बढ़ता साईबर अपराध आज के युवाओं के लिए चुनौतीपूर्ण-जी.एल. बजाज

ग्रेटर नोएडा। जी.एल. बजाज काॅलेज ग्रेटर नोएडा में साईबर अपराध और उनसे बचाव विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला की प्रेरणा काॅलेज के वाईस चेयरमैन श्री पंकज अग्रवालजी से अभिप्रेरित है। कार्यशाला का आरम्भ प्रबन्धन संस्थान के डीन प्रो0 डाॅ0 मुकुल गुप्ताजी द्वारा आमंत्रित प्रशिक्षक श्रीमती लीना गर्ग (प्रेसिडेंट-जागो टीन्स) के स्वागत से हुआ। प्रो0 डाॅ0 मुकुल गुप्ताजी ने छात्रों को बताया कि इन्टरनेट के माध्यम से आप सभी लोगों की रेकी बहुत आसानी से हो रही है और इस रेकी के आधार पर आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के लिए बड़ी आसानी से अपराध को अंजाम देने में सफलता प्राप्त हो सकती है। अतः आप अपनी क्रियाकलाप को सोशल मिडिया पर साझा करने से बचें। कार्यशाला की मुख्य अतिथि श्रीमती लीना गर्ग ने छात्रों को सोशल मीडिया और साईबर के माध्यम से बढ़ते अपराध और उनसे सुरक्षा के तहत छात्रों द्वारा सोशल मीडिया पर साझा किये गये अपनी निजी जानकारी के दुरुपयोग से अवगत कराया तथा सुझाव दिया कि अपनी निजी जानकारी सोशल मीडिया से हटाएं क्योंकि अपराधी आपका फोन नं0, जन्म तिथि आपका स्थायी और वर्तमान पता के आधार पर आपको धोखा दे सकते हैं। भारत में युवा वर्ग कोई भी जानकारी बड़ी आसानी से सोशल मीडिया पर डाल देते हैं। यह विचार नहीं करते कि इसका दूरगामी प्रभाव क्या होगा।

वहीं पर यू0एस0 एवं यू0के0 के युवा वर्ग बड़ी समझदारी और सतर्कता के साथ अपनी जानकारी सोशल मीडिया पर साझा करते हैं। सोशल वेबसाईट्स एक व्यक्ति से संबंधित 57 तरह की जानकारी अपने पास सुरक्षित करती है जिसका उपयोग कर कोई भी व्यक्ति आपके व्यवहार की जानकारी प्राप्त कर सकता है। यदि सोशल मीडिया के तहत आपके साथ कुछ गलत होता है तो आप अपने माता-पिता, टीचर या अपने विश्वस्त मित्रों से तुरन्त साझा करें, छुपाये नहीं। नहीं तो यह बढ़ी मुश्किल को जन्म दे सकता है। आज के युवाओं में बुलिंग की समस्या बढ़ती जा रही है। यह आपका कॅरियर तबाह कर सकता है। इसे रोकें और जहां तक संभव हो बुलिंग ना करें और ना करने दें तथा इस तरह की घटना की जानकारी अपने पैरेन्ट्स को तुरन्त दें।

काॅलेजेस में रैकिंग की प्रथा को भी रोकें क्योंकि यह भी एक तरह का बुलिंग है। जो किसी छात्र के जीवन को तबाह कर सकता है। छात्र सामान्यतः अपना पासवर्ड, अपना मोबाईल नं0, जन्मतिथि या अपना नाम रखते हैं। ऐसा पासवर्ड न बनाऐं और हर तीन महीने में इसे बदल दें। अपना पासवर्ड किसी को न दें और ना किसी का पासवर्ड लें। यह अपराध को जन्म दे सकता है। प्लेगरिजम से बचें क्योंकि काॅपी-पेस्ट करना अपराध की श्रेणी में आता है। बेहतर होगा साईटेशन दें दे। क्योंकि साहित्य की चोरी आपकी अपनी छवि को खराब कर सकती है। अपना प्रोजेक्ट खुद तैयार करें ना कि दूसरों से काॅपी करें। महिलाओं का सम्मान करें। उसके निजी जीवन से दूर रहें क्योंकि महिलाओं के लिए साईबर सुरक्षा नियम अति कठोर है। आप जाने या अनजाने में इस तरह का कार्य जो महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान के खिलाफ हो न करें। यह दण्डनीय अपराध है। नाबालिग बच्चों को सुरक्षा का वातावरण प्रदान करने में सहयोग करें और अन्य लोगों को बतायें कि पाक्सो एक्ट भारत में बच्चों को सुरक्षित करने के लिए बनाया गया है। इन्हें किसी भी प्रकार से परेशान ना करें।

चाॅकलेट व करेला गेम के तहत सोशल मीडिया में अच्छे कार्य के लिए चाॅकलेट व गलत कार्य के लिए करेला खिलाकर छात्रों को जागरूक किया जाए।
अंत में प्रबन्धन संस्थान की प्रमुख प्रो0 डाॅ0 दीपा गुप्ताजी ने आमंत्रित अतिथियों का उनके प्रशिक्षण में योगदान के लिए आभार व्यक्त किया तथा छात्रों को साईबर क्राईम व फ्राॅड के प्रति सजग किया।इस कार्यक्रम में प्रबन्ध विभाग के समस्त छात्र व शिक्षकगण उपस्थित थे।

यह भी देखे:-

आईआईएमटी कॉलेज में सोनाक्षी संग जमकर नाचे छात्र - सोनाक्षी ने कहा लव यू आईआईएमटी
आई.ई.सी. कॉलेज में नेसकॉम प्रशिक्षण का समापन
जी.एल. बजाज में ‘‘बीइंग मैकेनिकल इंजीनियर’’ पर दो दिवसीय सम्मेलन आयोजित
आईटीएस इंजिनयरिंग के दस छात्रों का हुआ प्लेसमेंट
ITS कॉलेज द्वारा स्वउद्यमिता पर कार्यशाला आयोजित
एक्यूरेट संस्थान, प्रधानमंत्री का "नया भारत युवा भारत" प्रोग्राम देख उत्साहित हुए छात्र
शारदा यूनिवर्सिटी का 'आर्किटेक्चर पर अत्याधुनिक ट्रेंड्स' पर इंटरनेशल कांफ्रेंस आयोजित
जी.एल. बजाज संस्थान में होगी सेल्स फोर्स कान्फ्रेन्स, युवाओं को दे रहा है रोजगार का अवसर
जी.एल बजाज में नेशनल डिजाइन चैंपियनशिप "परिकल्प" का आयोजन
जीएनआईओटी में कम्प्यूटर साइंस पर आयोजित इंटरनेशनल कांफ्रेंस का समापन
इम्पीरियल सोसाइटी ऑफ़ इनोवेटिव द्वार हाइब्रिड फार्मूला कार रेस का समापन
एक्यूरेट संस्थान में मानाया गया गणतंत्र दिवस
फेयरवेल पार्टी में गीतों की धुन पर थिरके जीएनआईओटी के विद्यार्थी
आईआईएमटी कॉलेज में पहुंचे फलसफा फिल्म के स्‍टार
आईटीएस इन्जीनियरिंग काॅलेज में संकाय विकास कार्यक्रम का समापन
गलगोटिया के छात्रों ने बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम में किया अविष्कार