सड़क किनारे खड़ी टाटा 407 में घुसी तेज रफ़्तार कार , एक की मौत पांच घायल

ग्रेटर नोएडा : आज शाम सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र के नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे झट्टा बदौली गांव के पास सड़क किनारे खड़े टाटा 407 में तेज रफ्तार कार पीछे से जा घुसी। इस हादसे में टाटा 407 के ड्राईवर ने मौके पर ही दम तोड़ दिया . साथ ही कार में सवार पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने घायलों को नोएडा के निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

जानकारी के मुताबिक नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे पर परी चौक से करीब सात किमी की दूरी पर झट्टा बदौली गांव के निकट आज शाम टाटा 407 में कुछ खराबी आ गयी . जिसके बाद ट्रक का चालाक सलीम पर चालक सलीम ने सड़क किनारे ट्रक को खड़ा कर वाहन के खराबी की जांच करने करने के लिए नीचे उतरा था। इसी दौरान पीछे से आ रही तेज रफ्तार कार पीछे से टाटा 407 में जा घुसी। टक्कर इतनी तेज थी कि कार के परखच्चे उड़ गए। घटना में टाटा 407 के ड्राईवर सलीम ने मौके पर ही दम तोड़ दिया । कार सवार जोरबाग, दिल्ली निवासी वीरेंद्र गुप्ता पत्नी नीरू गुप्ता भाई सुरेंद्र गुप्ता और वीरेंद्र की दो बेटियां गंभीर रूप से घायल हो गईं। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने पांचों घायलों को नोएडा के जेपी अस्पताल में भर्ती कराया जहां उनका उपचार चल रहा है।

यह भी देखे:-

अजय शर्मा बने जेवर कोतवाली के प्रभारी
डॉक्यूमेंट्री फिल्म "द ब्रदरहुड" बनेगा हिन्दू-मुस्लिम एकता की मिसाल
नोएडा प्राधिकरण का भ्रष्टाचार के खिलाफ नई मुहीम : इन नम्बरों पर कर पर कर सकते हैं शिकायत, पढ़ें
एसएसपी धर्मेंद्र सिंह की प्रेस कांफ्रेंस - केन्याई छात्रा के साथ नहीं हुई मारपीट
नेफोवा - होम बायर्स ने रैली निकालकर किया प्रदर्शन, जानिए बायर्स का दर्द
अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा के राष्ट्रीय सम्मेलन में पंहुचे सैकड़ो कार्यकर्ता
ABVP के द्वारा "जल बचाओ जीवन बचाओ" अभियान की पहल
बीरोदा गाँव में हुआ स्कूल चलो अभियान
अलग-अलग सड़क हादसों में चार की गई जान
3 लोगों को हिरासत में लिया गया है
संयुक्त अधिकार किसान आंदोलन की मांगों को लेकर पद यात्रा
चंद्रशेखर आजाद की जयंती मनाई
शारदा के छात्रों से रूबरू हुए बिग बॉस के विजेता आशुतोष कौशिक
निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं: चौधरी प्रवीण भारतीय
श्रीराम मित्र मंडल नोएडा रामलीला मंचन : राम वन गमन देख दर्शकों के छलके आंसू
लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के लिए मेरा आभार : डॉ. महेश शर्मा