश आने पर पता चला। उन्होंने तुरंत एटीएम कार्ड को ब्लॉक कराया गया। हालांकि ब्लॉक कराने के बाद भी उनके फोन पर पैसा निकालने का संदेश आया क्योंकि बदमाशों ने फिर पैसे निकालने की कोशिश की थी। लेकिन उसके बाद वह पैसा निकालने में विफल रहे। उन्होंने कासना कोतवाली में जा कर जालसाजों के खिलाफ शिकायत की है। पुलिस पीड़ित की तहरीर लेकर मामले की जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि इन जालसाजों को जल्दी पकड़ लिया जाएगा।

कासना कोतवाली प्रभारी आजाद तोमर ने बताया कि बीती रात एक व्यक्ति के खाते से दो बार में 80 हजार रुपये निकाले गए थे। पीड़ित की तहरीर पर मामले की जांच की जा रही है।

यह भी देखे:-

व्यापारी की समस्या तत्परता से हल करें अधिकारी -डीएम बी.एन. सिंह
बायर्स की समस्या को लेकर सीईओ को सौंपा ज्ञापन
गैंगस्टर बदमाश अनिल दुजाना गैंग का शातिर बदमाश गिरफ्तार
झोलाछाप डाॅक्टर के चक्कर में गई पर बच्ची के जान
दहशत: महिला से लूटी चेन, लोगों ने ट्वीट कर उठाए सुरक्षा पर सवाल
इंजीनीयर, ठेकेदार और सुरक्षा गार्ड करा रहे थे मेट्रो साईट से सामान चोरी, सूरजपुर पुलिस ने किया गिरफ्...
पुनर्निर्माण के दौरान ईमारत गिरी, बच्चे की गई जान
भाकियू के संस्थापक स्व0 चौधरी टिकैत की मनायी गयी पुण्यतिथि
अनियंत्रित होकर कार पेड़ से टकराई,चार घायल
फर्जीवाड़ा कर लापता व्यक्ति की बेच डाली जमीन , मचा हंगामा
बेलगाम कैंटर के कुचलने से छात्र एक मौत, पार्किंग में गर्भवती महिला को कार ने रौंदा, मौत
सांसद सुरेंद्र नागर ने उठाया राज्यसभा में किसानों को मुद्दा
स्केटिंग पर डांस कर ग्रेनो के स्केटर्स ने टॉप 30 में बनाई जगह
पति- पत्नी के प्यार के रिश्ते के बीच झगड़ा बना मौत का कारण
कानून व्यवस्था को लेकर डीएम बी.एन सिंह ने की बैठक
अन्ना आंदोलन का हिस्सा बने का करप्शन फ्री इंडिया संगठन