जानिए कौन मांग रहा था PAYTM के मालिक से करोड़ों की रंगदारी, हुआ गिरफ्तार

नोएडा। मोबाइल वॉलेट की जानी मानी नामी कंपनी पेटीएम का गोपनीय डाटा चोरी कर मालिक से 10 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में नोएडा की थाना सेक्टर-20 पुलिस ने कंपनी की महिला वाइस प्रेसिडेंट, उसके पति और एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार महिला वाइस प्रेसिडेंट के पद पर तैनात है। वह कंपनी के मालिक विजय शेखर शर्मा का निजी काम भी देखती थी। उसने एक अन्य कर्मचारी देवेंद्र की मदद से कंपनी का गोपनीय डाटा चोरी कर लिया। इसके बाद वह कंपनी मालिक को ब्लैकमेल कर 20 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने लगी। इस पूरे प्रकरण में आरोपी महिला का पति रूपक जैन भी शामिल है।

पुलिस के अनुसार आरोपी सितंबर महीने से कंपनी मालिक से 20 करोड़ रुपये की रंगदारी मांग रहे थे। रंगदारी न देने पर आरोपी कंपनी का गोपनीय डाटा सार्वजनिक करने की धमकी दे रहे थे। बताया जा रहा है कि कंपनी मालिक आरोपियों को दो लाख रुपये दे भी चुके थे। इसके बाद भी आरोपी अब भी कंपनी मालिक से 10 करोड़ रुपये की और मांग कर रहे थे।

आरोपियों की धमकी से परेशान होकर कंपनी मालिक विजय शेखर ने मामले में नोएडा पुलिस से शिकायत की थी। उनकी शिकायत पर थाना सेक्टर-20 पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर तीनों आरोपियों को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को आरोपियों के पास से काफी मात्रा में कंपनी का गोपनीय डाटा भी बरामद हुआ है।

यह भी देखे:-

 जेनेरिक दवा मुद्दे समेत 22 सूत्रीय मांगों पर अड़े डॉक्टर्स 
बच्चे की मौत के मामले में जांच के आदेश
श्रीराम मित्रमंडल नोएडा रामलीला मंचन : आकाश मार्ग से लगभग 100 फुट उँचाई से पहुँचे हनुमान संजीवनी लेन...
डीएम बी.एन. सिंह ने बीएसएनएल -वायरलेस ब्रांड सेवा का किया शुभारम्भ
सेक्टर ईटा - 1 में स्वच्छता अभियान चलाकर की सैक्टर की सफाई
ग्रेटर नोएडा में बदमाशों ने दो जगह की लूट
यमुना एक्स्प्रेसवे पर बड़ा सड़क हादसा, भीड़ी कई गाडियां, विदेशी पर्यटक की मौत
AUTO EXPO 2018 : पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद अजहरुद्दीन ने AFTEK के 'SCORPION' को किया लॉन्च
ग्रेटर नोएडा पहुंचेंगे डीजीपी ओपी सिंह
बेहतर पुलिसिंग के लिए सामाजिक संस्थाओं का सहयोग जरूरी : धीरेन्द्र सिंह
एनटीपीसी दादरी में हिंदी पखवाड़े का उद्घाटन
एक्सप्रेस वे पर बगैर नंबर के दौड़ रही हैं गाड़ियां, पुलिस बेपरवाह
आईआईएमटी के डॉक्यूमेंट्री कॉन्टेस्ट में विवेक कुमार और विनय सिंह प्रथम रहे
स्थानीय युवाओं को रोजगार मुद्दे पर किसानों को मिला किरोड़ी सिंह बैसला का समर्थन
सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली के सीएमडी समेत तीन निदेशकों को भेजा जेल
गरीब व जरूरतमंदों को शिक्षित करना राष्ट्र की सबसे बडी सेवा है : धीरेन्द्र सिंह