आइआइएमटी कॉलेज में आरटीआई की संभावनाएं एवं चुनौतियां विषय पर विचार गोष्‍ठी

ग्रेटर नोएडा। अंग्रेजों के जमाने के गोपनीयता कानून को समाप्‍त कर देना चाहिए। आरटीआई कार्यकर्ता जिनकी हत्‍या हो रही है, उस पर गंभीरता से विचारकर उनको सुरक्षा मुहैया करानी चाहिए ताकि लोग निर्भय होकर आरटीआई के तहत सूचना प्राप्‍त कर सकें। ये बातें राज्‍यसभा के पूर्व महासचिव डॉ योगेन्‍द्र नारायण ने नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज में ‘’सूचना का अधिकार-संभावनाए एवं चुनौतियां’’ विषय पर आयोजित संगोष्‍ठी में कही। आगे उन्‍होंने कहा कि आरटीआई अभी सिर्फ शहरों तक सीमित होकर रह गया है, इसलिये ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को जागरुक करने के लिए सार्थक पहल करने की आवश्‍यकता है। इसके पहले आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने अतिथियों का स्‍वागत किया।

पदमश्री एवं वरिष्‍ठ संपादक डॉ अलोक मेहता ने कहा कि आरटीआई जानकारी प्राप्‍त करने का बहुत अच्‍छा औजार है। लेकिन इसका दुरूपयोग नहीं होना चाहिए। आरटीआई के तहत अगर कोइ गलत जानकारी मिल रही है तो पत्रकार की जिम्‍मेदारी है कि खबर प्रकाशित करने से पहले उसकी सत्‍यता की जांच कर ले। उन्‍होंने कहा कि आरटीआई के माध्‍यम से सत्‍ता हासिल कर दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री बनने वाले अरिवंद केजरीवाल की ही सरकार मे पारर्दशिता नहीं है।

पूर्वमंत्री एवं भाजपा के प्रदेश उपाध्‍यक्ष नवाब सिंह नागर ने कार्यक्रम की अध्‍यक्षता की। उन्‍होंने कहा कि आरटीआई आमजन के हित में बहुत सशक्‍त और उपयोगी कानून है, वक्‍ताओं ने जो सवाल उठायें है वो बहुत जायज हैं। मैं उनकी मांग को सरकार तक प्रेषित करने और उसका समाधान कराने की कोशिश करूंगा ।

आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा कि आरटीआई ने आम लोगों को मजबूत और जागरूक बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई। आरटीआई जनता को सरकार से जुड़े सभी बातों को जानने का अधिकार देता है। उन्‍होंने आये हुए अतिथियों का छात्रों के मार्गदर्शन करने के लिये धन्‍यवाद किया ।

आईआईएमटी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट के निदेशक डॉ राहुल गोयल ने आये हुए सभी अतिथियों का आभार व्‍यक्‍त किया एवं सभी छात्र-छात्राओं कों आरटीआई का सकारात्‍मक दिशा में उपयोग करने की सलाह दी।

पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के डीन प्रो अनिल निगम ने आरटीआई की चुनौतियों के बारे में विस्‍तार से बताया और विषय प्रवर्तन करते हुए अतिथियों के समक्ष सवाल रखे।

यह भी देखे:-

समय के साथ शिक्षा में सुधार जरूरी- डॉ. दिनेश शर्मा
शारदा विश्विद्यालय में "दंत प्रत्यारोपण " पर कार्यशाला
एस्टर पब्लिक स्कूल में ग्रीन एंड सुरक्षित दिवाली के लिए जागरूकता कार्यक्रम
शारदा यूनिवर्सिटी में "टेक्नोलॉजी विजन 2035" पर हुई चर्चा
गौतमबुद्ध विश्विद्यालय : होनहार विद्यार्थी हुए सम्मानित
जी. डी. गोयंका में मनाया गया बैसाखी व राम नवमी का पर्व
शिव नादर यूनिवर्सिटी ने दीक्षांत समारोह 2018 का आयोजन
बुकसेलरों के साथ स्कूल की मिलीभगत का आरोप, पुलिस में शिकायत
आईटीएस डेन्टल काॅलिज में प्रेक्टिस मैनेजमेन्ट पर कार्यशाला का आयोजन
एक्यूरेट के बी. आर्क में विदाई समारोह
शारदा विश्विद्यालय में धूम-धाम से मनाई गई जन्माष्टमी, दही हांडी की धूम
गौतमबुद्ध विश्विद्यालय : ग्रीष्मकालीन इंटरर्नशिप के जरिए बदलाव की मुहिम शुरू
उत्तर प्रदेश राज्य संयुक्त प्रवेश परीक्षा 21 अप्रैल को, कैसे करें आवेदन, जानिए
शारदा विश्वविद्यालय में कार्यशाला , दन्त रोगों की चुनौतियों पर हुई चर्चा
पटेल जयंती पर शारदा विश्विद्यालय के छात्रों ने निकाली रैली
जिम्स: विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये सीएम योगी ने एमबीबीएस के छात्रों को किया संबोधित, समाज के ल...