दर्दनाक : सड़क हादसे में मां बेटे की मौत

ग्रेटर नोएडा। कस्बा जेवर में रविवार की शाम एक तेज रफ्तार कार ने बाइक सवार मां बेटे को टक्कर मार दी। हादसे में मां बेटे की मौत हो गई। वहीं लोगों ने कार चालक को दबोच पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जमानत मिल गई।

रमेश निवासी गांव उसमापुर खुर्जा के रहने वाले थे। वह अपनी मां शांति देवी के साथ अपनी रिश्तेदारी में गए थे। जहां से वह रविवार रात लौट रहे थे। जब वह जेवर में जैन अस्पताल के सामने पहुंचे, तभी सामने से आ रही एक तेज रफ्तार कार ने उनकी बाइक में टक्कर मार दी। कार चालक नशे में धुत था और वह बाइक को घसीटता हुआ ले गया। जिससे रमेश (37) की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं मृतक की मां शांति देवी को गंभीर अवस्था मे कस्बे के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां ईलाज के दौरान उनकी भी मौत हो गई। वहीं लोगों ने भाग रहे कार चालक को दबोच लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। मृतक के भाई राकेश ने कार चालक रविन्द्र चौहान निवासी नॉएडा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

यह भी देखे:-

बेहतर ढंग से अपील और शिकायत का होगा निस्तारण - राज्य सूचना आयुक्त, जन सूचना व अपीलीय अधिकारीयों क...
कवि-लेखक ओम रायज़ादा ने संभाली महिलाओं के सामाजिक उत्थान और पर्यावरण को ठीक करने की कमान
जब शराब में धुत शख्स पटरी पर चलने लगा
कानूनी जागरूकता के लिए निकाली कार रैली
विश्व वेटलैंड दिवस पर बोले मंत्री जयप्रकाश सिंह, पर्वावारण संरक्षण जरूरी
सामूहिक विवाह धांधली में शामिल अधिकारीयों पर हो कार्यवाही : करप्शन फ्री इण्डिया ने दिया ज्ञापन
ईकोटेक - 3 थाना पुलिस की तत्परता से लापता बच्चे सकुशल बरामद , परिजनों ने ली चैन की सांस
डाक सेवको की हड़ताल जारी, किया प्रदर्शन
ग्रेटर नोएडा में हिन्दू रक्षा सेना का गठन, आचार्य अशोकानंद जी महाराज राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बने
सीएम योगी आदित्यनाथ के आने से पहले सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रशासन अलर्ट
दर्दनाक : ट्रैक्टर ट्राली ने छात्र को कुचला, मौत
एडब्लूएचओ दीपावली मेला में रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन
बिलासपुर में कोतवाली पुलिस ने हटाया अतिक्रमण
औद्योगिक विकास मंत्री सुरेश राणा ने ग्रेनो प्राधिकरण में बैठक कर लिया ये निर्णय, क्या कहा देखें VID...
बिजली उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी, कैसे ? पढ़ें पूरी खबर
दादरी रेलवे स्टेशन पर एक्सप्रेस ट्रेनों के ठहराव