फरार विदेशी में से तीन पकड़े गए , बाकियों की तलाश जारी

ग्रेटर नोएडा। बीती रात सूरजपुर स्थित पुलिस लाइन से रात कमरे की खिड़की तोड़कर फरार हुए अफ्रीकी मूल के 20 नागरिकों में से तीन को पुलिस ने धर दबोचा। बाकी आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस टीमें गठित कर दी गई हैं, जो संदिग्ध स्थानों पर दबिश दे रही हैं। मामले की जांच एसपी सिटी नोएडा को सौंपी गई है। विदेशी नागरिकों के पुलिस हिरासत से फरार होने पर सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं। एसएसपी का कहना है कि जांच में जिसकी भी लापरवाही पाई जाएगी, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। तीस विदेशी नागरिक अभी भी हिरासत में हैं। घटना के बाद से पुलिस का पहरा बढ़ा दिया गया है।

बता दें कि गौतमबुद्धनगर पुलिस द्वारा बुधवार को ‘ऑपरेशन क्लीन-10’ अभियान चलाया गया था। इसके अंतर्गत पुलिस एवं एलआइयू की संयुक्त टीमों ने ग्रेटर नोएडा में रह रहे विदेशी मूल के नागरिकों का सत्यापन किया था। पुलिस ने बिना पासपोर्ट वीजा, फर्जी वीजा व वीजा एक्सपायर होने के बाद भी यहां अवैध रूप से रह रहे नाइजीरिया, केन्या, तंजानिया, जाम्बिया, आईवरी कोस्ट व अंगोला मूल के 60 नागरिकों को हिरासत में लिया था। सभी को सूरजपुर स्थित पुलिस लाइन में रखा गया था। वृहस्पतिवार रात कमरे की खिड़की तोड़कर 20 नागरिक अचानक पुलिस हिरासत से फरार हो गए। इसकी जानकारी होने पर पुलिस में हड़कंप मच गया। एसएसवी वैभव कृष्ण व अन्य अधिकारी पुलिस लाइन पहुंचे और निरीक्षण किया। सूरजपुर, बिसरख, बीटा-टू, दादरी, ईकोटेक-तीन सहित कई थानों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने तलाश शुरु कर दी। एसएसपी ने बताया कि पुलिस हिरासत से फरार हुए तीन विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार कर लिया गया है, शेष 17 नागरिकों की तलाश की जा रही है। पुलिस की तीन टीमें गठित कर दी गई हैं। फरार आरोपियों में सभी पुरुष हैं। उन्होंने बताया कि इन सभी के पास पासपोर्ट व वीजा नहीं था। पुलिस सभी को डिपोर्ट करने की तैयारी कर रही थी। एसएसपी ने बताया कि 30 विदेशी नागरिक अभी भी हिरासत में हैं,इनमें 19 पुरुष व 11 महिलाएं हैं।

पुलिस ने 12 विदेशियों को छोड़ा, एक को भेजा गया जेल- ‘ऑपरेशन क्लीन-10’ के अंतर्गत पुलिस हिरासत में लिए गए 60 विदेशी नागरिकों में से 12 को छोड़ दिया गया है। जांच में इन सभी के कागज सही पाए गए हैं। दो लोगों पर हत्या का मुकदमा चल रहा है, इसलिए उनके कागज जमा हैं। पुलिस ने एक महिला को गांजा तस्करी के आरोप में जेल भेज दिया है। अभियान के दौरान महिला के कब्जे से 3.5 किलो गांजा बरामद किया गया था। एसएसपी ने बताया कि जिन 12 नागरिकों को छोड़ा गया हैं, उन्होंने अपना ट्रेवल वीजा किसी और के पास रख दिया था। अभियान के दौरान पासपोर्ट वीजा नहीं दिखा पाए थे, इसलिए पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। एसएसपी ने बताया कि 12 लोगों में दो लोग ऐसे भी हैं, जिन पर हत्या का मुकदमा चल रहा है। दोनों का पासपोर्ट वीजा कोर्ट में जमा है।

लापरवाही उजागर होने पर मुस्तैदी दिखाने लगा खुफिया विभाग , सत्यापन करने पर बिना वीजा पासपोर्ट के और मिल सकते हैं विदेशी — शहर में बिना पासपोर्ट व वीजा के रह रहे विदेशी नागरिकों के पकड़े जाने से एलआईयू (लोकल इंटेलीजेंस यूनिट) के अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही उजागर हो रही है। एसएसपी ने भी इसे स्वीकार किया है। इसके बाद से एलआईयू के अधिकारी व कर्मचारी अब सक्रिय हो गए हैं। शहर में रह रहे विदेशी नागरिकों के बारे में जानकारी जुटाना शुरु कर दिया है।
एफआरओ (फॉरेन रजिस्ट्रेशन ऑफिस) से संपर्क किया जा रहा है। सही तरीके से सत्यापन अभियान चलाने पर बिना वीजा पासपोर्ट के और विदेशी पकड़े जा सकते हैं।

यह भी देखे:-

जहांगीरपुर में पागल कुत्ते के काटने से मासूम की मौत
दादरी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन बदमाश
हिंडन नदी को निर्मल बनाने के लिए मेरठ कमिश्नर प्रभात कुमार ने की पहल, 1000 पौधरोपण किया गया , सामाज...
प्रशासन सख्त , अवैध खनन करते चार गिरफ्तार
कोल्ड ड्रिंक में मिलाकर महिला को पिलाया नशा, फिर दोस्तों संग मिलकर किया…
" नरेन्द्र से नरेन्द्र तक-एक दिशा बोध" विषय पर विचार गोष्ठी, राष्ट्रीय लोकाधिकार संगठन ने ...
गौरक्षा दल के अध्यक्ष को गिरफ्तार कर भेजा जेल
ट्रेन की चपेट में आकर युवक की मौत
कैब बुक कराकर बदमाशों ने लूटी कार
लखन भाटी बने हिन्दू युवा वाहिनी के प्रदेश उपाध्यक्ष
NewsFlash : पुलिस एनकाउंटर में दो ईनामी बदमाश घायल
ग्रेनो में अनजान से लिफ्ट लेना पड़ सकता है महंगा, कैसे ? पढ़ें पूरी खबर
जेवर एयरपोर्ट का भूमि पूजन मार्च 2019 के पहले सप्ताह में संभव
ग्रेटर नोएडा : सपा कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित
गरेटर नोएडा : फ्लैट में मृत मिला मैनेजर
डिजिटल इंडिया को चुनौती देता ग्रेनो प्राधिकरण