लोकतंत्र एवं पंथ निरपेक्षता पर विचार गोष्ठी

ग्रेटर नोएडा : महान स्वतंत्रता सेनानी विजय सिंह पथिक की 64 वीं पुण्यतिथि के अवसर पर विजय सिंह पथिक शोध संस्थान के द्वारा एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया .

लोकतंत्र एवं पंथनिरपेक्षता विषय पर आयोजित गोष्ठी को इतिहासकार डॉ. राम पुनियानी, डॉ कमल सिंह, वरिष्ठ पत्रकार व चेतना मंच के संपादक आर.पी रघुवंशी, समाजसेवी व समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजकुमार कुमार भाटी ने संबोधित किया. कार्यक्रम की अध्यक्षता जम्मू कश्मीर से आए आर.ए. इंकलाबी यशवीर गुर्जर ने किया. डॉ. राम पुनिया ने कहा कि दुनिया में जहां जहां धर्म आधारित राज हैं वहां की जनता दुखी है और लोकतांत्रिक राज्य उनके कार्य किए हैं. हमेशा शासक जमात ने अपनी राजनीतिक लाभ के लिए धर्म का दुरुपयोग किया है. इतिहास को गलत तरीके से पेश कर आज देश का संप्रदायिक माहौल खराब करने की कोशिश की जा रही है. हमें इस षड्यंत्र से देश को बचाना होगा.

उन्होंने कहा लोकतंत्र , निरपेक्षता और समाजवादी हमारे संविधान का मूल स्तंभ है. इनमें से एक भी स्तंभ के कमजोर होने से संविधान को खतरा है. इस अवसर पर पुष्पेन्द्र कुमार, सरदार मंजीत सिंह, वीरेंद्र सिंह गुड्डू, रामशरण नागर एडवोकेट, वरिष्ठ सपा नेता बिजेंद्र भाटी, मनोज गर्ग, बलवीर सिंह, शीतला प्रसाद, मुकेश शर्मा, आलोक सिंह, कुलदीप मालिक, ओम रायजादा आदि उपस्थित थे.

यह भी देखे:-

करप्शन फ्री इण्डिया की पांचवीं वर्षगांठ, मनु नागर बनी चित्रकला प्रतियोगिता की विजेता
डेंगू व मलेरिया से बचाव के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने जारी की एडवाजरी
ग्रामीणों ने लगाया रास्ता ख़त्म करने का आरोप
उत्तर प्रदेश में पुलिस उपाधीक्षकों के तबादले
सुनील नागर बने भाकीयू के जिला मीडिया प्रभारी
योग गुरु कर्मवीर जी महाराज के शिविर में उमड़ी साधकों की भीड़
वनमहोत्सव : आबकारी मंत्री ने किया वृक्षारोपण 
लोकसभा प्रत्याशी अरविंद सिंह का स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया विरोध
दर्दनाक : कंटेनर ने सुपरवाईजर को रौंदा , मौत
गलत दिशा में वाहन न चलाने के लिए बांटा पम्पलेट
छात्रा ख़ुदकुशी मामले में कांस्टेबल सस्पेंड
रोटरी क्लब ने किसान इंटर कॉलेज में लगाया वाटर कूलर
होण्डा बदल रहा है भारत की राइडिंग का तरीका, 11 मॉडल लॉन्च किया
एनटीपीसी दादरी को भारत सरकार का राजभाषा पुरस्कार
चुनाव की तैयारी का जायजा लेने दादरी पहुंचे डीएम- एसएसपी
शफ़ीपुर गांव में बाढ़ से फसल को खतरा, ग्रामीण परेशान