गलगोटिया कॉलेज : “सोशल मीडिया वरदान है या अभिशाप” पर वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजित

आज गलगोटिया कॉलेज ऑफ़ इन्जीनियरिंग एण्ड टैक्नलॉजी के परिसर में सोशल मीडिया जीवन का एक तरीक़ा बन गया है। “सोशल मीडिया वरदान है या अभिशाप” इस विषय पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व० हेमवती नन्दन बहुगुणा जी के जन्म शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में अखिल भारतीय हेमवती नन्दन बहुगुणा स्मृति समिति के तत्वाधान में एक बहुत ही सफल वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि के रूप में पहुँची कैबिनेट मंत्री उ० प्र० सरकार प्रो० सुश्री रीता बहुगुणा जी ने चांसलर सुनील गलगोटिया वाइस-चॉन्सलर प्रो० रेनु लूथरा और सी०ई० ओ० ध्रुव गलगोटिया की के साथ मिलकर अपने हाथों से दीप-प्रज्ज्वलित करके किया।

वाइस-चॉन्सलर ऑफ़ गलगोटियास यूनिवर्सिटी प्रो० रेनु लूथरा ने अपने अभिभाषण में मुख्य अतिथि जी का स्वागत करते हुए कहा कि हम आपका ह्रदय से आभार व्यक्त करते हैं कि aap हमारे यहाँ पर मुख्य अतिथि के रूप में पधारे हैं।

कार्यक्रम के आगे की श्रृंखला में गलगोटियास विश्वविद्यालय के 20 विद्यार्थियों ने प्रतिभागी के रूप में हिस्सा लेते हुए अपने-अपने पक्ष को बहुत ही ज़ोरदार तरीक़े से प्रस्तुत किया। दर्शक-दीर्घा में बैठे लगभग 500 विद्यार्थियों से खचाखच भरे हुए ऑडिटोरियम में बार-बार तालियों की गडागडाहट होती रही। हर कोई प्रतिभागी अपनी-अपनी बात को बहुत ही सटीक प्रमाणों और पूरे आत्मविश्वास के साथ बोल रहे थे जिसका परिणाम ये था कि पूरा परिसर तालियाँ के साथ-साथ बार-बार ठहाकों से भी गूँजता रहा।

सुश्री रीता जी ने गलगोटियास विश्वविद्यालय का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सभी छात्रों का प्रेजेंटेशन इतना ज़बर्दस्त था कि हमें उनकी प्रतिभा पर नाज है ये बच्चे कल के भारत के उज्जवल भविष्य के निर्माण में अपनी एक महत्वपूर्ण भूमिका अवश्य निभायेंगे। सोशल मीडिया के विषय में उन्होंने कहा कि ये हम सबके अपने ऊपर है हम चाहें जैसे भी उसका प्रयोग कर सकते हैं। अच्छे के लिये भी और बुरे के लिये भी।
सी०ई०ओ० ध्रुव गलगोटिया ने कार्यक्रम की कोरडीनेटर प्रो० डा० आदर्श गर्ग, अमन तिवारी और स्टूडेंट्स वोलैंटीयर के अथक प्रयासों की बहुत ही सराहना की।
कार्यक्रम केअंतिम पड़ाव में प्रतियोगिता के न्यायाधीश प्रो० एमटीएम खान, प्रो० वंदना पाण्डेय, प्रो० शुचि यादव की खण्डपीठ ने कहा कि युवाओं को प्रौद्योगिकी के साथ-साथ मिश्रित संस्कार वाला दृष्टिकोण होना चाहिये।

प्रो० एमटीएम खान ने प्रतियोगिता का परिणाम घोषित करते हुए विपक्ष में विश्वरत्न शुक्ला और शुभांगी श्रीवास्तव और पक्ष में मिहिका गुप्ता और आदर्श श्रीवास्तव की विजयी होने की घोषणा के साथ-साथ उनको शुभकामनाएँ दी अब ये सभी विजयी विद्यार्थी अगली प्रतियोगिता के लिये 22 सितम्बर 2018 को लखनऊ विश्वविद्यालय में हिस्सा लेंगे।

यह भी देखे:-

जीबीयू की प्रबंध बैठक का शिक्षकों ने किया विरोध 
छात्रों में अच्छे संस्कार के लिए शिक्षकों की भूमिका महत्वपूर्ण - पी.के. गुप्ता (चांसलर शारदा विश्ववि...
ITS DENTAL COLLEGE : विश्व ओरल एवं मैक्सिलोफेसियल सर्जन डे का आयोजन
यू के और जर्मनी की प्रसिद्ध कम्पनी आईआईएमटी में स्थापित करेगी सिंथेटिक रिर्सच लैब
यूपीएससी की वेबसाइट पर लिखा था 'डोरेमॉन!!! फोन उठाओ'
आईआईएमटी की छात्रा ने किया सीसीएसयू में टॉप, मिलेगा गोल्‍ड मेडल
एनआईईटी कॉलेज के छात्रों ने किया प्रदर्शन
गौतमबुद्ध विश्विद्यालय में सांस्कृतिक कार्यक्रम 'अभिव्यंजना' आयोजित
आईटीएस में सौर ऊर्जा और 5 जी नेटवर्क पर दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन
Ryanities on a mission for an Eco friendly festival of Lights
स्कूल कॉलेज फी रेगुलेशन एक्ट का अनुपालन करें : डीएम बी.एन. सिंह
एस्टर काॅलेज आॅफ एजूकेशन में रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन
गलगोटिया विश्विद्यालय : लॉ के छात्रों ने बच्चों को बताया CYBER CRIME से बचने का उपाय
शारदा विश्वविधालय के चांसलर पी. के. गुप्ता को चिकित्सा तथा शिक्षा में विशेष योगदान के लिए विशिष्ट सम...
Five sitting Judges from SAARC Countries Judge the Fourth Prof. N R.Madhava Menon SAARC Law Mooting ...
सीबीएसई 10 वीं के नतीजे, डीपीएस ग्रेनो की राधिका गुप्ता ने पाया देश में दूसरा स्थान , जानिए ग्रेटर न...