प्रधान का शव संदिग्ध परिस्थिति में पेड़ से लटका मिला

 

ग्रेटर नोएडा। कासना कोतवाली क्षेत्र के एच्छर गांव के पूर्व प्रधान का शव उन्हीं के घर के पास पेड़ से लटका हुआ संदिग्ध अवस्था में शव मिला। मृतक के परिजनों ने पुलिस को बगैर सूचना दिए शव का अंतिम संस्कार कर दिया।
कासना कोतवाली क्षेत्र के एच्छर गांव के पूर्व प्रधान व सपा नेता ने बीती रात अपने घर के पास पेड़ से लटका हुआ संदिग्ध परिस्थिति में शव मिला। मृतक सुभाष पूर्व प्रधान एच्छर निवासी है। पुलिस के अनुसार प्रधान के परिजनों ने बगैर पुलिस को सूचना दिए हुए ही आनन फानन में शव का सुबह अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार मौके पर पहुंचकर परिजनों से पूछताछ की गई बताया गया कि गृह कलेश के चलते उन्होंने आत्महत्या की है। सूत्रों के अनुसार मृतक के परिजनों ने ही जब सुभाष अपने कमरे में नहीं मिले तो उन्होंने आस-पास देखा की पड़ोस के पेड़ से लटका शव है। मृतक के परिजनों ने मौके पर पहुंचकर शव को पेड़ से उतारकर आनन-फानन में शव का दाह संस्कार कर दिया।
कासना कोतवाली प्रभारी आजाद तोमर ने बताया कि पूर्व प्रधान का शव पेड़ से लटका हुआ मिला था। मृतक के परिजनों ने शव का दाह संस्कार कर दिया। गृह क्लेश का मामला बताया जा रहा है। तहरीर के आधार पर मामले की जांच की जाएगी।

यह भी देखे:-

हत्या में वांटेड ईनामी बदमाश पुलिस एनकाउंटर में घायल, एक पुलिसकर्मी भी हुआ घायल
शारदा विश्वविद्यालय में डयबिटीज पर व्याख्यान का आयोजन
घर में सो रहे दूधिया की गोली मारकर हत्या
ग्रेटर नोएडा के विभिन्न स्कूलों में धूम- धाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस समारोह
ऑपरेशन क्लीन 10, हिरासत में लिए गए 40 विदेशी युवक-युवतियां
जुनैदपुर गाँव में दीप जलाकर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि
जान की परवाह किये बिना दो बहादुर बहनों ने बदमाशों से लिया लोहा
गोकशी में वांटेड ईनामी गैंगस्टर पुलिस एनकाउंटर में घायल , फरार बदमाश गिरफ्तार
गुणवत्ता के साथ हो विकास कार्य - डीएम बी.एन. सिंह
10 मई को भाकियू लोक शक्ति के कार्यकर्ता करेंगे अर्धनग्न प्रदर्शन
युवाओं के मन की बात कार्यक्रम में राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा युवाओं से हुए रूबरू
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस :  विज़न हेल्थ एंएजुकेशन फाउंडेशन द्वारा  फ्री सैनिटरी पैड का वितरण 
क्राइम मीटिंग में एसएसपी लव कुमार ने दिए कई निर्देश
नोएडा एसटीएफ ने कुख्यात धर्मेंद्र किरठल  को देहरादून  से दबोचा, 50 हज़ार का था ईनाम 
भीम आर्मी व गुर्जर परिषद ने किसानों के रिहाई की मांग की
फ्रेंडशिप करने से इंकार किया तो सिरफिरे आशिक  ने ले ली किशोरी की जान