शिव नादर यूनिवर्सिटी ने दीक्षांत समारोह 2018 का आयोजन

नई दिल्ली: शिव नादर फाउंडेशन के तत्वाधान में स्थापित एक व्यापक, बहुविषयक एवं शोध केंद्रित विश्वविद्यालय, शिव नादर यूनिवर्सिटी ने आज अपना चौथा दीक्षांत समारोह आयोजित किया। विश्वविद्यालय ने अपने विद्यार्थियों को 16 पीएचडी, 85 मास्टर्स एवं 446 अंडरग्रेजुएट उपाधियां वितरित कीं। इंजीनियरिंग, प्राकृतिक विज्ञान, मानव विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान तथा बिज़नेस एवं कला सहित विभिन्न संकायों में कुल 547 विद्यार्थियों ने विश्वविद्यालय से स्नातक किया। स्नातक होने वाले विद्यार्थियों का यह अब तक का सबसे बड़ा बैच था।

दीक्षांत समारोह का प्रारंभ प्रो. रोनाल्ड जे. डेनियल्स, प्रेसिडेंट, जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय के संबोधन से हुआ। इसके बाद समारोह के विशेष अतिथि तथा वल्र्ड वाईड (www) के अनुसंधानकर्ता, सर टिमोथी, जॉन बर्नर्स-ली ने विद्यार्थियों को संबोधित किया।

कन्वोकेशन में बोलते हुए शिव नादर यूनिवर्सिटी के चांसलर, डॉ. एस. एन. बालकृष्णन ने कहा, ‘‘शिव नादर यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह हर साल विशेष होता है। यहां पर हमारे स्नातक होने वाले विद्यार्थियों की उपलब्धियों की खुशी मनाने के लिए हमारे माननीय मेहमानों के साथ गौरवान्वित माता-पिता एवं फैकल्टी एकत्रित होते हैं। 2018 का साल खास है क्योंकि इस साल विश्वविद्यालय से 16 विद्यार्थियों ने पीएचडी पूरी की है। हमारा संस्थान केवल सात वर्ष पुराना होने के कारण यह हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि है। मैं यह सोचकर बहुत उत्साहित हूं कि इन विद्यार्थियों को दुनिया में जाने के बाद वहां की जटिल समस्याओं के समाधान के लिए शानदार अवसर मिलेंगे। हमारे हर विद्यार्थी को दी गई विस्तृत आधार की शिक्षा के साथ वो नए कॅरियर के ऐसे मार्गों पर आगे बढ़ेंगे, जिनके बारे में पुरानी पीढ़ियां सोच भी नहीं सकती थीं। शिव नादर यूनिवर्सिटी में हमने अपने युवा विद्यार्थियों को सदैव इन नए अवसरों को पहचानने और उनका लाभ उठाने के लिए तैयार किया है, ताकि उनका भविष्य अच्छा बन सके।’’

वल्र्ड वाईड वेब के अनुसंधानकर्ता, सर टिमोथी जॉन बर्नर्स-ली एवं जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के प्रेसिडेंट, रोनाल्ड जे. डेनियल्स ने स्नातक होने वाले विद्यार्थियों को उनकी सफलता की बधाई दी। उन्होंने 21 वीं सदी के कॅरियर में सफल होने के लिए आवश्यक कौशल विद्यार्थियों को प्रदान किए जाने के लिए विश्वविद्यालय के प्रयासों की सराहना भी की।

शिव नादर यूनिवर्सिटी 286 एकड़ के परिसर में स्थित है। यहां पर 140 से अधिक पीएचडी विद्वानों के साथ लगभग 2100 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं तथा 400 फैकल्टी एवं स्टाफ के सदस्य हैं। विश्वविद्यालय स्नातक से लेकर पीएचडी तक विभिन्न उपाधि कार्यक्रम संचालित करता है। इस विश्वविद्यालय में पांच स्कूल: इंजीनियरिंग, प्राकृतिक विज्ञान, मानव विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान, प्रबंधन तथा उद्यमशीलता और विस्तृत शिक्षा एवं व्यवसायिक विकास हैं।

शिव नादर विश्वविद्यालय से 2018 में स्नातक होने वाली कक्षा में प्लेसमेंट का विकल्प चुनने वाले 85 प्रतिशत विद्यार्थियों की नियुक्ति के लिए 101 कंपनियां आईं। विश्वविद्यालय से विद्यार्थियों की नियुक्ति करने वाले प्रमुख संस्थानों में मोर्गन स्टेनली, ओयो, डेल, अमेज़न, आईबीएम, अशोक लीलैंड, डैकिन, टाटा पॉवर, कॉफी डे बेवरेजेस, अमूल, सेंट गोबेन, शपूर्जी पालनजी, कॉग्निजेंट डसॉल्ट सिस्टम्स आदि हैं।

शिव नादर विश्वविद्यालय ने यह घोषणा भी की कि इसके विद्यार्थियों को बड़ी संख्या में विश्व के सर्वोच्च संस्थानों एवं विश्वविद्यालयों से स्नातक प्रवेश तथा वित्तीय मदद मिल गई है। विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए प्रवेश के प्रस्ताव देने वाले सर्वोच्च रैंकिंग वाले भारतीय संस्थानों में आईआईएससी बैंगलोर तथा आईआईटी बॉम्बे हैं। स्नातक होने वाले विद्यार्थियों को ऑफर देने वाले सर्वोच्च वैश्विक संस्थानों में पुर्डू विश्वविद्यालय; ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय; रुजर्स विश्वविद्यालय; आईई बिज़नेस स्कूल; बार्सिलोना ग्रेजुएट स्कूल ऑफ़ इकॉनोमिक्स; ट्रिनिटी कॉलेज डुबलिन; कार्नेगी मेलन; टेक्सास विश्वविद्यालय, डल्लास; ऑस्ट्रेलियन राष्ट्रीय विश्वविद्यालय तथा मिशीगन टेक विश्वविद्यालय शामिल हैं।

यह भी देखे:-

शारदा विश्वविधालय में सांस्कृतिक विरासत कार्यक्रम, विदेशी छात्रों ने की शिरकत
के.आर .मंगलम वर्ल्ड स्कूल में ‘एनचांट-2018 इंटर स्कूल प्रतियोगिता का आयोजन
ग्रेड्स इंटरनेशनल स्कूल ने नॉलेज पार्क स्थित गुरूद्वारे में मनाया गुरुपर्व
युनाईटेड कालेज में प्रोफेसरों ने खेल, योग संगीत का अभ्यास किया
जी.एल.बजाज में सम्पन्न हुआ ए.के.टी.यू. द्वारा प्रायोजित फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम
सीबीएसई 12 वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा अब अप्रैल में, 10 वीं पर सस्पेंस
'विचार प्रवाह' में गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी के छात्र भी शामिल
शारदा विश्वविधालय में "दीप श्रृंखला - एक दीप शहीदों के नाम ''
आईआईएमटी कॉलेज आफ लॉ में मूटकोर्ट प्रतियोगिता का आयोजन
एस्टर पब्लिक स्कूल में ‘खसरा और रूबेला' टीकाकरण पर संगोष्ठी
शारदा विश्विद्यालय में बास्केटबॉल प्रशिक्षण शिविर का समापन, चांसलर पी.के . गुप्ता ने चयनित खिलाडिय...
"उम्मीद" ने छात्रों को बताए तम्बाकू के खतरे
राजेश पायलट शिक्षा समिति ट्रस्ट ने मेधावी छात्रों को किया सम्मानित
जेम्टेक स्कूल ऑफ लॉ में मनाया गया मानवाधिकार दिवस
गौतमबुद्ध नगर : हाईस्कूल में वैभव नागर तो इंटरमीडिएट में अनुभा नागर ने टॉप किया, दोनों बनना चाहते ह...
जीएन ग्रुपऑफ एजुकेशनल इंस्टिट्यूट के ओरिएंटेशन प्रोग्राम में झूमे छात्र