देश में पहली बार “गरीब की जाति” स्वीकार, रास में सवर्ण आरक्षण बिल पारित

सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के प्रावधान वाले ऐतिहासिक संविधान संशोधन विधेयक लोकसभा में पास होने के बाद बुधवार को राज्यसभा में रखा गया जहाँ ये दो तिहाई वोट के साथ पास हुआ. सदन में कुल 172 सदस्‍य मौजूद थे. इसके पक्ष में 165 और विपक्ष में 7 वोट पड़े. संसद के दोनों सदनों से बिल पास हो चुका है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा – बिल पास होना सामाजिक न्याय की जीत है. राज्यसभा से मिले समर्थन से बेहद खुश हूँ. संविधान निर्माता और स्वंत्रता संग्राम सेनानियों को श्रद्धांजलि.

इस दौरान बीजेपी सहित एनडीए के तमाम इस बिल का समर्थन करते हुए समाज की जरूरत बताय. वहीं विपक्षी पार्टियां इस बिल की टाइमिंग और इसके पीछे सरकार की मंशा पर सवाल उठाया.

इससे पहले मंगलवार को लोकसभा में इस आरक्षण विधेयक पर घंटों तक चली बहस के बाद लगभग सभी पार्टियों ने इसका समर्थन किया था. इस बिल के पक्ष में 323 वोट पड़े थे जबकि विपक्ष में महज 3 सदस्यों ने वोट डाला था. हालांकि राज्यसभा में संख्याबल न होने के कारण सरकार के लिए यहां इस बिल को पास कराना मुश्किल माना जा रहा था लेकिन अंत में आखिरकार बिल पारित हो गया . अब बिल को संसद से सीधे राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा. राष्ट्रपति से मंजूरी मिलते ही बिल कानून बन जायेगा.

यह भी देखे:-

साध्वी रेप केस मामले में डेरा सच्चा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दस साल की जेल
HANDICRAFT के 18 उत्पादों पर जीएसटी की दरों में कमी
12 अक्टूबर को शुरू होगा दुनिया का नंबर-1 होम़ सोर्सिंग शोः ईपीसीएच
लालू प्रसाद यादव अब जेल में खिलाएंगे फूल
"पद्मावती" से "पद्मावत" बनने के बावजूद है जारी है महा संग्राम
इच्छामृत्यु पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला
चारा घोटाला के चौथे के में लालू दोषी करार, आरजेडी ने बताया "नरेन्द्र मोदी का खेल ... "
चारा घोटाले में लालू को बड़ी सजा मिलने के बाद राजनैतिक बयानबाजी तेज
कैब मैं छूटा विदेशी महिला का पर्स पुलिस ने कराया बरामद
CBI के 14 अफसरों का तबादले, कांग्रेस ने उठाए बीजेपी पर सवाल
पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव: छात्र जेडीयू ने अध्यक्ष पद किया कब्जा तो एबीवीपी ने अपने नाम कि...
पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड कामरान और गाजी ढेर
मोदी की कार्यवाही से काफी खुश हैं शारदा विश्वविद्यालय के शिक्षक
"अभिनंदन को रिसीव करने जाना मेरे लिए सम्मान की बात" - कैप्टन अमरिंदर
अमरीका ने जनरल सिस्टम ऑफ़ प्रिफरेंसेज़ में से भारत को बाहर करने का किया फ़ैसला
पाकिस्तान की धरती पर सक्रिय नहीं हो सकेगा कोई आतंकी संगठन: प्रधानमंत्री इमरान खान