” मेरे पास माँ है .. ” डायलाग बोलने वाला ये मशहूर अभिनेता अब हमारे बीच नहीं रहा

मुंबई : हिन्दी सिनेमा के जाने माने अभिनेता और निर्माता शश‍ि कपूर का आज निधन हो गया है। वे पिछले तीन हफ्ते से बीमार चल रहे थे। शशि ने हिन्दी सिनेमा की 160 फिल्मों (148 हिंदी और 12 अंग्रेजी) में अभिनय किया। वे 79 वर्ष के थे। 60 और 70 के दशक में उन्होंने जब-जब फूल खिले, कन्यादान, शर्मीली, आ गले लग जा, रोटी कपड़ा और मकान, चोर मचाए शोर, दीवार कभी-कभी और फकीरा जैसी कई हिट फिल्में दी.

1984 में पत्नी जेनिफर की कैंसर से मौत के बाद शशि कपूर काफी अकेले हो गए थे और उनकी तबीयत भी बिगड़ती गई। बीमारी की वजह से शशि कपूर ने फिल्मों से दूरी बना ली। साल 2011 में शशि कपूर को भारत सरकार ने पद्म भूषण से सम्मानित किया था. 2015 में उन्हें दादा साहेब पुरस्कार भी मिल चुका है।

यह भी देखे:-

कैलाश मासूम बने फिल्म सैंसर बोर्ड के सदस्य
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैलाश मासूम को किया सम्मानित
लीडर बने फॉलोवर नहीं - कुसुम चोपड़ा
हाईवे फैशन शो का चौथा सेशन दिल्ली में
मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने किया रामदास आठवले के मोम के पुतले का अनावरण
कैलाश मासूम को नोबल एसियन ऑफ़ दि ईयर अवार्ड से सम्मानित
अपने आपको कविता में ढालना स्वयं का मंथन
केंद्रीय फिल्म सेंसर बोर्ड की सदस्य बनीं चांद सुल्ताना
फिल्म निर्देशक कैलाश मासूम की फ़िल्म कर लिए सुखविंदर सिंह ने गाया गीत