केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने हस्तशिल्प निर्यात पुरस्कार प्रदान किये

नई दिल्ली/ग्रेटर नोएडा: केंद्रीय कपड़ा मंत्री श्रीमति स्मृति जुबिन ईरानी ने ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर ऐंड मार्ट में आयोजित एक रंगारंग कार्यक्रममें साल 2015-16 और 2016-17के दौरान निर्यात में उतकृष्ट प्रदर्शन के लिए हस्तशिल्प निर्यातकों को निर्यात पुरस्कार वितरित किए.

माननीय केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री श्री अजय टमटा गेस्ट ऑफ ऑनर थे, साथ ही इस अवसर पर हस्तशिल्प विकास आयुक्त श्री शांतमनु भी मौजूद रहे.Dr. Mahesh Sharma, Minister of State for Tourism & Culture [I/C] and Environment, Forests and Climate Change and Dr. Narendra Bhushan, CEO, GNIDA were present during the award ceremony.

निर्यात पुरस्कार समारोह के दौरान ईपीसीएच के अध्यक्ष ओ. पी. प्रह्लादका, ईपीसीएच के कार्यकारी निदेशक और आईईएमएल के चेयरमैन श्री राकेश कुमार, ईपीसीएच की प्रशासन समिति के सदस्य, निर्यात उद्योग के दिग्गज, सरकारी कर्मचारी, प्रेस और मीडिया भी मौजूद थे.

पुरस्कार प्रदान करने के बाद माननीय कपड़ा मंत्री श्रीमति स्मृति जुबिन ईरानी ने उपस्थित लोगों को संबोधित किया कहा कि निर्यात पुरस्कार हमेशा इससे जुड़े लोगों को बेहतर से और बेहतर करने की और आगामी वर्षों में वृद्धि हासिल करने के लिए और भी कठिन प्रयास करने की और दूसरों को अगले वर्ष यह पुरस्कार जीतने के लिए और अतिरिक्त कोशिशें करने की प्रेरणा देते हैं.

मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि यह स्वस्थ प्रतिस्पर्धा न केवल व्यक्तिगत स्तर पर चल रही है बल्कि देश के लिए विदेशी मुद्रा का आय बढ़ाने का भी मार्ग प्रशस्त करती (रास्ता खोलती) है, जिसके चलते लाखों कारीगरों और शिल्पकारों के प्रतिभाशाली हाथों की ब्रांड इमेज बनती है, जो इस क्षेत्र के आधार हैं और देश के विभिन्न शिल्प समूहों में काम में लगे हुए हैं.

श्रीमति स्मृति ईरानी ने इस क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ होने और अपनी स्थापना के बाद से शिल्प समूहों में आधारभूत सुविधाओं की स्थापना में, भारतीय हस्तनिर्मित शिल्पों की दुनिया भर में ब्रांड इमेज बनाने में, खरीद समुदायों की मांग के अनुरूप नए डिजाइन और स्टाइल विकसित करने के लिए निर्यातकों की मदद करने में, दुनिया के सबसे बड़े हस्तशिल्प मेले, यानी आईएचजीएफ-दिल्ली मेले, का साल में दो बार आयोजन करने जैसे उत्कृष्ट कार्यों के लिए ईपीसीएच की सराहना की जिससे निर्यात में वृद्धि हो रही है, जो 1986-87 में 387 करोड़ रुपये था वो निर्यात 2017-18 में अब 23029.36 करोड़ रुपये पर जा पहुंचा है.

Hon’ble Minister also appreciated EPCH for starting diploma course for the children of the artisans working in the handicraft sector and urged EPCH to start award for those exporters who help the artisans in need and also contribute socially and upliftment of them. Smt. Smriti also shown her pleasure to know that during Ambiente 2019, India will be partner country. Hon’ble Minister also appreciated the efforts for contributing towards the education of girl child of laporacy affected families.

केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री श्री अजय टमटा ने कहा कि कपड़ा मंत्रालय पूरी दृढ़ता के साथ हस्तशिल्प क्षेत्र के पीछे है और नीतिगत पहल और दिए जा रहे प्रोत्साहनों के संदर्भ में अपना समर्थन प्रदान करता है.

टमटा ने उम्मीद जताई कि हस्तशिल्प निर्यातकों, हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद के प्रयासों और मंत्रालय से मिल रहे समर्थन के परिणामस्वरूप आने वाले समय में इस क्षेत्र में काफी अच्छी वृद्धि देखने को मिलेगी.
हस्तशिल्प निर्यात में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए कुल 136 निर्यातकों को निर्यात पुरस्कार, वर्ष 2015-16 के लिए 70 पुरस्कार और 2016-17 के लिए 66 पुरस्कार, समारोह के दौरान वितरित किए गए.

136 पुरस्कारों में से, 54 ट्रॉफियां (हैट्रिक्स समेत), 69 मेरिट सर्टिफिकेट और 13 प्लैटिनम पुरस्कार प्रत्येक उत्पाद वर्ग, जैसे कि आर्टमेटेलवेयर, ईपीएनएस हस्तशिल्प, वुडवेयर, ज़री हस्तशिल्प, फीता, लेस एवं कढ़ाई, इंडिया आइटम्स, वस्त्र आधारित हस्तशिल्प, फैशन जूलरी, मार्बल ऐलबेस्टर एवं शिल्प क्रैफ्टेड स्टोन, पेपरमेशी, लौह शिल्प, जूट हस्तशिल्प, कांच, आर्टवेयर, सिरेमिक आर्टवेयर, एल्युमीनियम आर्टवेयर, हस्तशिल्प के रूप में अगरबत्ती, हस्तनिर्मित कागजी उत्पादों के हस्तशिल्प, चमड़े के हस्तशिल्प, इको फ्रेंडली हस्तशिल्प, आर्टवेयर के रूप में शॉल, स्मोकिंग एक्सेसरीज और विविध हस्तशिल्प, में दिये गये.


DELHI NCR -SMT. SMRITI ZUBIN IRANI, HON’BLE UNION MINISTER OF TEXTILES GAVE AWAY HANDICRAFTS EXPORT AWARDS
सभी हस्तशिल्पों के लिए शीर्ष निर्यात पुरस्कार साल 2015-16 और 2016-17 के लिए मुरादाबाद के सी.एल. गुप्ता एक्सपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड को मिला और Ajay Kumar Gupta, ने पुरस्कार ग्रहण किया.


DELHI NCR -SMT. SMRITI ZUBIN IRANI, HON’BLE UNION MINISTER OF TEXTILES GAVE AWAY HANDICRAFTS EXPORT AWARDS
सी.एल. गुप्ता प्राइवेट लिमिटेड ने 2015-16 के लिए ग्लास आर्टवेयर में सर्वाधिक निर्यात को लेकर दूसरे स्थान पर रहने के लिए और 2016-17 के दौरान मार्बल ऐसबेस्टर एवं क्राफ्टेड स्टोन के निर्यात में उत्कृष्ट वृद्धि के लिए मेरिट सर्टिफिकेट भी प्राप्त किया.


DELHI NCR -SMT. SMRITI ZUBIN IRANI, HON’BLE UNION MINISTER OF TEXTILES GAVE AWAY HANDICRAFTS EXPORT AWARDS
भारतीय हस्तशिल्प क्षेत्र के संवर्धन में उत्कृष्ट योगदान और लोगों के स्वास्थ्य और अन्य कारणों के लिए मुरादाबाद मेगा क्लस्टर में समाज सेवाओं में अपने योगदान के लिए मुरादाबाद के नोडी एक्सपोर्ट के श्री विनोद खन्ना को लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार प्रदान किया गया.


DELHI NCR -SMT. SMRITI ZUBIN IRANI, HON’BLE UNION MINISTER OF TEXTILES GAVE AWAY HANDICRAFTS EXPORT AWARDS
भारतीय हस्तशिल्प क्षेत्र में उनके सेवाओं की पहचान करते हुए स्पेशल प्रिंसिपल चीफ कंज़र्वेटर ऑफ फॉरेस्ट आईएफएस डॉ. ए.एम. सिंह


DELHI NCR -SMT. SMRITI ZUBIN IRANI, HON’BLE UNION MINISTER OF TEXTILES GAVE AWAY HANDICRAFTS EXPORT AWARDS
मुरादाबाद हैंडिक्राफ्ट्स ऑफ इंडिया के श्री नजमुल इस्लाम


DELHI NCR -SMT. SMRITI ZUBIN IRANI, HON’BLE UNION MINISTER OF TEXTILES GAVE AWAY HANDICRAFTS EXPORT AWARDS
ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान की सुश्री रुमा देवी को विशेष प्रसस्ति पत्र प्रदान किये गये.


DELHI NCR -SMT. SMRITI ZUBIN IRANI, HON’BLE UNION MINISTER OF TEXTILES GAVE AWAY HANDICRAFTS EXPORT AWARDS
दिव्य प्रेम सेवा मिशन, हरिद्वार में कुष्ठ रोग से ग्रसित लोगों के बच्चों की शिक्षा की दिशा में अपनी सेवाएं प्रदान करता है. परिषद ने अपने सीएसआर पहल के तहत दिव्य प्रेम सेवा मिशन के इस महान कार्य में 11 लाख रुपये का योगदान दिया है. दिव्य प्रेम सेवा मिशन की तरफ से श्री अजय गौतम ने चेक प्राप्त किया.

साल 2015-16 और 2016-17 के पुरस्कार विजेताओं का विवरण विज्ञप्ति के साथ संलग्न है.
केंद्रीय कपड़ा मंत्री और केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री दोनों ने ही भारत सरकार की तरफ से सभी सहायता और मार्गदर्शन के साथ साथ हस्तशिल्प क्षेत्र के लिए नीतिगत पहल और प्रोत्साहनों के संदर्भ में अपना समर्थन देने का आश्वासन दिया ताकि शिल्पकार समुदाय के हित को देखते हुए इस क्षेत्र में उच्च वृद्धि प्राप्त हो सके और साथ ही रोजगार भी उत्पन्न हो.
ईपीसीएच के अध्यक्ष श्री ओ. पी. प्रह्लादका ने कहा कि नए और उभरते बाजारों को तलाश करने की दिशा में परिषद ने हाल ही में नाइजीरिया और लागोस के पश्चिम अफ्रीकी बाजारों में एक शो में भाग लिया. अब, हम लागोस के विभिन्न उद्योग संघों/चेंबर्स में प्रेजेंटेशन दे रहे हैं ताकि नाइजीरिया के खरीद समुदाय को होम, लाइफस्टाइल, फैशन, फर्नीचर और टेक्सटाइल के भारतीय उत्पादों में से अपनी जरूरतों को स्रोत करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके.

ईपीसीएच के कार्यकारी निदेशक श्री राकेश कुमार ने बताया, “वर्ष 2015-16 के दौरान हस्तशिल्प निर्यात 21,557.12 करोड़ रुपये था जो 2016-17 में 24,392.39 करोड़ रुपये हो गया, इसमें रुपये के संदर्भ में 13.15% की और डॉलर के संदर्भ में 10.52% की कुल वृद्धि हुई. 2018-19 के अप्रैल-नवंबर के दौरान ही हस्तशिल्प का निर्यात 16,825.75 करोड़ रुपये तक चला गया है. वर्तमान वित्त वर्ष के पहले आठ महीनों में निर्यात के वर्तमान परिदृश्य के साथ, हम न केवल अपना लक्ष्य प्राप्त कर लेंगे बल्कि इस निर्धारित (3800 मिलियन अमरीकी डॉलर) लक्ष्य से भी बेहतर परिणाम देंगे.”
उन्होंने नरसापुर, जोधपुर और बाड़मेर के शिल्प समूहों में कौशल विकास के क्षेत्र में परिषद की पहल के बारे में और विस्तार से बताया और कारीगरों और उनके परिवार के स्वास्थ्य और शिक्षा की योजनाओं के माध्यम से कारीगरों के कल्याण की दिशा में परिषद की पहल पर जोर दिया.

यह भी देखे:-

जर्मन एजेंसियों के रडार पर था बर्लिन का हमलावर
नहीं रहे भारत के मशहूर वैज्ञानिक प्रो. यशपाल
सुप्रीम कोर्ट पहुंचा प्रद्युम्न का परिवार, सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा, केंद्र सरकार और CBI को भेजा न...
दस हज़ार भीड़ के बीच दस लोगों को लटका दिया गया फांसी पर
लालू प्रसाद यादव अब जेल में खिलाएंगे फूल
नियमों का हवाला देकर मैच में जो हुआ उसपर हंसा जाए या नाराज़ हुआ जाए
पत्नी के गंभीर आरोप पर क्रिकेटर मोहम्मद शमी ने दी ये सफाई
SP-BSP गठबंधन: मायावती बोलीं-'गुरू-चेला की नींद उड़ जाएगी
अखिल भारतीय मिथिला राज्य संघर्ष समिति का जंतर मंतर पर विशाल धरना एवं प्रदर्शन
जनकल्याण के हिसाब से बजट अभूतपूर्व है : गोपाल कृष्ण अग्रवाल
सीआरपीएफ के 18 जवान शहीद, आईईडी से लैस कार में सवार था जैश का आतंकी
'पाकिस्तान मुर्दाबाद...' नारे लगाने पर मिल रही है चिकन लेग पीस पर 10 रुपये की छूट
DELHI एयरपोर्ट पर कारतूस के साथ पकड़े गए RJD विधायक
"अभिनंदन को रिसीव करने जाना मेरे लिए सम्मान की बात" - कैप्टन अमरिंदर
ममता बनर्जी ने मांगे पाक के ख़िलाफ़ सेना की #AirStrike के सबूत
भाजपा 18 मार्च को जारी कर सकती है प्रत्याशियों की पहली सूची