कोर्ट ने पुलिस के खिलाफ याचिका की ख़ारिज , बहुचर्चित जेवर काण्ड के आरोपियों के परिजनों ने लगाया था फर्जी फंसाने का आरोप

ग्रेटर नोएडा : एसएसपी गौतमबुध नगर के खिलाफ दायर की गई याचिका को जिला कोर्ट ने खारिज कर दिया। 24 जुलाई को जेवर कांड के आरोपियों के परिजनों ने पुलिस पर आरोपियों को फर्जी फंसाने का आरोप लगाकर मामले में दुबारा जांच करने की मांग की थी। कोर्ट ने आरोपियों के परिजनों की तरफ से दायर 156/3 की दोनों याचिका को खारिज करते हुए आरोपियों को न्यायिक हिरासत में रखने का फैसला दिया हैं।

सूरजपुर स्थित जिला कोर्ट में जेवर कांड के आरोपियों के परिजनों ने एसएसपी समेत जेवर कांड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम के खिलाफ 156/3 के तहत मामला दर्ज किया था। कोर्ट में परिजनों ने दायर याचिका में पुलिस पार्टी पर आरोप लगाया कि पुलिस ने जेवर कांड में फंसे आरोपियों को फर्जी फंसाया गया हैं। जेवर मामले के दोषी लोगो के परिजनों ने 24 जुलाई को कोर्ट में याचिका दायर की थी। जिला कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए जेवर कांड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम पर लगाए हुए आरोपियों को फर्जी फंसाने में लगाया हुआ आरोप गलत हैं। कोर्ट ने इस मामले में दोनों याचिका को खारिज कर दिया। गौरतलब हैं कि पुलिस ने जेवर गैंगरेप कांड का खुलासा कर बावरिया गैंग के चार बदमाशों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था। इनमें एक बदमाश को गोली लगी थी। इस मामले में सोमवार को दो आरोपियों राकेश और दीपक के परिजनों ने कोर्ट में एसएसपी, एसपी सिटी और जेल अधीक्षक समेत 17 पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की थी। कोर्ट ने सुनवाई के लिए 4 अगस्त की तारीख दी थी लेकिन तारिख आगे की मिलने के कारण 21 अगस्त में फैसला किया गया। जेवर मामले के मुख्य आरोपी अशोक उर्फ राजू की पत्नी कुसुम ने जेवर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक राजपाल सिंह तोमर, उप प्रभारी निरीक्षक वीरपाल सिंह सोलंकी, उप प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार समेत जेवर कोतवाली के 15 पुलिसकर्मियों को आरोपी बनाते हुए कोर्ट में 156/3 के तहत याचिका दायर की थी। आरोपी राकेश की मां संतोष के वकील बलराज भाटी ने बताया कि कोर्ट ने सुनवाई के बाद प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया हैं।

एसएसपी लव कुमार ने बताया कि बहुचर्चित जेवर कांड का पुलिस की टीम ने सही खुलासा किया गया था और आरोपियों के पास से पीडित पक्ष का सारा सामान बरामद भी किया था। आरोपी पक्ष के परिजन कोर्ट में गलत तथ्यों को रखकर आरोपियों की रिहाई करवाने की कोशिश कर रहे थे।

यह भी देखे:-

आखिर क्यों भड़क उठे ग्रेनो प्राधिकरण में बैठक करने गए बायर्स , पढ़ें
मजदूरों के अधिकारों का हनन नहीं होने देंगे - सतीश कनारसी , किसान कामगार मोर्चा संगठन
अधिशासी अधिकारी को दी भावभिनी विदाई
जे. पी. एस रावत तीसरी बार उत्तराखण्ड सांस्कृतिक समिति ग्रेनो के निर्विरोध अध्यक्ष  निर्वाचित 
हरी झंडी दिखाकर  डीएम बी.एन. सिंह ने कॉल 181 महिला हैल्पलाईन वाहन को  किया रवाना 
गलत दिशा में वाहन न चलाने के लिए बांटा पम्पलेट
ईस्टर्न पेरीफेरल के किसानों ने किया पैदल मार्च
बिसरख में तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला एवं प्रदर्शनी शुरू
धूमधाम से मनाई गई गुर्जर सम्राट मिहिर भोज जयंती
दादरी : अन्त्योदय मेला में लोगों ने सरकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर उठाया लाभ
होम बायर्स के हक में यूपी सरकार की पहल स्वागत योग्य - नेफोवा, उठाये चंद सवाल
मानदेय मुद्दे पर अर्धनग्न प्रदर्शन कर शिक्षामित्रों ने जताया विरोध
इण्डिया यामहा में रोटरी क्लब द्वारारक्तदान शिविर आयोजित
बाल अधिकार एवं संरक्षण की प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित
सूखते पेड़ों को सींचने में लगी एक्टिव सिटिज़न टीम
इन जगहों पर बनाया जा रहा है आधार कार्ड