शारदा विश्वविध्यालय : मीडिया पाठ्यक्रम में व्यवहारिक पहलुओं पर फोकस ज़रूरी

ग्रेटर नोएडा. शारदा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जीआरसी रेड्डी ने कहा है कि मीडिया जैसे प्रोफेशनल कोर्सेज के पाठ्यक्रम में प्रैक्टिकल्स पर अधिक ज़ोर देना चाहिए. उन्होंने सैद्धांतिकी और व्यवहारिक ज्ञान को एक दूसरे का पूरक बताते हुए कहा कि इंडस्ट्री की ज़रूरतों के मुताबिक कोर्स में बदलाव हो, शिक्षक पढ़ाने के तौर-तरीकों में बदलाव हो. उन्होंने मीडिया पढ़ाने के लिए “लर्निंग बाई डूइंग” तरीके को बेहतर बताया.

कुलपति प्रो. रेड्डी ने जनसंचार विभाग द्वारा आयोजित फैकल्टी डिवलपमेंट प्रोग्राम के समापन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि मास मीडिया जैसे विषय पढ़ाने वाले शिक्षकों को पहले स्वंय इंडस्ट्री विजिट करके आज की मीडिया में आए बदलाव को समझना चाहिए क्योंकि डिज़िटल युग के इस दौर में मीडिया में इंट्रीग्रेटेड न्यूज़रूम बन रहे हैं, ख़बरों की रिपोर्टिंग और उसकी प्रस्तुति में बदलाव आ रहा है, ये सब शिक्षकों को समझना चाहिए और उसी के अनुसार छात्रों को पढ़ाना चाहिए.

कार्यक्रम के आखिरी दिन वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव ने कहा कि पत्रकारिता छात्रों को सबसे पहले उनकी भाषा-शैली के बारे में बताना चाहिए, उन्होंने हिंदी और अंग्रेजी के मिश्रण को अनुचित बताते हुए कहा कि आज के युग में द्विभाषी या बहुभाषी होना अच्छी बात है लेकिन दो भाषाओं को मिलाकर हिंग्लिश में ख़बर को लिखना दोनो भाषाओं की सुन्दरता को ख़राब करता है. उन्होंने छात्रों को प्रैक्टिकल असाइनमेंट देने पर ज़ोर दिया. उन्होंने शिक्षकों से अलग अलग विषयों पर छात्रों को एक रीडिंग- राइटिंग असाइनमेंट देने को कहा, जिसे छात्र कक्षा में प्रस्तुत करे, फिर उस विषय पर डिबेट और डिसकशन हो. उन्होंने पर्यावरण, जीवन-शैली, शिक्षा, फूड, फैशन, ट्रैवल जैसे अन्य विषयों पर भी ध्यान केंद्रित करने को कहा उन्होंने छात्रों को “न्यज़सेंस और नॉनसेंस” के बीच के अंतर को सही तरीके से स्पष्ट करने की ज़रूरत पर बल दिया. वहीं वरिष्ठ पर्यावरण पत्रकार और लेखक आनंद बैनर्जी ने विकास पत्रकारिता पर छात्रों को जागरूक करने को कहा क्योंकि इस क्षेत्र में भी रोजगार की व्यापक संभावनाएं हैं. पर्यावरण पत्रकारिता एक बड़ा क्षेत्र है जहां पर जानकार लोगों की बहुत ज़रूरत है. ध्वनि, जल, वायु प्रदूषण के आगे प्लास्टिक, लाइट प्रदूषण, वेस्ट मैनेजमेंट, डिजास्टर रिपोर्टिंग, मॉनसून जैसे क्षेत्र हैं जहां ध्यान केंद्रित करना चाहिए.

इस मौके पर डीन प्रो. सुभाष धूलिया ने बताया कि विशेषज्ञों के सुझावों को ध्यान में रखते हुए जनसंचार विभाग इसी सत्र से दो नए कोर्स एमए इन डिजिटल मीडिया और मल्टीमीडिया कम्युनिकेशन और एमए इन एडपीआर-कॉरपोरेट कम्युनिकेशन शुरू करने जा रहा है. विभाग प्रमुख डॉ अमित चावला ने कहा कि इंडस्ट्री के मुताबिक इन कोर्सेज के पाठ्यक्रम को अंतिम रुप दिया जा रहा है. उन्होंने उम्मीद जताई कि ये कोर्सेज़ छात्रों के लिए बेहद उपयोगी साबित होंगे.

एक सप्ताह तक चले इस कार्यक्रम में मीडिया जगत के 12 वरिष्ठ पत्रकारों ने विभाग के शिक्षकों के साथ संवाद किया. एनडीटीवी में रहे किसलय भट्टाचार्य, एनडीटीवी में कार्यरत वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश शर्मा, न्यूज़ एक्स से श्वेता तिवारी, न्यूज़ 24 और इंडिया टीवी के पूर्व मैनेजिंग एडिटर अजीत अंजुम, क्विंट के मैनेजिंग एडिटर संजय पुगलिया, सहारा मीडिया में वरिष्ठ पद पर रहे प्रभात डबराल और एमिटी मुंबई, सिंबोसिस पुणे में रहे और अब पर्ल एकेडिमी के मीडिया विभाग के हेड प्रो. उज्जवल चौधरी ने इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे

इस कार्यक्रम में विभाग के डीन प्रो. सुभाष धूलिया, हेड ऑफ डिपार्टमेंट डॉ. अमित चावला और विभाग के शिक्षक प्रो. इकबाल अहमद, मुक्ता, नेहा, दिव्या, प्रियंका, अरुणेश द्विवेदी, रवि उपाध्याय, रोहिन और अशरफ अली उपस्थित रहे .

यह भी देखे:-

विदेश मंत्रालय के अधिकारी अवलोकन के लिए जीबीयू पहुँचे
आईटीएस डेंटल काॅलेज के एमडीएस विद्यार्थियों का नया सत्र प्रारम्भ
Ryanities on a mission for an Eco friendly festival of Lights
ब्यूटी पार्लर पर बच्चो को प्रशिक्षण पत्र बांटे
आई0 टी0 एस0 डेंटल काॅलेज  दीक्षांत समारोहआयोजित,  ‘‘डिग्री पाकर खिले छात्रों के चेहरे’’
जी.एल. बजाज में ‘‘स्टूडेन्ट लिडरशीप फाॅर सक्सेस’’ विषय पर सिम्पोजियम का आयोजन
इंटरनेशनल चैंबर ऑफ प्रोफेशनल एजुकेशन एंड इंडस्ट्री (ICPEI) ने अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन दिवस और उत्कृष्...
सावित्री बाई फुले जयंती : स्कूल में दी गई श्रद्धांजलि
शारदा विश्वविद्यालय : नवप्रवेशित मेडिकल स्टूडेंट्स से चांसलर पी.के गुप्ता ने कहा - निस्वार्थ सेवा...
हरलाल संस्थान ने मनाया 19 वाँ स्थापना दिवस समारोह
आईईसी समूह में शिक्षण विकास कार्यक्रम
शिक्षण संस्थानों में मनाया गया राष्ट्रीय मतदाता दिवस 
गौतमबुद्ध विश्विद्यालय में  बिना देरी   शैक्षणिक सत्र 2020-21की शुरुआत  
जीबीयू की रिमोट प्राक्टर्ड ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा में छात्रों की अच्छी उपस्थिति
सिटी हार्ट स्कूल के बच्चों ने पर्यावरण बचाने की लिए प्लास्टिक प्रयोग न करने की ली शपथ
जे. पी. इंटरनेशनल स्कूल द्वारा आनलाइन एलोक्यूशन प्रतियोगिता का आयोजन