एनआईईटी कॉलेज में स्मार्ट मैन्युफैक्चरिंग प्रयोगशालाओं की होगी स्थापना

ग्रेटर नोएडा : एनआईईटी (नोएडा इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी) और पीटीसी के संयुक्त प्रयासों के अंतर्गत एनआईईटी ग्रेटर नोएडा कैंपस में आधुनिक स्मार्ट मैन्युफैक्चरिंग प्रयोगशालाओं का निर्माण किया जा रहा है. यह प्रयोगशालाएं इंडस्ट्री 4.0 पर आधारित है।

भारतवर्ष में यहअपनी प्रकार का पहला उपक्रम है जिसके अंतर्गत स्मार्ट मैन्युफैक्चरिंग प्रयोगशालाओं की स्थापना की जाएगी। इन प्रयोगशालाओं में प्रमुख रुप से मैन्युफैक्चरिंग एवं मशीनिंग प्रयोगशाला, ऑटोमेशन कंट्रोल प्रयोगशाला, प्रोडक्ट डिजाइन एंड डेवलपमेंट प्रयोगशाला, वैलिडेशन प्रयोगशाला, रिवर्स इंजीनियरिंग प्रयोगशाला, रैपिड प्रोटोटाइपिंग प्रयोगशाला, रियलिटी प्रयोगशाला, इंटरनेट ऑफ थिंग्स प्रयोगशाला, एवं ऑगमेंटेड रियलिटी प्रयोगशाला शामिल हैं।

इन प्रयोगशालाओं को विभिन्न यांत्रिक एवं इलेक्ट्रॉनिक नवोन्वेषण के लिए पीटीसी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के नाम से जाना जाएगा। इन प्रयोगशालाओं के निर्माण में 30 करोड रुपए का निवेश होगा जिसके आधार पर यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि एनआईईटी ग्रेटर नोएडा किस प्रकार से आधुनिक उद्योग जगत के मानकों के अनुसार अपने विद्यार्थियों को तैयार करने, अनुसंधान एवं विकास कार्यों को नई दिशा देने, एवं अपने विद्यार्थियों के कौशल में वृद्धि करने के लिए कटिबद्ध है। पीटीसी एक ग्लोबल सॉफ्टवेयर कंपनी है जो कि कंपनियों को, संरचना, , डिजाइन, निर्माण, व्यापारिक गतिविधियों एवं सेवा के क्षेत्र में स्मार्ट समाधान प्रदान करती है। आधुनिक जगत में इन सब का जुड़ाव अत्यंत महत्वपूर्ण होता जा रहा है।

इस संबंध में पीटीसी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट स्टीफेन हेल्फ ने कहा कि, “एनआईईटी ग्रेटर नोएडा के द्वारा इन महत्वपूर्ण प्रयोगशालाओं की स्थापना किया जाना, एक अनूठा उदाहरण है। यह स्पष्ट रुप से प्रदर्शित करता है एनआईईटी ग्रेटर नोएडा किस प्रकार से इस कारपोरेट कोलैबोरेशन के माध्यम से , विश्व स्तरीय अनुसंधान नवोन्वेषण एवं वर्क फोर्स डेवलपमेंट के लिए तकनीक के आधुनिकीकरण के माध्यम से नए आयाम स्थापित कर रहा है।“ स्टीफेन हेल्फ ने बताया हमारा उद्देश्य ऐसी तकनीकों का निर्माण एवं विकास करना है जिनके माध्यम से आगे आने वाली पीढ़ी की यांत्रिक एवं इलेक्ट्रॉनिक निर्माण संबंधी समस्याओं का समाधान किया जा सके।

इसके अतिरिक्त दो और प्रयोगशालाओं, रोबोटिक्स प्रयोगशाला एवं ऑटोमेशन प्रयोगशाला की स्थापना की जा रही है। रोबोटिक्स प्रयोगशाला की स्थापना डेल्टा इलेक्ट्रॉनिक्स एवं ऑटोमेशन प्रयोगशाला की स्थापना जेनेटिक्स के साथ संयुक्त उपक्रम के रूप में की जा रही है। यह दोनों प्रयोगशालाएं एनआईईटी ग्रेटर नोएडा, डेल्टा इलेक्ट्रॉनिक्स एवं जेनेटिक्स के संयुक्त उपक्रम के फलस्वरुप नए पदार्थों के निर्माण एवं विकास के लिए नए आयाम स्थापित करेंगी तथा यांत्रिक एवं इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्रों में प्रयोग किए जाने वाले विभिन्न नए पदार्थों की खोज को प्रोत्साहित करेंगी।

इस विषय में डेल्टा इलेक्ट्रॉनिक्स के निदेशक अनिल चौधरी ने इस निवेश के महत्व के विषय में बताया एवं कहा कि “नवीनतम रोबोटिक्स लैब की स्थापना से विद्यार्थियों को रोबोटिक निर्माण संबंधी तकनीकों में प्रतियोगात्मक बनाया जा सकेगा और साथ ही साथ इससे एनआईईटी ग्रेटर नोएडा भी भारत में प्रतियोगिता एक के एक नए स्तर पर आ जाएगा और विकास की नई संभावनाओं का सृजन करेगा।“

पीटीसी यूनिवर्सिटी के निदेशक कमल बत्रा ने कहा कि “पीटीसी शिक्षा जगत में और अधिक गुणवृद्धि करने के लिए कटिबद्ध है। यह पीटीसी के लिए गौरव का विषय है, कि एनआईईटी ग्रेटर नोएडा ने नियमित पाठ्यक्रम के परे अपने विद्यार्थियों के विकास एवं कौशल वृद्धि के लिए इन स्मार्ट मैन्युफैक्चरिंग प्रयोगशालाओं की स्थापना की है। हम इस प्रतिबद्धता का मूल्य स्पष्ट रूप से समझते हैं तथा इन स्मार्ट प्रयोगशालाओं की परियोजना के लिए 30 करोड़ के निवेश में से 24 करोड़ रुपए का निवेश प्रायोजित कर रहे हैं।”
इस अवसर पर एनआईईटी ग्रेटर नोएडा में इन प्रयोगशालाओं के इंडक्शन कार्यक्रम का आयोजन 28 अप्रैल 2018 को किया गया। इस इंडक्शन कार्यक्रम में पीटीसी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट स्टीफेन हेल्फ मुख्य अतिथि के रुप में, डेल्टा इलेक्ट्रॉनिक्स के निदेशक श्री अनिल चौधरी सम्माननीय अतिथि के रुप में तथा पीटीसी यूनिवर्सिटी के निदेशक श्री कमल बत्रा, विशिष्ट अतिथि के रुप में उपस्थित थे। इसके अतिरिक्त इस इंडक्शन कार्यक्रम में एनआईईटी ग्रेटर नोएडा के प्रबंध-निदेशक डॉ ओ पी अग्रवाल, , अतिरिक्त प्रबंध निदेशिका डॉ नीमा अग्रवाल, रमन बत्रा, एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट एनआईईटी ग्रेटर नोएडा, डॉ अजय कुमार, निदेशक एनआईईटी ग्रेटर नोएडा, एवं अन्य सभी विभागों के विभागाध्यक्ष उपस्थित थे।

एनआईईटी ग्रेटर नोएडा राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (NAAC) से प्रत्यायित ‘ए’ ग्रेड (3.23) संस्थान है। इसके अतिरिक्त एनआईईटी ग्रेटर नोएडा के कम्प्यूटर साइंस एंड इंजीनीयरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनीयरिंग, मैकेनिकल इंजीनीयरिंग तथा बी फार्म विभाग राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड से प्रत्यायित हैं।

एनआईईटी ग्रेटर नोएडा विभिन्न वर्गों के विद्यार्थियों को उच्च एवं गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान करने के लिए, शिक्षा जगत में एक जाना माना नाम है। यह शिक्षा के एक उत्कृष्ट केंद्र के रूप में उभर रहा है तथा प्रबंधकीय एवं तकनीकी शिक्षा जगत में होनहार पेशेवरों का सृजन कर रहा है जो विश्वसनीयता, अखंडता एवं नैतिक मानकों पर खरे उतरते हैं।
एनआईईटी ग्रेटर नोएडा के एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट रमन बत्रा ने कहा कि “ सबसे पहले वाष्प की शक्ति के माध्यम से हमारे पूर्वजों ने मशीनीकरण को प्रारम्भ किया। इसके पश्चात बिजली का आविष्कार हुआ तथा इसके फलस्वरूप असेंबली लाइंस तथा वृहद स्तर पर उत्पादन का युग का आरंभ हुआ। तीसरा युग कंप्यूटर के साथ प्रारम्भ हुआ, जहां ऑटोमेशन के बारे में हमने जाना। यह वही युग है जहां रोबोट और मशीन ने असेंबली लाइंस पर मानवीय घटक को प्रतिस्थापित कर दिया है।“ उन्होने आगे कहा, “ आज हम इंडस्ट्री 4.0 के युग में आ चुके हैं, जहां कंप्यूटर तथा मशीनें एक नए प्रकार से काम कर रहे हैं। आज वह समय है जब कंप्यूटर और रोबोट मिलकर न केवल उत्पादन एवं निर्णय संबंधी गतिविधियों को न केवल परिचालित कर रहे हैं बल्कि इन सभी में मानवीय परिचालन के भाग को तेजी से प्रतिस्थापित कर रहे हैं। इस स्थिति में पीटीसी के प्रायोजन से स्थापित की जाने वाली इन स्मार्ट मैन्युफैक्चरिंग प्रयोगशालाओं की स्थापना का स्वागत करते हैं। इससे निर्माण एवं इन्नोवेशन के क्षेत्र में एक नया दौर आएगा। यह हमारे सम्माननीय प्रधानमंत्री जी के राष्ट्रीय मिशन एवं एनआईईटी ग्रेटर नोएडा के अनुसंधान एवं विकास के मुख्य उद्देश्य को पूरा करेगा।“

अपने विद्यार्थियों में उच्चस्तरीय रोजगारपरक कौशल का समावेश, एनआईईटी ग्रेटर नोएडा को प्रतियोगिता में सदैव आगे बनाए रखने के लिए मूलभूत घटक है। संस्थान लगातार विश्व की अनेकों बहुराष्ट्रीय कंपनियों की सहभागिता से योग्य विशेषज्ञों के निर्माण तथा राष्ट्र के लिए सार्थक एवं सुगम नवोन्वेषण प्रतिपादित करने के लिए प्रयासरत है और आगे भी इस दिशा में नए-नए आयाम स्थापित करता रहेगा।

यह भी देखे:-

आई.टी.एस काॅलेज में श्रद्धा कपूर ने किया "हसीना पारकर" फिल्म का प्रमोशन
ओरिएंटेशन कार्यक्रम के दौरान छात्र-छात्राओं में दिखा जर्बदस्‍त उत्‍साह
प्रोडक्शन इंजीनीयर एवं सर्विस प्रोवाइडर के चयन के लिये आईआईएमटी कॉलेज समूह में रिक्रूटमेंट ड्राइव
आईआईएमटी कॉलेज में सोनाक्षी संग जमकर नाचे छात्र - सोनाक्षी ने कहा लव यू आईआईएमटी
GALGOTIA COLLEGE: अब रोबोट करेगा WELCOME, भेंट करेगा गुलदस्ता
अब छात्र नौकरी करेंगे नहीं नौकरी देंगे , आईआईएमटी के छात्रों ने जाना बिजनेस का फंडा
जिम्स इंजीन्यरिंग कॉलेज : शिक्षा में बदलाव एवं प्रगति” विषय पर सम्मेलन
जीएनआईटी (आई.पी.यू. ) में विश्वकर्मा दिवस मनाया गया
आईटीएस इन्जीनियरिंग काॅलेज ने राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस मनाया
जी.एल बजाज में हर्षोल्लास के साथ मनी होली
आईआईएमटी कॉलेज में यूथ वोटर उत्सव का हुआ आयोजन
शारदा यूनिवर्सिटी का 'आर्किटेक्चर पर अत्याधुनिक ट्रेंड्स' पर इंटरनेशल कांफ्रेंस आयोजित
आईआईएमटी कॉलेज में शहीदों को किया गया नमन
रोबोटिक्स और आईओटी पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन
गलगोटिया कॉलेज में ऐसे मना विश्व पर्यावरण दिवस
शारदा यूनिवर्सिटी में 14 सितम्बर से होगा 'आर्किटेक्चर में अत्याधुनिक ट्रेंड्स' पर तीन दिवसीय इंटरने...