दादरी पुलिस ने ट्रिपल मर्डर का किया खुलासा, पांच गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा : दादरी पुलिस ने बीते20 जुलाई को ओमिक्रोम 2  में महिला व उसके पुत्र और  पुत्री तीहरे हत्याकांड का खुलासा मात्र 72घंटे में करते हुए इस मामले में पांच युवकों को जू 3 नहर की कोठी के पास से गिरफ्तार किया है. .आरोपी युवकों ने 20 जुलाई को घर में घुसकर ओमिक्रोम -3 में रहने वाली महिला मंजू और उसके बेटे व बेटी  के सर  पर रॉड से प्रहार क रमौत के घाट उतार दिया था .

यह हत्या प्रेम प्रसंग को लेकर होना बताया जा रहा है.  पुलिस ने आरोपियों के पास से घटना में प्रयुक्त हथियार और कार भी बरामद किया है.  एसएसपी डॉ. अजय पाल शर्मा ने बताया कि ओमीक्रोम   2सेक्टर में रहने वाली  मंजू यादव उनके बेटे कृष्णकांत  यादव और बेटी प्रियंका यादव की बृहस्पतिवार को उनके घर में लोहे की रॉड व चाकू से हमला करके हत्या कर दी गई थी. हत्या के बाद हत्यारोपी कृष्णकांत और  प्रियंका के शव को एक कार में रख कर ले गए तथा खेली मोड़ के पास नहर में फेंक दिया. एसएसपी ने बताया शुक्रवार दोपहर को इस मामले में मृतका मंजू यादव के पति प्रमोद यादव ने पुलिस को सूचना दी थी.  मौके पर पहुंची पुलिस को मंजूके का शव घर में लहूलुहान अवस्था में मिला जबकि उसके बेटे कृष्णकांत और बेटी  प्रियंका लापता थे. उन्होंने बताया कि कल कृष्णकांत का  शव थाना दनकौर क्षेत्र के नहर में मिला जबकि प्रियंका का शव पुलिस बरामद करने का प्रयास कर रही है. उन्होंने बताया इस मामले में पुलिस ने मनीष पुत्र महाराज नि0 भूपखेडी थाना लोनी जिला गाजियाबाद , बिट्टू कसाना पुत्र ज्ञान कसाना नि0 भूपखेडी थाना लोनी गाजियाबाद, प्रवीण भाटी पुत्र गिरीराज भाटी नि0 सिरसा खानपुर थाना कासना गौतमबुद्धनगर , अंकित पुत्र ब्रहमसिंह नि0 दलेलगढ थाना दनकौर गौतमबुद्धनगर , तरूण पुत्र सुखवीर नि0 डाबरा थाना दादारी जिला गौतमबुद्धनगर को गिरफ्तार किया है . मनीष 10 वीं पास कर पोलिटेक्निक कर रहा था . सभी की उम्र 18 वर्ष से लेकर 22 वर्ष है .

 

जब मुख्य आरोपी मनीष से सख्ती से पूछताछ की गई तो मनीष द्वारा बताया गया कि रॉड  वह चाकू से मैंने और  मेरे साथियों ने मिलकर मंजू  उसके बेटे कृष्णकांत और  प्रियंका की हत्या की . घटना के बारे में विस्तृत पूछताछ की गयी तो मनीष द्वारा बताया गया कि कृष्णकांत मेरी बहन पर गलत नजर रखता था और कई बार मना करने पर भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा था तथा मनीष कृष्णकांत की व्यक्तिगत रंजिश  भी चल रही थी . मनीष ने बताया उसने  अपने चारों साथियों के साथ मिलकर कृष्णकांत सहित पूरे परिवार की हत्या करने की साजिश बनाई और  20 जुलाई की रात  सभी मंजू के घर में गए  और गेट खुलवाकर मंजू के सर में रॉड मारकर हत्या कर दी. जब कृष्णकांत और  प्रियंका ने उनका  विरोध किया तो इन दोनों की भी हत्या कर दी गई तथा इन दोनों के शव को इन्हीं की गाड़ी में रख बिलासपुर में फेंक दिया तथा इनके घर से सोने के आभूषण भी लूटकर ले गए जो आपस में बांट लिए थे जो बरामद हुए हैं . पुलिस ने इनसे एक चैन पीली धातू , 05 अंगूठी पीली धातू ,  02 टाप्स , 02 झूमकी पीली धातू,  घटना में प्रयुक्त एक राॅड लोहे की , कार स्पार्क न0ं डीएल 4सी एडी 7263 बरामद किया है .

 

यह भी देखे:-

नोएडा -ग्रेटर नोएडा : बंगाली महिलाओं ने सिंदूर खेला के साथ मां दुर्गा को दी विदाई
एयरटेल उपभोगता को मिला खास तोफा
जनसमस्या: ग्रेटर नोएडा वेस्ट के इस सड़क पर स्ट्रीट लाईट बने शोपीस
विदेश में परचम लहराकर देश लौटे विश्व चैंपियन गोल्फर अर्जुन भाटी का हुआ जोरदार स्वागत
लाखों के पटाखे सहित दुकानदार गिरफ्तार
जूनियर कबड्डी चैंपियनशिप का उदघाटन
दिल्ली - एनसीआर में बदला मौसम का मिजाज
आईआईए द्वारा जीएसटी पर कार्यशाला आयोजित
स्वर्गीय चौधरी वेद राम सिंह नागर की पुण्यतिथि पर होगा कवि सम्मेलन का आयोजन
दादरी में शांति समिति की बैठक में अधिकारीयों ने की अपील, सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाये ईद
रिश्ते के खून का क़त्ल , माँ बनी हत्यारिन
जिला गौतमबुद्ध नगर प्रशासन बनेगा स्मार्ट
यामाहा ने स्पेयर पाट्र्स मैनेजर्स और तकनीशियनों के लिए नेशनल लेवल ग्रां प्री के 10वें संस्करण का आयो...
किसानों की समस्या को लेकर भारतीय किसान यूनियन का धरना प्रदर्शन
GPL 4 क्रिकेट मैच में खेले गए दो मैच , पढ़ें पूरी खबर
पेड़ से लटकी मिली लाश, जांच में जुटी पुलिस