एटीएम बूथ से लाखों की लूट करने वाले बदमाश गिरफ्तार

नोएडा : बीते दिनों सेक्टर-82 में एटीएम बूथ से लूटे गए 40 लाख रुपये सड़क पर बिखेर कर भीड़ के बीच से आठ लाख रुपये लेकर दो बदमाश फरार हो गए थे। पुलिस को जांच के आधार पर आशंका है कि सड़क पर बिखरी रकम में करीब 12 लाख रुपये राहगीर लेकर चलते बने हैं। रविवार रात आपरेशन घेराबंदी में कुलेसरा बार्डर के पास से फेज दो पुलिस ने इस लूटकांड का मुख्य आरोपी गजेन्द्र व अनिल को गिरफ्तार किया। ऑपरेशन घेराबंदी में गिरफ्तारी के दौरान आरोपी गजेन्द्र भागने लगा और पुस्ते से सीधे नीचे कूद गया। इसमें वो घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि 19 फरवरी को केन्द्रीय विहार स्थित एसबीआइ के एटीएम में कैश अपलोड करने के दौरान हुई 40 लाख की लूट में दो नहीं बल्कि तीन बदमाश शामिल थे जिन्होंने मिलकर वारात को अंजाम दिया था। दो बदमाशों को लोगों ने देखा था, जबकि एक वहीं पास में मौजूद था जो नज़र में नहीं आया। भागने के दौरान इनकी बाइक में कार से टक्कर लगने के बाद नन्हें नाम का बदमाश मौके से पकड़ा गया था, जबकि अनिल और गजेन्द्र मौके से फरार हो गए थे, अब इन दोनों की गिरफ्तारी हुई है। गजेन्द्र मूलरूप से अट्टा असावर गुलावठी बुलंदशहर, जबकि अनिल मूलरूप से मुमरेजपुर अहमदगढ़ बुलंदशहर का रहने वाला है। फिलहाल अनिल दिल्ली के न्यू अशोक नगर में रहता है। रविवार रात हुई गिरफ्तारी के दौरान इनके पास से एटीएम से लूटे गए कैश से संबंधित चार लाख 40 हजार रुपये नकद, दो तमंचे, चार कारतूस व एक बाइक बरामद हुई है।

एसएसपी ने बताया कि इन बदमाशों ने ही चार साल पहले वर्ष 2014 में कोतवाली सेक्टर 20 क्षेत्र से 14 लाख 50 हजार रुपये कैश लूट की घटना को अंजाम दिया था और फिर पकड़े गए थे। वहीं अगस्त 2018 में न्यू अशोक नगर दिल्ली में एक व्यक्ति से 4 लाख 10 हजार रुपये लूटे थे। वहीं 19 फरवरी को वारदात के बाद गिरफ्तार हुए आरोपित नन्हें के पास से बरामद हुई बाइक वर्ष 2017 में गाजियाबाद से लूटी गई थी। मुख्य आरोपित गजेन्द्र के खिलाफ पहले से सेक्टर 20 कोतवाली के एक मामले में कोर्ट से गैरजमानती वारंट जारी था। 19 फरवरी को वारदात के बाद उसने इस मामले में 22 फरवरी को कोर्ट में सरेंडर कर दिया था, जिससे पुलिस का ध्यान भटके। दो दिन बाद पुलिस को जानकारी हुई और जब तक रिमांड पर लेने की तैयारी होती तब तक फिर 26 फरवरी को उसने जमानत ले ली। जमानत के बाद वह फिर अपने साथियों के साथ मिलकर दूसरी वारदात की प्लानिग करने लगा था। पुलिस को जब उसके जमानत पर छूटने के बारे में जानकारी हुई तब एसएसपी ने उस पर 25 हजार का इनाम घोषित कर दिया।

एसएसपी ने कहा कि रविवार रात पकड़े गए दोनों बदमाशों ने पूछताछ में स्वीकार किया है कि सड़क पर पड़ी रकम में से वह करीब आठ लाख रुपये ही लेकर भाग पाए थे। उसमें से भी कुछ रकम वह खर्च कर चुके हैं। गजेन्द्र के खिलाफ आठ जबकि अनिल पर सात मामले दर्ज हैं।

सेक्टर 82 केन्द्रीय विहार दो सोसायटी के गेट नंबर दो पर स्थित एसबीआइ के एटीएम में 19 फरवरी को दोपहर करीब डेढ़ बजे लॉजी कैश कंपनी के कर्मी व सुरक्षा गार्ड कैश भरने के लिए आए थे। कैश भरने के दौरान ही दो बदमाश फायरिग करते हुए एटीएम बूथ तक पहुंचे और शटर खोल 40 लाख रुपये लूटकर बाइक से भागने लगे। भागने के दौरान ही इनकी बाइक एक कार से टकरा गई। टक्कर में बदमाश व रुपयों से भरा बैग सड़क पर गिर गया। सड़क पर काफी रुपये बिखर गए थे। इस बीच एक बदमाश मौके से पकड़ा गया, जबकि एक मौके से फरार हो गया था। पकड़े गए बदमाश नन्हे के कब्जे से 19 लाख 65 हजार रुपये नकदी, दो पिस्टल, दो तमंचे, कारतूस व वारदात में प्रयोग की गई स्पलेंडर बाइक सहित अन्य सामान बरामद हुआ था।

यह भी देखे:-

अपाचे सवार बदमाश करते थे मोबाईल लूट, सेक्टर - 58 पुलिस ने किया गिरफ्तार
पडोसी ने किया बच्ची से रेप, सूरजपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार
शराब के नशे में पत्नी को पीटने का आरोप, पति गिरफ्तार
पत्नी ने प्रेमी से कराई पति की हत्या !
लूट में विफल होने पर कलेक्शन एजेंट को मारी गोली , कार में लिफ्ट देकर युवक से लूट
चेकिंग के दौरान जेवर पुलिस के हत्थे चढ़ा शराब तस्कर
परिवार गया शादी में , घर में घुसे चोर
दुल्हन की शिकायत लेकर दूल्हा पहुंचा थाने
विभाग ने अपने ही लेखपाल पर दर्ज कराया मुकदमा
शौक व परिवार का खर्चा चलाने के लिए बन गए मोबाईल लूटेरे, पहुंचे हवालात
सफाई के बहाने लाखों के जेवर ले उड़े ठग
संदिग्ध परिस्थिति में युवक लापता
11 और गुंडों पर लगाया गया गैंगस्टर
खूनी संघर्ष में हत्या के छह आरोपी गिरफ्तार , अवैध हथियार बरामद
कार से की जा रही थी शराब की तस्करी, दादरी पुलिस ने दो को किया गिरफ्तार
भोले भाले लोगों को ठगने वाले तीन ठग गिरफ्तार, कैसे करते थे ठगी पढ़ें पूरी खबर