ग्रेटर नोएडा : DDRWA के साथ एसपी ने की बैठक, बेहतर सुरक्षा देने का आश्वासन

ग्रेटर नोएडा : शहर की सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए आज एसपी देहात सुनीति और सीओ प्रथम अमित किशोर श्रीवास्तव ने शहर की आरडब्ल्यूए के साथ बैठक की। बैठक के दौरान सुरक्षा व्यवस्था का मुद्दा प्रमुख रहा । सेक्टरवासियों ने शहर में सत्यापन अभियान फिर से शुरू करने की मांग की। एसपी ने लोगों को आश्वाशन दिया है कि पुलिस उनकी साड़ी समस्या का समाधान करेगी।

बैठक में लोगों ने कहा कि शहर में कानून व्यवस्था लचर होती जा रही है। आए दिन जनता से लूटपाट की वारदात हो रही है। सेक्टर में सत्यापन अभियान नहीं चल रहा है। पीसीआर की सेक्टर में पेट्रोलिंग कम होती है। लोगों ने कहा कि जू, सिग्मा सेक्टर पूरी तरह से विकसित नहीं हुए है। इन सेक्टरों में लोग अवैध रूप से रह रहे है, इससे माहौल खराब हो रहा है। इस मौके पर एनपी सिंह , जितेंद्र भाटी, राम शरण नागर, ममता तिवारी, भारती रावत, सुशील त्यागी, रजन खन्ना, जिले सिंह , मनोज भाटी, सुनील खारी, रामदत्त शर्मा, कपिल, सुनील भाटी, दयाचंद भाटी, सुरेंद्र भाटी सहित कई अन्य लोग उपस्थित रहे।

यह भी देखे:-

आयुर्योग एक्सपो 2019 : योगगुरु स्वामी रामदेव ने मेगा शिविर का संचालन किया, 25 हजार साधकों ने लिया ...
4 जून को बन्द रहेगा दादरी रेलवे फाटक
हरियाली तीज मेहंदी प्रतियोगिता में शहजीन सैफी, प्राची, निशा, शबनम और जीनत रही प्रथम
डीएम बी.एन. सिंह ने जनपदवासियों को दी नववर्ष की शुभकामनाएं
शार्ट सर्किट से कबाड़ में लगी आग,गाड़ी जलकर हुई आग
खुशियों का माहौल मातम में बदला, पढ़ें पूरी खबर 
दर्दनाक : स्कूटी सवार दम्पति बेलगाम ट्रक की चपेट में आए और ...
एनजीटी के नियमों का उलंघन कर रहे बिल्डर का दो प्लांट सीज
निकाय चुनाव : बिना इजाजत किया जा रहा था प्रचार , पुलिस ने कराया बंद
गौतमबुद्ध नगर में कोरोना के आंकड़ों में उछाल 
सपा ने मोरना गांव में अलाव पर किसानों से किया संवाद 
ग्रेटर नोएडा : धार्मिक रामलीला कमेटी ने किया भूमि-पूजन, 21 सितम्बर से 30 सितम्बर तक होगा भव्य रामली...
पटाखा बिक्री करने वालों के खिलाफ कार्यवाही शुरू
कानपुर में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को एक करोड़ रुपये मुआवजा एवं उनके आश्रितों को नौकरी  अति शीघ्र दी ज...
दहशत: गौतमबुद्ध विश्विद्यालय में फिर दिखा तेंदुए जैसा जंगली जानवर, फोटो वायरल 
जेवर एयरपोर्ट का रास्ता साफ, किसानों से लिया भूमि का कब्ज़ा