समूह मंत्री से मिले नेफोमा के पदाधिकारी, प्राधिकरणों की सीबीआई जांच की मांग

ग्रेटर नोएडा : आज ग्रेटर नोएडा गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी में बिल्डर, बॉयर्स और अधिकारियों की पूरे दिन गहमा चलती रही, बॉयर्स की एसोसिएशन नेफोमा टीम ने मुख्यमंत्री द्वारा बनाई गई टीम सतीश महाना, सुरेश खन्ना, सुरेश राणा से मुलाकात कर बॉयर्स की समस्याओं से अवगत कराया और कहा आप चाहे तो समस्या का हल एक सप्ताह मे निकल सकता है जब बायर्स ने 95% पेमेन्ट बिल्डर को दे दी तो पैसा कहा गया, नदी मे तो फ़ैका नही बिल्डर ने, आप बैन्क, बिल्डर और प्राधिकरण को बुला कर एक बार मीटिग करे, ह्मे उम्मीद है आप समस्या का समाधान निकाल लेगे, नेफोमा ने निम्नलिखित मुद्दे लिख कर दिए मंत्री सतीश महाना ने जल्द से जल्द समस्याओं की समाधान करने की बात की।

1. जब तक बिल्डर बायर्स को पोजेशन न दे दे तक बायर्स की बैन्क की किश्त को रुकवाया जाए व ब्याज भी न लिया जाए क्यो कि बायर्स पर दोहरी मार पड रही है एक तरफ़ बायर्स घर का किराया भी दे रहा है और बैन्क की किश्त भी दे रहा है ।

2. बिल्डर बायर्स पर एस्क्रो अकाउन्ट खोलने का दबाब बनाते है जो कि बायर्स के बिल्कुल भी हित मे नही है बायर्स कभी भी एस्क्रो अकाउन्ट की देखरेख नही कर पाएगे, यह सुनिश्चित नही हो पाएगा कि एस्क्रो अकाउन्ट मे असल मे बायर्स है या बिल्डर के ही लोग है ।

3. बिल्डर, बॉयर्स और प्राधिकरण की त्रिपक्षीय मीटिंग का कोई असर बिल्डर पर नही हुआ जितने भी बड़े प्रोजेक्ट जे०पी०, अम्रापाली, अर्थ, शुभकामना, लोजिक्स, वेदान्तम, युनीटेक, एवीजे, सुपरटेक, इन्टेलसिटी, देविका होम्स, आदि सबके बॉयर्स आज भी परेशान है कोई भी लिखित आश्वासन न बिल्डर की तरफ से मिला न प्राधिकरण की तरफ बस मौखिक मीटिंग हो गई, आज भी फ्लेट बॉयर्स सड़को पर प्रदर्शन करने के लिए मजबूर है, पोजेशन देने और उसके लिए काम करने के लिए कोई बिल्डर अपनी जिम्मेदारी नही समझ रहे।

4. बिल्डरों ने प्राधिकरण की मिलीभगत से कहीं नक्शे से अधिक फ्लेट बनाए है कही ग्रीन एरिया खत्म करके अनाधिकृत पार्किंग बेच रहे है और कही सोसायटी में बिना परमिशन की मार्केट बना कर बेच रहे है, जब अधिकारियो से शिकायत करो तो एक अधिकारी से दूसरे अधिकारी तक टालते रहते है

5. रियल एस्टेट बिल रेरा जैसा केन्द्र सरकार ने ड्राफ़्ट किया था वही उ०प्र० मे लागू किया जाए क्योकि कि पिछ्ली सरकार द्वारा बिल्डरो को फ़ायदा पहुचाने केलिए अक्टूबर २०१६ मे कुछ सन्सोधन किया था आप बायर्स के हितो के लिए रेरा को डीनोटीफ़ाई करके लागू करे एव अभी तक प्राधिकरण मे कोई कमेटी न होने के कारण लाखों फ्लेट बॉयर्स को रेरा का कोई फायदा नही मिल रहा, आपसे निवेदन है कि बॉयर्स की समस्याओं को देखते हुए अतिशीघ्र रेरा कमेटी का गठन करें ।

6. बिल्डरो ने बिल्डिंग निर्माण में बहुत ही घटिया सामग्री का निर्माण किया है, आए दिन किसी सोसायटी में छज्जा गिर जाता है किसी मे छत का प्लास्टर गिर जाता है, यह जांच कराना अति आवश्यक है कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है, सरकार यह भी जांच कराए कितनी सोसायटी भूकंप रोधी नियम कानून के तहत है ।

7. नेफ़ोमा सरकार से मांग करती है कि पिछ्ली सरकार में प्राधिकारण में चल रहे बिल्डर और अधिकारियो के बीच के गोरखधंदे प रभ्रष्ट अधिकारियो के खिलाफ जल्द कार्यवाही करें व तीनो प्राधिकरण की सीबीआई जांच कराएं ।

मंत्रीगण टीम से मिलने वालों में आसिम खान, राजीव निझावन, निरंजन सिंह धींगरा, महेंद्र शर्मा आदि रहे।

यह भी देखे:-

देश की अद्भुत होगी ग्रेटर नोएडा की धार्मिक रामलीला, सीएम योगी आदित्यनाथ होंगे मुख्य अतिथि 
गोली मारने वाले पुलिस की गिरफ्त से बाहर, पीड़ित परिवार ने कोतवाली घेरा
पर्यावरणविद की शिकायत पर औचक निरीक्षण , जल प्रदूषण करती दो पकड़ी गई दो फैक्ट्री
ग्रेटर नोएडा में तीन दिवसीय जैविक कृषि विश्व कुम्भ 2017 का शुभारम्भ
ग्रेटर नोएडा : 15 फरवरी को जिला सेवायोजन कार्यालय में होगा रोजगार मेले का आयोजन
विनय शर्मा बने बीकेयू के ब्लॉक मीडिया प्रभारी
यमुना एक्सप्रेसवे : 30 फीट नीचे गिरी कार, मेडिकल के 3 छात्र घायल
वकील पिटाई मामले में दर्ज हुआ मुकदमा, कोर्ट में हड़ताल ख़त्म
जेवर एयरपोर्ट के कार्य में तेजी लाने के निर्देश, पढ़ें पूरी खबर
टेक्नीशियन के कौशल को निखारने के लिए यामहा मोटर्स द्वारा ग्रैंड प्रिक्स का आयोजन
वाटर प्लांट में कम्प्रेशर फटा, युवती की मौत
News Flash : कैंटर-ऑटो की टक्कर में सात घायल
नकल विहीन बोर्ड परीक्षा होगी संपन्न : डीएम बी.एन. सिंह
सीईओ नरेंद्र भूषण ने ग्रेनो वेस्ट का किया दौरा कर दिया ये दिशा- निर्देश , पढ़ें पूरी खबर
शारदा विश्वविधालय के विभिन्य संकायों द्वार बजट से सम्बंधित कार्यक्रम आयोजित
ग्रेटर नोएडा : आबकारी विभाग ने शराब की बड़ी खेप पकड़ी