आज है मिथुन संक्रांति, ऐसे करें पूजन, लक्ष्मी का होगा वास

आज मिथुन संक्रांति है। मालूम हो साल में 12 संक्रांति होती हैं । जिसमे सूर्य अलग-अलग राशि और नक्षत्र पर विराजमान होता है। मिथुन संक्रांति के उपलक्ष्य में दान-दक्षिणा और पूजा-पाठ का विशेष महत्‍व होता है। मिथुन संक्रांति का अपना अलग महत्त्व है। इसके बाद से ही वर्षा ऋतु का आगमन हो जाता है। वैदिक ज्योतिष के मुताबिक सूर्य के मिथुन राशि में जाने पर मेष, सिंह, कन्या और मकर राशि वालों को अच्छी सूचनाएं मिलेगी व पैसा मिलेगा।
जानिए पूजन विधि(WORSHIP METHOD)

आज के दिन सिलबट्टे की भूदेवी के रूप में पूजा की जाती है। दूध और पानी से इसका स्‍नान कराया जाता है। इसके बाद चंदन, सिंदूर, फूल व हल्‍दी चढ़ाते हैं। पूजा के बाद पंडितों और गरीबों को दान दक्षिणा दिया जाता है। संक्रांति के दिन घर के पूर्वजों को श्रद्धांजलि भी दी जाती है। इस दिन विशेष रूप से पोड़ा-पीठा नाम की मिठाई बनाई जाती है। यह गुड़, नारियल, चावल के आटे व घी से बनती है। इस दिन चावल नहीं खाया जाता है। इस पूजन विधि से पूजा करने से घर में धन, सुख, शांति आती है।

यह भी देखे:-

रोलर स्केटिंग काँवर टीम ने किया जलाभिषेक, गंगा बचाओ, गौ- रक्षा का दिया सन्देश
लंकेश्वर रावण कावंड ग्रुप ने बिरखधाम में किया शिव जी का जलाभिषेक : सावन में शिवरात्रि का है विशेष मह...
जानिए, ग्रेटर नोएडा में यहाँ हुई भगवान गणपति के प्रतिमा की स्थापना
उर्स मेले में सजी कव्वाल-ए-महफ़िल
ग्रेटर नोएडा : विधि विधान से पूजे गए देव शिल्पी विश्वकर्मा, आज शाम भोजपुरी कलाकार बिखेरेंगे जलवा
सूरजपुर बाराही सरोवर में हज़ारों छठ व्रतियों ने डूबते सूर्य को दिया अर्ध्य
नोएडा स्टेडियम में सबसे बड़ी छठ पूजा का आयोजन , हज़ारों व्रतियों ने डूबते सूर्य को दिया अर्ध्य
ग्रेटर नोएडा : क्रिसमस पर सेंट जॉसेफ चर्च में हुई विशेष प्रार्थना सभा
17 मार्च को शनि अमावस्या पर्व का आयोजन, श्री सिद्ध पीठ शनि मंदिर में किये गये विशेष प्रबंध
गुरु पूर्णिमा : श्री धार्मिक रामलीला कमेटी ने किया महायज्ञ का आयोजन
शिवरात्रि पर्व पर मंदिरों में किया भक्तों ने जलाभिषेक
जीएनआईटी (आई.पी.यू. ) में विश्वकर्मा दिवस मनाया गया
ग्रेटर नोएडा से धूम- धाम से मनाया गया राधाष्टमी
बाबरी विध्‍वंस की 26वीं बरसी पर सुरक्षा चाकचौबंद, VHP मना रही शौर्य दिवस
मकर संक्रांति पर हिंदू युवा वाहिनी ने किया खिचड़ी वितरण
भारतीय पर्व आयोजन समिति द्वारा मकर संक्रांति उत्सव का आयोजन