आइआइएमटी कॉलेज में आरटीआई की संभावनाएं एवं चुनौतियां विषय पर विचार गोष्‍ठी

ग्रेटर नोएडा। अंग्रेजों के जमाने के गोपनीयता कानून को समाप्‍त कर देना चाहिए। आरटीआई कार्यकर्ता जिनकी हत्‍या हो रही है, उस पर गंभीरता से विचारकर उनको सुरक्षा मुहैया करानी चाहिए ताकि लोग निर्भय होकर आरटीआई के तहत सूचना प्राप्‍त कर सकें। ये बातें राज्‍यसभा के पूर्व महासचिव डॉ योगेन्‍द्र नारायण ने नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज में ‘’सूचना का अधिकार-संभावनाए एवं चुनौतियां’’ विषय पर आयोजित संगोष्‍ठी में कही। आगे उन्‍होंने कहा कि आरटीआई अभी सिर्फ शहरों तक सीमित होकर रह गया है, इसलिये ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को जागरुक करने के लिए सार्थक पहल करने की आवश्‍यकता है। इसके पहले आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने अतिथियों का स्‍वागत किया।

पदमश्री एवं वरिष्‍ठ संपादक डॉ अलोक मेहता ने कहा कि आरटीआई जानकारी प्राप्‍त करने का बहुत अच्‍छा औजार है। लेकिन इसका दुरूपयोग नहीं होना चाहिए। आरटीआई के तहत अगर कोइ गलत जानकारी मिल रही है तो पत्रकार की जिम्‍मेदारी है कि खबर प्रकाशित करने से पहले उसकी सत्‍यता की जांच कर ले। उन्‍होंने कहा कि आरटीआई के माध्‍यम से सत्‍ता हासिल कर दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री बनने वाले अरिवंद केजरीवाल की ही सरकार मे पारर्दशिता नहीं है।

पूर्वमंत्री एवं भाजपा के प्रदेश उपाध्‍यक्ष नवाब सिंह नागर ने कार्यक्रम की अध्‍यक्षता की। उन्‍होंने कहा कि आरटीआई आमजन के हित में बहुत सशक्‍त और उपयोगी कानून है, वक्‍ताओं ने जो सवाल उठायें है वो बहुत जायज हैं। मैं उनकी मांग को सरकार तक प्रेषित करने और उसका समाधान कराने की कोशिश करूंगा ।

आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा कि आरटीआई ने आम लोगों को मजबूत और जागरूक बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई। आरटीआई जनता को सरकार से जुड़े सभी बातों को जानने का अधिकार देता है। उन्‍होंने आये हुए अतिथियों का छात्रों के मार्गदर्शन करने के लिये धन्‍यवाद किया ।

आईआईएमटी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट के निदेशक डॉ राहुल गोयल ने आये हुए सभी अतिथियों का आभार व्‍यक्‍त किया एवं सभी छात्र-छात्राओं कों आरटीआई का सकारात्‍मक दिशा में उपयोग करने की सलाह दी।

पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के डीन प्रो अनिल निगम ने आरटीआई की चुनौतियों के बारे में विस्‍तार से बताया और विषय प्रवर्तन करते हुए अतिथियों के समक्ष सवाल रखे।

यह भी देखे:-

नैतिक मूल्यों और नैतिकता के माध्यम से युवाओं को सशक्त बनाना, बौद्ध अध्यन पर व्याख्यान कल   
गलगोटिया विश्वविद्यालय में स्पोर्ट्स फेस्ट, देशभर से 60 टीमें ले रही हैं हिस्सा
बौद्धिक और भावनात्मक कौशल बनाते हैं असाधारण नेता : प्रो. शांतिश्री डी. पंडित
जीबीयू में ऑनलाइन — वर्ल्ड ऑफ कैरियर सम्मिट
जीऍनआईओटी  ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस का एडूस्कील्स फाउंडेशन के साथ अनुबंध
जी डी गोयंका पब्लिक स्कूल में पूर्व छात्रों का मिलन समारोह -2022 (Alumni Meet)
शिव नादर यूनिवर्सिटी ने दीक्षांत समारोह 2018 का आयोजन
भविष्य से खिलवाड़, छात्रों का सेमेस्टर एग्जाम छूटा
नॉन क्रेडिट कोर्स के लिए बीटेक छात्रों को नहीं देना होगा 11 सौ रूपये  
गलगोटिया कॉलेज में  कम्प्यूटिंग, संचार नियंत्रण और नेटवर्किंग विषय पर दो दिवसीय सम्मेलन  का आयोजन 
शारदा विश्वविधालय में आज "स्वच्छता ही सेवा" कार्यक्रम का विधिवत समापन
जी.एल. बजाज संस्थान को मिला ‘मोस्ट प्रिफर्ड इंजीनियरिंग इंस्टीटयूट ऑफ़ दि ईयर - नार्थ 2019 का अवार्ड
डीएम ने नोएडा -ग्रेटर नोएडा के सरकारी व प्राइवेट स्कूल के 12 वीं कक्षा तक बंद करने का आदेश दिया
बीपीबीडी इंटरनेशनल एकेडमी में  टैलेंट टाइटन्स  कार्यक्रम का आयोजन हुआ 
विश्वस्तरीय हिंदी ओलिंपियाड में ग्रेनो के तुगलपुर की बेटी ने लहराया परचम
रंग-बिरंगे यादों के साथ संपन्न हुआ तीन दिवसीय "मीडिया मेला- 2019"