अवैध सरिया माफिया को किया गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा। बिसरख कोतवाली क्षेत्र मैं सपा नेता व पूर्व जेवर विधानसभा की प्रत्याशी रहीं बेवन नागर के देवर रविंद्र नागर को बिसरख पुलिस ने अवैध सरिया का कारोबार करने के आरोप में अरेस्ट किया है। उसके साथ दो और आरोपी अरेस्ट किए गए हैं। इनके कब्जे से 18 टन सरिया बरामद हुआ है। आरोपी फैक्ट्रियों से निकलने वाले ट्रकों को रास्ते में हथियार के बल पर रोक लेते थे और उसमें से कुछ सरिया निकाल कर फर्जी बिल और टिन नंबर बनाकर बिल्डरों और सरिया मटैरियल के दुकानों पर बेच देते थे। पुलिस का कहना है कि सरिया कारोबार को लेकर ही रविंद्र के बड़े भाई हरेंद्र नागर की कुछ साल पहले हत्या कर दी गई थी। उसकी हत्या के बाद रविंद्र नागर ने कारोबार संभाल लिया था। गैंग के 5 सदस्य अभी फरार हैं। इनकी तलाश की जा रही है।एसपी देहात आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि बिसरख कोतवाली पुलिस को मंगलवार रात मुखबिर से सूचना मिली कि सरिया माफिया ट्रकों में सरिया लेकर जा रहे हैं। इस सूचना पर पुलिस की दो टीमों ने खैरपुर गोलचक्कर के पास दो आरोपियों को मुठभेड़ के दौरान अरेस्ट कर लिया गया। इनकी पहचान राशिद अली निवासी हापुड़ और महकी नागर निवासी दादूपुर के रूप में हुई है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उनके गैंग का सरगना रविंद्र नागर निवासी दादूपुर है। रविंद्र दिल्ली के न्यू फ्रैंड्स कॉलोनी में रह रहा है। उसे भी पुलिस ने अरेस्ट कर लिया। जबकि उसके 5 साथी अवध, आजाद नागर, अनिल निवासी दादूपुर, विक्की निवासी सलारपुर व अफसार निवासी बुलंदशहर फरार हो गए। आरोपियों से बरामद ट्रक से 18 टन सरिया बरामद हुआ है।ट्रक चालकों से लूटते थे सरियाएसपी ने बताया कि आरोपी फैक्ट्री से सरिया लेकर निकलने वाले ट्रकों को रास्ते में रोक लेते थे और हथियार के बल पर उसे डरा-धमका कर कुछ सरिया लूट लेते थे। ट्रक में सरिया के बदले भारी पत्थर रख देते थे। ट्रक को अपने ही धर्मकांटे में तौलते थे। यदि कोई विरोध करता था या कम सरिया निकलता था, तो उसे भी जान से मारने की धमकी देकर चुप करा देते थे। लूटे गए सरिया का आरोपी फर्जी बिल और टिन नंबर बनाकर बिल्डरों और दुकानदारों को बेच देते थे।
गाजियाबाद पुलिस भी करेगी मददएसपी का कहना है कि आरोपी नोएडा-ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद से सरिया लूटते थे। इनके खिलाफ गाजियाबाद में भी कई केस दर्ज हैं। लेकिन पुलिस को ठोस सबूत न होने के कारण कड़ी कार्रवाई नहीं हो पा रही थी। आरोपियों के रंगेहाथ पकड़े जाने से इनके गिरोह पर सिकंजा कसना आसान हो गया है। गाजियाबाद पुलिस ने भी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने में सहयोग देने का आश्वासन दिया है। फरार आरोपियों को जल्द से जल्द अरेस्ट करके इनके गैंग को जेल भेजने की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी देखे:-

दोस्तों के साथ मिलकर छात्रा ने रची थी खुद के अपहरण की कहानी , पुलिस-एसटीएफ ने किया पर्दाफाश 
आबकारी विभाग ने अवैध शराब से भरा ट्रक पकड़ा, दो गिरफ्तार
दनकौर पुलिस ने शराब तस्कर को दबोचा
जानिए, किसकी लापरवाही से घंटों तड़पता रहा ट्रेन से गिरा घायल युवक
दादरी पुलिस ने रेप के आरोपी को भेजा जेल , पंचायत ने पीड़ित को सुनाया था केस वापस लेने का फरमान, 1.5 ल...
दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ मामला दर्ज होते वकीलों ने समाप्त किया हड़ताल 
लूट के आरोपी की बहन के खिलाफ 120 बी की कार्यवाही
ऑटो चलाने की आड़ में करते थे लूट, गिरफ्तार
शारदा विश्वविद्लाया में संतोष ट्राफी का समापन
घरेलू सिलिंडर फटा, दो की मौत
डेटा चोरी करके ठगी करने वाला गिरोह बेनकाब, 105 आरोपी गिरफ्तार
4 और गुंडों पर लगाया गया गैंगस्टर
पेट्रोल पंप की शिकायत आने पर तुरंत कराई गई जांच
जानिए, किन दो भू माफियाओं पर लगा गैंगस्टर
क्रेन के चपेट में आने से महिला की मौत
लोकसभा चुनाव की मतगणना की व्यवस्था की गई दुरुस्त , पढ़े पूरी खबर