अधिवक्ता धर्मेंद्र जयंत को सूरजपुर न्यायालय में बनाया गया एडीजीसी

ग्रेटर नोएडा। शासन के निर्देश पर गौतमबुद्ध नगर सूरजपुर न्यायालय में 14 अधिवक्ताओं को एडीजीसी और डीजीसी बनाया गया है। वहीं साकीपुर के रहने वाले अधिवक्ता धर्मेंद्र जयंत को सूरजपुर न्यायालय में एडीजीसी बनाया गया है। धर्मेंद्र जयंत लगभग 12 वर्षों से न्यायालय में प्रैक्टिस कर रहे है। वह साकीपुर के रहने वाले हैं। इनके पिता प्रेमराज सिंह एक समाजसेवी हैं। वही शासन ने तीन डीजीसी और 11 एडीजीसी अधिवक्ताओं की नियुक्ति की है। ब्रहम जीत भाटी को डीजीसी फौजदार, नीरज शर्मा को डीजे सी सिविल, चरणजीत नागर को डीजीसी अधिवक्ता बनाया गया है। वहीं धर्मेंद्र जयंत एडीजीसी, हरीश सिसोदिया एडीजीसी, सुखबीर सिंह एडीजीसी, रोहताश शर्मा एडीजीसी,मूलचंद शर्मा एडीजीसी,पंकज शर्मा एडीजीसी,कमलेश सिंह एडीजीसी, राजेंद्र सिंह एडीजीसी, दिनेश भाटी एडीजीसी, प्रताप रावल एडीजीसी, श्याम सिंह एडीजीसी इन सभी को शासकीय अधिवक्ता बनाया गया है। इनकी नियुक्ति होने वाले शासकीय अधिवक्ताओं को साथी अधिवक्ताओं ने फूलों की माला पहनाकर व मिठाई खिलाकर बधाई दी।

यह भी देखे:-

चेकिंग के दौरान कासना पुलिस के हत्थे चढ़ा बाइक चोर
एक्सप्रेसवे पर आग का गोला बनी चलती कार , बाल-बाल बचा चालाक
पद यात्रा कर जेवर एमएलए धीरेन्द्र सिंह ने शुरू किया #SaveHindonRiver अभियान, वृहद् वृक्षारोपण किया ग...
आपराधिक प्रवृति के 10 लोगों पर लगा गुंडा एक्ट
मूर्ति चोरी के विरोध में जैन समाज निकालेगा शांति मार्च
शातिर बदमाश गिरफ्तार, पांच सौ से ज्यादा की लूट की वारदात
फर्जी नेताओं के खिलाफ भाजपा कराएगी एफआईआर, धौंस देने वाले कथित नेता को पुलिस ने भेजा जेल
नशे का विरोध करना युवक को पड़ा महंगा
मेडिकल स्टोरों में ड्रग इंस्पेक्टर ने की छापेमारी
भारतीय योग संस्थान ग्रेटर नोएडा ने मनाया योगा दिवस , योग के प्रति लोगों को किया जागरूक
दादरी विधायक तेजपाल नागर ने रूपवास बाईपास का किया उद्घाटन
एसटीएफ नोएडा के साथ एनकाउंटर में घायल हुआ खूंखार बावरिया, दो पुलिसकर्मी भी जख्मी
ग्रेटर नोएडा : दो ट्रकों की भिडंत में दो की मौत
कब्र खोदकर 54 दिन बाद निकाला गया छात्रा का शव, जानिए क्यों
आईआईएमटी कॉलेज के छात्र-छात्राओं में एअर स्ट्राइक के बाद जबरजस्ती जोश
जूते की फैक्ट्री में लगी आग, लाखों का नुकसान