हिंदी पर हमें गर्व है

ग्रेटर नोएडा। सामाजीक संगठन महिला उन्नति संस्था ( भारत ) ने हिन्दी दिवस के अवसर पर ग्रेटर नोएडा के सुत्याना स्थित जय शंकर मैमोरीयल पब्लिक स्कूल में हिन्दी कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला में बोलते हुए वरिष्ठ समाज सेवी सुमनराज सिंह बिष्ट ने कहा कि हिन्दी हमारी मातृ भाषा है जो देश में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है। मगर देश में बढ़ते पाश्चात्य प्रभाव के कारण लोग अँग्रेजी भाषा को अपना रहे है। और हिन्दी बोलने को हीन समझने लगे है। जो हिन्दी भाषा का अपमान है। हमें हिन्दी पर गर्व करना चाहिये। हिन्दी भाषा को राष्ट्र भाषा का दर्जा देकर पूरे देश को एकता के सूत्र में बांधा जा सकता है। इस अवसर पर संस्था के संस्थापक डा राहुल वर्मा ने कहा कि हिन्दी को उसका खोया स्वरूप लौटाने के लिये शासन स्तर पर प्रयास होने चाहिये और सभी शासकीय कार्य हिन्दी में सम्पन्न होने चाहिये। संस्था हिन्दी पखवाडा आयोजित कर क्षेत्र के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में हिन्दी कार्यशाला आयोजित करेगी। कार्यशाला में अनिल भाटी , सरिता वर्मा , नरेश वर्मा , गीता भाटी , रुबीना लियाकत आदि ने अपने विचार रखे।

यह भी देखे:-

जानिए, दादरी स्वास्थ केंद्र में किस बात पर भड़की प्रदेश मंत्री रीता बहुगुणा जोशी
जेवर एयरपोर्ट की सौगात मिलने पर जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने सीएम योगी का किया शुक्रिया
 दनकौर नगर पंचायत कार्यालय की सुरक्षा बढ़ी, लगे सीसीटीवी कैमरे 
ट्रेन के बेटिकट यात्रियों के विरुद्ध चला अभियान
बिमटेक में उत्साह के साथ छात्र-छात्रों ने जन्माष्टमी मनाई
किसान कामगार मोर्चा संगठन ने किसान, युवाओं, मजदूरों की समस्या पर एसडीएम दादरी को सौंपा ज्ञापन
ओमकार भाटी बने सेक्टर पी-3 आर.डब्लू.ए. अध्यक्ष
गोल्डन फेडरेशन ने क्षेत्रीय विधायकों को कहा , प्राधिकरण की जनसुनवाई में मौजूद रहें
बिलासपुर नगर पंचायत चुनाव को हाईकोर्ट में चुनौती
दरोगा की इस हरकत पर पब्लिक गई भड़क और लगा दिया जाम
पीएम की सुरक्षा में चूक का मामला, दो पुलिसकर्मी नपे
संजय भाटी बने भारतीय किसान यूनियन भानु के ग्रेनो उपाध्यक्ष
संपूर्ण समाधान दिवस पर मौके पर हुआ समस्या का निस्तारण
भाकियू ने सीओ को ज्ञापन सौंपा , फायर बिग्रेड  गाड़ी की माँग
ग्रेटर नोएडा : सीबीएसई 12 वीं के नतीजे घोषित, जानिए किस स्कूल का क्या रहा परिणाम,कौन बना टॉपर
जुनेदपुर मे खेल-कूद समिति द्वारा वॉलीबॉल मैदान का उद्घाटन किया