मोनिका सुखीजा ने जीता एम्प्रेस यूनिवर्स 2018 कंट्री राउंड , पेश है बातचीत के कुछ अंश

मोनिका सुखीजा ने जीता एम्प्रेस यूनिवर्स 2018, बातचीत के कुछ अंश..(साभार : अजीत पाण्डेय )

प्र. – एम्प्रेस यूनिवर्स – कंट्री राउंड जीतने पर आपको हार्दिक बधाईयाँ। आप अपने वर्तमान चरण का आनंद कैसे ले रही हैं?

उ. – बहुत-बहुत धन्यवाद! मेरे लिए यह सिर्फ मेरी जीत नहीं है, बल्कि ऐसे बहुत से लोगों की जीत है जिन्होंने यहाँ तक पहुँचने में मेरी मदद की, और विशेष रूप से मेरे जीवन के प्यार – मेरे पति विशाल की जीत है, जिनके सहयोग बिना में यहाँ तक नहीं पहुँच पाती। जबकि मैं इसके हर भाग का आनंद ले रही हूँ, फिर भी हासिल करने के लिए बहुत कुछ है।

प्र. – आपको कंट्री राउंड की विजेता के रूप घोषित किए जाने के बाद आपके मन में पहला विचार क्या आया?

उ. – जैसे ही मुझे पता चला कि मुझे चुन लिया गया है, मैं थोड़ी भावुक हो गई। मैंने खुद से कहा कि यह एक सुंदर यात्रा की सिर्फ शुरूआत है।

प्र. – आपके परिवार और दोस्तों की इस खबर पर क्या प्रतिक्रिया थी?

उ. – मैं उनकी आँखों में खुशी और गर्व देख सकती थी, वे मेरी ऊर्जा हैं और मैं उनके बिना यह नहीं कर पाती। हर कोई बहुत उत्साहित था।

प्र. – आपको क्या लगता है कि जब आप आने वाले दिसम्बर में एम्प्रेस यूनिवर्स – अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में उतरेंगी तो आपकी सबसे बड़ी ताकत क्या होगी? एक जैसे टैलेंट वाली महिलाओं के समूह में आपको क्या बात उनसे बेहतर साबित करती है?

उ. – मेरे फोकस, समर्पण और मेरे शुभचिंतकों के सहयोग ने ही मुझे यहाँ तक पहुँचाया है। लेकिन मेरी खास बात मेरी सादगी है। मैं हमेशा अपने आप पर भरोसा रखती हूँ। साथ ही, मेरा एक लक्ष्य है और कंट्री राउंड जीतने के बाद वह और भी मजबूत हो गया है।

प्र. – और वह लक्ष्य क्या होगा? क्या कोई कारण है जिसके लिए आप लड़ रही हैं?

उ. – मुझे लगता है कि हमारे समाज के सभी लोग स्वतंत्रता, आत्म-सम्मान और व्यक्तिगत इच्छाओं की पूर्ति के साथ जीने का मौका पाने के हकदार हैं। समाज को बदले में कुछ देने की हमारी ज़िम्मेदारी के भाग के रूप में, मैं बौद्धिक/विकासात्मक रूप से अक्षम लोगों के लिए सेवाएं उपलब्ध करना और उन सेवाओं को बढ़ावा देना चाहती हूँ, ताकि वे अधिक स्वस्थ और सामाजिक रूप से व्यस्त जीवन जी सकें। मेरा मानना है कि एम्प्रेस यूनिवर्स इंटरनेशनल जैसे प्लेटफ़ॉर्म मुझे विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम चलाने में सशक्त बनाएंगे, जो हमारे अलग-अलग फैले सदस्यों की समाज से जुड़े रहने में मदद करेंगे।

यह भी देखे:-

पौधरोपण कर मनाया गया विश्व पर्यावरण दिवस
आईटीएस डेंटल कॉलेज में माता की चौकी का आयोजन
ग्रेटर नोएडा से आरक्षण मुक्त भारत रैली की शुराआत, सैकड़ों लोग हुए शामिल
जहरीले धुंए SMOG की चपेट में दिल्ली एनसीआर , इन बातों का रखें ख्याल
आईआईएमटी कॉलेज में मिशन 1 लाख प्‍लान्‍ट के तहत हुआ पौधारोपण 
चाइल्ड लाइन ने किया जागरूकता कार्यक्रम
युवा कांग्रेस द्वारा स्थानीय सांसद के आवास का घेराव कर विरोध प्रदर्शन
"काशी" मूवी का प्रमोशन करने आईटीएस पहुंचे फ़िल्म स्टार , छात्र हुए उत्साहित
सड़क किनारे खड़ी टाटा 407 में घुसी तेज रफ़्तार कार , एक की मौत पांच घायल
तोगड़िया ने राजनीतिक पार्टी का किया ऐलान, 'अंतरराष्ट्रीय जनता पार्टी' होगा नाम
ग्रेटर नोएडा : दो परिवारों की ख़ुशी मातम में बदली, पढ़ें पूरी खबर
अनिल अंबानी को नहीं मिला बड़े भाई का सहारा
भारतीय नववर्ष स्वागत उत्सव, कवि सम्मेलन का लोगो ने उठाया लुफ्त
उपचार के दौरान घायल छात्र-छात्रा ने दम तोड़ा, शोक की लहर
बाइक बोट के मालिक की रिमांड पूरी , उगले ये राज , पढ़ें पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा में दो को मारी गोली