लंकेश्वर रावण कावंड ग्रुप ने बिरखधाम में किया शिव जी का जलाभिषेक : सावन में शिवरात्रि का है विशेष महत्व : आचार्य अशोकनद जी महाराज

ग्रेटर नोएडा : बिसरख धाम के लंकेश्वर रावण ग्रुप के 100 युवाओं ने हरिद्वार से जल ले कर विशाल संगीतमय कांवड़ यात्रा सम्पूर्ण की। यात्रा की देख-रेख, रामवीर शर्मा, श्री कमल नेता जी , श्री मितिन भाटी संजय भाटी ने किया ।

बिसरख धाम में अष्ठभुजी शिवलिंग पर सभी कावड़ियों ने जलाभिषेक किया। इस मौके पर आस- पास के क्षेत्र से बड़ी संख्या में शिव भक्तों ने जलाभिषेक किया। विशाल भंडारे का आयोजन किया गया, समस्त ग्राम वासियों ने बढ़ चढ़ कर सेवा प्रदान की । पूरा बिसरख धाम शिवमय हो गया ।

बिसरख धाम के पीठाधीश्वर आचार्य अशोकानंद जी महाराज ने सभी कावड़ियों का स्वागत करते हुए कहा स दिन शिव का जलाभिषेक करने से मनुष्य की हर मनोकामना पूरी होती है। शिवपुराण में शिवरात्रि पर जलाभिषेक का महत्व का वर्णन किया गया है। मान्यता है कि कांवड़िए इस दिन गंगाजल लाकर शिवजी का जलाभिषेक करते हैं। इस शुभ मुहुर्त में पूजा करने से सारे कष्टों से भगवान शिव मुक्ति दिलाते हैं। आचार्य अशोकानंद ने समस्त बिसरख धाम निवासियों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा बिसरख धाम बहुत जल्द पर्यटक स्थल बनेगा और विश्व मे पहचान बनाएगा।

यह भी देखे:-

आज है मिथुन संक्रांति, ऐसे करें पूजन, लक्ष्मी का होगा वास
भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली
ग्रेटर नोएडा :  ईद पर अमन, चैन और खुशहाली की मांगी दुआ
सालों बाद आया अद्भुत संयोग, सोमवार से शुरू होकर सोमवार को ही ख़त्म होगा श्रावण
रोलर स्केटिंग काँवर टीम ने किया जलाभिषेक, गंगा बचाओ, गौ- रक्षा का दिया सन्देश
शिवरात्रि पर माता वैष्णो देवी मंदिर में कावड़ियों ने किया शिव का जलाभिषेक
कौमी एकता की मिसाल बना दादरी : मुस्लिम समुदाय के लोगों ने किया कावड़ियों का स्वागत
13 घंटे में हरिद्वार से गंगा जल लेकर लौटी डेरी स्कनर डाक कावड़ टीम
दनकौर की श्रीमद्भागवत कथा में श्रद्धालु उमड़े
जहांगीरपुर कस्बे में धूमधाम से निकली भगवान श्रीकृष्ण की झांकी
एडुकोहाट में भव्य दही-हांडी प्रतियोगिता का हुआ आयोजन
गणेश चतुर्थी 2017 : जानिए पूजन मुहूर्त,सामग्री, विधी, आरती
गणेश महोत्सव गामा 2 में भक्तों ने गाए भजन-कीर्तन, 3 सितम्बर को भंडारा
ग्रेटर नोएडा : दनकौर,जेवर, दादरी के ईदगाहों में अदा की गई ईद-उल-अजहा की नमाज
उर्स मेले में सजी कव्वाल-ए-महफ़िल
जानिए, नवरात्र 2017 में माँ दुर्गा का पूजा करने व कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त