शारदा विश्विद्यालय में महावीर जयंती , णमोकार शब्द में ही जैन धर्म का मूल मंत्र छिपा है : पी.के. गुप्ता

ग्रेटर नोएडा : शारदा विश्वविद्यालय में आज महावीर जयंती के पूर्व दिवस के उपलक्ष्य पर कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। विभिन्न संकायों ने अलग अलग भगवान महावीर से संबंधित कार्यक्रमों को आयोजित करते हुए उनके जीवन पर प्रकाश डाला। मुख्य कार्यक्रम विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित किया गया जिसमें चांसलर, प्रो चांसलर, डीन, तथा विभिन्न संकायों के विभागाध्यक्ष, निदेशक, कुलसचिव सहित सैंकड़ों छात्रों ने भाग लिया। चांसलर पी के गुप्ता ने संबोधित करते हुए णमोकार का शाब्दिक अर्थ के साथ साथ भावनात्मक अर्थ भी समझाया। णमोकार शब्द में ही जैन धर्म का मूल मंत्र छिपा है। प्रो चांसलर वाई के गुप्ता ने कहा कि जैन धर्म सभी धर्मों में सबसे पवित्र एवं अहिंसावादी है। शारदा विश्वविद्यालय जैन धर्म को मानते हुए अन्य धर्मों का भी उचित सम्मान करती है। जैन मुनि बोलने के पहले मुंह पर कपड़ा रखते है कि कोई बैक्टीरिया तक ना चला जाए। अहिंसा का यह सर्वोच्च उदाहरण है। शारदा विश्वविद्यालय में भगवान महावीर जैन धर्म के चौबीसवें तीर्थंकर हैं।

यह भी देखे:-

गौरक्षा समिति ने ग्रेटर नोएडा में किया संगठन का विस्तार
ग्रेटर नोएडा में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को अनिवार्य रूप से लागू करे प्राधिकरण : गोल्डन फेड...
" नरेन्द्र से नरेन्द्र तक-एक दिशा बोध" विषय पर विचार गोष्ठी, राष्ट्रीय लोकाधिकार संगठन ने ...
सूखते पेड़ों को सींचने में लगी एक्टिव सिटिज़न टीम
जेवर विधायक और यमुना प्राधिकरण के सीईओ ने पेश किया विकास का खाका
दरोगा की इस हरकत पर पब्लिक गई भड़क और लगा दिया जाम
भारतीय नवर्ष स्वागत मेला "उमंग" के माध्यम से बच्चों को दिया जायेगा भारतीय संस्कृति का ज्ञा...
होम बायर्स पर नेफोवा की प्रभारी मंत्री से मुलाकात, सरकार की अबतक की पहल को बताया असंतोष जनक
भारतीय योग संस्थान के संस्थापक प्रकाश लाल की मनाई गई नौंवी पुण्यतिथि
किसानों की मांग को लेकर निकली तिरंगा रैली
स्कूली छात्रों ने निकाला स्वच्छ भारत अभियान रैली
"मेरे कहने का मतलब गलत निकाला जा रहा है" - महेश शर्मा
करंट के झटके से तीन मजदूर झुलसे एक की मौत
प्रेसिडेंट-सेक्रेटरी के बीच कहासुनी, बीच बचाव करने आए शख्स की हो गई पिटाई, मुकदमा दर्ज
अखण्ड भारत की यात्रा पर निकले बाइकर्स का ग्रेटर नोएडा में स्वागत
विधि विधान के साथ हुई देव शिल्पी विश्वकर्मा की पूजा